Doctor Verified

बाल झड़ने की बीमारी (एलोपेसिया) क्यों होती है? डॉक्टर से समझें कारण और इलाज

Alopecia Areata Causes: क्या आप भी कर रहे हैं गुच्छे में बाल झड़ने और गंजेपन की समस्या का सामना? आइए डॉक्टर से जानते हैं क्यों होता है एलोपेसिया रोग।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarUpdated at: Nov 16, 2022 00:22 IST
बाल झड़ने की बीमारी (एलोपेसिया) क्यों होती है? डॉक्टर से समझें कारण और इलाज

बालों के झड़ने की समस्या लोगों में बहुत आम हो गई है। बालों की देखभाल न करना, तेल न लगाना, पोषण की कमी, खराब खानपान, जीवनशैली की खराब आदतें और केमिकल युक्त हेयर केयर प्रोडक्ट्स की कमी इसका एक बड़ा कारण हैं। लेकिन कुछ लोगों समय से पहले ही गंजेपन की समस्या का करना करते हैं, या उनके बाल गुच्छों में झड़ते हैं। जिसके कारण उनकी हेयर लाइन ऊंची होने लगती है, साथ ही किसी अन्य हिस्से से बाल गायब हो जाते हैं और गंजेपन जैसे पैच बन जाते हैं। लेकिन क्या आपने कभी यह जानने की कोशिश की है कि आखिर ऐसा क्यों होता है? या इसके क्या कारण हैं? गुच्छे में बालों के झड़ने या गंजेपन की इस बीमारी को मेडिकल भाषा में एलोपेसिया अरेटा (Alopecia Areata) कहा जाता है। यह आपके सिर के बालों के साथ ही भौंह, होंठ और दाढ़ी के बालों को भी प्रभावित करती है।

ओनलीमायहेल्थ (OnlymyHealth) की स्पेशल सीरीज 'बीमारी को समझें' में हम डॉक्टर से बातचीत करके आपको आसान भाषा में किसी बीमारी और उसके कारण समझाते हैं। एलोपेसिया क्यों होता है? (Alopecia kyon hota hai) और इसके कारणों के बारे में जानने के लिए हमने डी.वाई पाटिल हॉस्पिटल की डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ. अस्मिता कपूर से बात की। इस लेख में विस्तार से जानें एलोपेसिया के कारण (alopecia ke karan)

alopecia areata causes in hindi

एलोपेसिया अरेटा क्यों होता है?

डॉ. अस्मिता के अनुसार एलोपेसिया एक गैर संक्रामक बीमारी है, यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में नहीं फैलती है। लेकिन अनुवांशिकी इसका एक बड़ा कारण है, अगर आपके परिवार में जैसे कि आपके पिता, भाई-बहन आदि को यह समस्या है, इसके होने की संभावना काफी बढ़ जाती है। यह एक ऑटोइम्यून प्रक्रिया है, जिसमें आपके शरीर के इम्यून सिस्टम के सेल्स बालों के फॉलिकल्स पर हमला करते हैं, जिससे बालों का विकास ठीक से नहीं होता है, या वे पूरी तरह उग नहीं पाते हैं। जब बाल नहीं उगते हैं, तो इससे गंजापन शुरु हो जाता है।

इसे भी पढें: बदलते मौसम में झड़ते हैं बाल? नारियल तेल में इन 3 चीजों का कॉम्बिनेशन दूर करेगा आपकी समस्या

क्या एलोपेसिया का इलाज संभव है?

डॉ. अस्मिता बताता हैं अच्छी बात यह कि यह बीमारी स्टेम सेल्स यानी जो सेल्स नए बाल उगाते हैं उनको पूरी तरह नष्ट नहीं करती है। अगर समय रहते सही उपचार लिया जाता है तो बालों के फिर उगने और वापस आने गुंजाइश अच्छी होती है। यह बीमारी बच्चों और नौजवान लोगों में, खासकर 30 वर्ष से कम उम्र वालों में अधिक देखने को मिलती है। हालांकि यह किसी भी उम्र में हो सकती है और पुरुष-महिलाएं दोनों को हो सकती है। इसके अलावा अन्य ऑटोइम्यून रोग जैसे थायरॉयडिटिस, विटिलिगो आदि का जोखिम भी बढ़ जाता है। इसलिए यह सलाह दी जाती है कि अगर आप खुद में या परिवार के अन्य सदस्यों में गुच्छे में बाल झड़ने और खाली पैच नोटिस करते हैं, तो आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

 

एलोपेसिया का इलाज कैसे किया जाता है

डॉ. अस्मिता के अनुसार यह एक ऑटोइम्यून बीमारी है, इसको ध्यान में रखते डॉ. आपको इलाज के तौर पर इम्यूनोसप्रेसिव थैरेपि का दे सकता है। डॉ. आपकी उम्र और अन्य बीमारियों की जांच, बीमारियों और पारिवारिक इतिहास के बाद आपको उपचार प्रदान कर सकता है।

एलोपेसिया के इलाज के लिए अब कई विकल्प मौजूद हैं जैसे स्टेरॉयड इंजेक्शन लगाने के लिए मेनोॉक्सिटिल या अन्य सल्यूशन। दवाएं जैसे साइक्लोस्पोरिन, मेथोट्रेक्सेट आदि जा सकती हैं, ये इम्यूनोसप्रेसिव थैरेपि का हिस्सा हैं। डॉ. आपकी बीमारी कि स्थिति को देखकर थेरेपी प्रदान करते हैं।

इसे भी पढें: डाइटिंग के दौरान झड़ रहे हैं बाल? इन 3 टिप्स को करें फॉलो, दूर होगी समस्या

ज्यादातर लोगों में आमतौर पर 3-6 महीनों में बाल वापस आ जाते हैं, हालांकि कुछ लोगों में 1 साल का समय भी लग सकता है। अगर आप भी गुच्छे में बालों के झड़ने की बीमारी, गंजेपन या एलोपेशिया का सामना कर रहे हैं, तो घबराएं नहीं, डॉक्टर की मदद से सही उपचार के साथ आप इससे आसानी से छुटकारा पा सकते हैं।

(With Inputs: Dr Asmita kapoor, Department of Dermatology, Dr D Y Patil hospital and medical college)

All Image Source: Freepik

Disclaimer