कार्डियोमायोपैथी के मरीजों को ऐसे करनी चाहिए अपनी देखभाल, स्वस्थ रहने में मिलेगी मदद

अगर आप कार्डियोमायोपैथी या हृदय की विफलता से खुद का बचाव करना चाहते हैं तो आप इस तरह खुद की करें देखभाल।

Vishal Singh
हृदय स्‍वास्‍थ्‍यWritten by: Vishal SinghPublished at: Nov 05, 2020Updated at: Nov 05, 2020
कार्डियोमायोपैथी के मरीजों को ऐसे करनी चाहिए अपनी देखभाल, स्वस्थ रहने में मिलेगी मदद

हृदय से जुड़ी कई समस्याएं और स्थिति काफी गंभीर होती है जिससे हमेशा अपना बचाव करना बहुत जरूरी होता है। हृदय संबंधित किसी भी स्थिति को नजरअंदाज करना हमे खतरनाक परिणाम भी दे सकता है। ऐसे ही कार्डियोमायोपैथी रोग है जो एक हृदय की मांसपेशियों से संबंधित रोग है। इस रोग के दौरान पीड़ित रक्त पंप करने में परेशानी होती है, जिस कारण आपके दिल की धड़कनें अनियमित हो सकती है। धीरे-धीरे ये हृदय की ये समस्याएं बढ़ने लगती है और ध्यान न देने पर दिल की विफलता भी हो सकती है। इसलिए कार्डियोमायोपैथी के मरीज को हमेशा इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि कैसे वो इस दौरान अपनी देखभाल करे और किन चीजों से अपने हृदय को स्वस्थ रखे। 

heart health

स्वस्थ भोजन खाएं

हृदय से संबंधित समस्याओं से निपटने के दौरान आपके लिए बहुत जरूरी होता है कि आप भोजन में क्या लेते हैं। आप जो भी आहारा लेते हैं वो सीधा आपके हृदय स्वास्थ्य पर असर करता है। इसलिए जरूरी है कि अगर आप कार्डियोमायोपैथी की समस्या से गुजर रहे हैं तो हमेशा स्वस्थ भोजन ही लें। इसमें आप अलग-अलग प्रकार की सब्जियां, फल और साबुत अनाज को शामिल कर सकते हैं जो आपके हृदय स्वास्थ्य को स्वस्थ रखता है। इसके साथ ही आपको बहुत कम मात्रा में तरल पदार्थों और सोडियम-युक्त आहार का सेवन करना चाहिए। आप अपनी डाइट कैसे तैयार करें इस पर अपने डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं। 

वजन को नियंत्रण में रखें

वजन बढ़ने और मोटापे के कारण हृदय स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है, वहीं, अगर आप कार्डियोमायोपैथी का शिकार हैं तो आपको हमेशा अपने वजन पर नजर रखनी चाहिए। बढ़ता वजन और मोटापा आपके हृदय को विफल और कार्डियोमायोपैथी की गंभीर स्थिति में धकेल सकता है। इसलिए आपको अपने वजन को नियमित रूप से जांचना चाहिए और खुद के मोटापे को कम करने के लिए एक्सरसाइज का विकल्प चुन सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: 30 की उम्र के बाद अपने हार्ट की सेहत पर नजर रखनी है बेहद जरूरी, इन 5 लक्षणों पर देते रहें ध्यान

धूम्रपान त्यागें

धूम्रपान और तंबाकू का सेवन आपके पूर्ण स्वास्थ्य के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। ज्यादा धूम्रपान करने से आपके हृदय, रक्त वाहिकाएं और फेफड़ों में इसका बुरा असर होता है जिस कारण ये शरीर के अहम अंगों के कार्य में बाधा पैदा करता है। इसलिए अगर आप कार्डियोमायोपैथी की गंभीर स्थिति से खुद को बचाना चाहते हैं तो जरूरी है कि आप धूम्रपान को पूरी तरह से छोड़ दें।

शराब का सेवन कम करें

शराब का सेवन करने से ये आपके रक्तचाप को बढ़ाने, मधुमेह और मोटापे का खतरा बढ़ता है, जिसके कारण आप अपने हृदय स्वास्थ्य को एक खतरनाक स्थिति में देख सकते हैं। शराब के सेवन के कारण आपके हृदय की मांसपेशियों में कमजोरी और अन्य समस्याओं को पैदा कर सकता है। इसलिए आपको शराब के बहुत ज्यादा सेवन से बचा चाहिए और कोशिश करनी चाहिए कि जितना कम हो सके उतना शराब का सेवन सीमित करें। 

इसे भी पढ़ें: युवाओं में क्यों बढ़ रहे हैं अचानक कार्डियक अरेस्ट के मामले? हार्ट के डॉक्टर से जानें इसका कारण और इलाज

एक्सरसाइज करें

कार्डियोमायोपैथी या दिल की विफलता से बचाव के लिए आपको नियमित रूप से एक्सरसाइज करनी चाहिए। एक्सरसाइज करने से आप सिर्फ अपने हृदय स्वास्थ्य को ही बढ़ावा नहीं देते बल्कि आप अपने पूरे स्वास्थ्य को स्वस्थ रख सकते हैं। वहीं, जो लोग एक्सरसाइज नहीं कर पाते उन लोगों रोजाना कम से कम 30 मिनट तक शारीरिक गतिविधि करनी चाहिए, जिसमें आप वॉक कर सकते हैं।  

इस लेख में कार्डियोमायोपैथी से बचाव के लिए कुछ आसान तरीकों का जिक्र किया हुआ है, अगर आपको फिर भी किसी तरह की समस्या हो रही है तो आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। 

Read More Articles on Heart Health in Hindi

Disclaimer