Expert

फैटी लिवर में दही खाना चाहिए या नहीं, जानें एक्सपर्ट की राय

Can We Eat Curd In Fatty Liver: दूध और दूध से बने उत्पाद सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। फैटी लिवर में दही खाना चाहिए या नहीं, जानें एक्सपर्ट से।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Jul 20, 2022Updated at: Jul 20, 2022
फैटी लिवर में दही खाना चाहिए या नहीं, जानें एक्सपर्ट की राय

दही एक बेहतरीन प्रोबायोटिक है, जो पेट के लिए बहुत फायदेमंद है। अगर आपका पेट ठीक है, तो आपका संपूर्ण स्वास्थ्य ठीक रहता है। दही का सेवन करने से आंत में अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ाने में मदद मिलती। इससे आपका पाचन और भोजन से पोषक तत्वों का अवशोषण बेहतर होता है। साथ ही यह आपके मेटाबॉलिज्म भी तेज होता है। हड्डियों को मजबूत बनाने, दिल के साथ ही त्वचा और बालों को स्वस्थ रखने के लिए दही का सेवन बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है।

लेकिन फैटी लिवर के रोगी दही का सेवन करने से बहुत कतराते हैं, क्योंकि दही में फैट होता है और फैटी लिवर में ज्यादा फैट वाली चीजों का सेवन करने से बचने की सलाह दी जाती है। इसका कारण यह है कि फैटी लिवर की स्थिति में कोशिकाओं में गैर जरूरी फैट की मात्रा बढ़ जाती है। इस स्थित में ज्यादा फैट वाले, जंक और प्रोसेस्ड फूड्स से बचने की सलाह दी जाती है, क्योंकि इन्हे पचा पाना मुश्किल होता है साथ ही यह लिवर में अतिरिक्त चर्बी का कारण बनते हैं। इसके कारण पेट संबंधी समस्याएं होती है, और वजन बढ़ने की समस्या भी होती है। फैटी लिवर में दही खानी चाहिए या नहीं (Eating Curd In Fatty Liver Good Or Bad In Hindi), इसके बारे में जानने के लिए हमने क्लीनिकल न्यूट्रिशनिस्ट और डायटीशियन गरिमा गोयल से बात की। आइए जानते हैं फैटी लिवर के रोगियों के लिए दही खाना सेफ है या नहीं।

Can We Eat Curd in fatty liver in hindi

फैटी लिवर में दही खाना चाहिए या नहीं- Can We Eat Curd In Fatty Liver In Hindi

डायटीशियन गरिमा के अनुसार दूध और दूध से बने उत्पाद पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। यह सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। फैटी लिवर कोई भी डेयर प्रोडक्ट तब तक नुकसानदायक नहीं, जब तक उसमें फैट की सीमित मात्रा है। फैटी लिवर में दही खाना आमतौर पर नुकसानदायक नहीं होता है। बस आपको ज्यादा फैट वाली दही का सेवन करने से बचना चाहिए। क्योंकि अगर फुल फैट वाले दूध और उससे बने उत्पादों के सेवन करते हैं, तो इससे फैटी लिवर और हाई कोलेस्ट्रॉल के जोखिम को बढ़ाता है।

इसे भी पढें: खाली पेट मुनक्का खाने से मिलते हैं ये 6 फायदे

क्या फैटी लिवर में दही खाने से कुछ नुकसान भी होते है?

डायटीशियन गरिमा की मानें तो फैट वाले डेयरी प्रोडक्ट्स में अनहेल्दी फैट मौजूद होता है। उदाहरण के लिए, फुल फैट मिल्क में 7.9 ग्राम फैट होता है, जिसमें से 4.6 ग्राम अनहेल्दी फैट होता है। अगर आप ज्यादा फैट वाले दूध से बनी दही का सेवन करते हैं, तो बेशक यह स्थिति को बदतर बना सकता है। फैटी लिवर में आपको हमेशा लो फैट या 0 फैट दूध से बनी दही का सेवन करना चाहिए। आप चाहें तो लस्सी का सेवन भी कर सकते हैं। इसे फैटी लिवर को कम करने में मदद मिल सकती है। दही या लस्सी लिवर की क्षति को कम कर सकता है। साथ ही रक्त में फैट को कंट्रोल करने में भी मददगार साबित हो सकते हैं।

ये भी देखें:

इसे भी पढें: प्याज के रस में शहद मिलाकर खाने से मिलते हैं ये 6 फायदे

एक्सपर्ट क्या सलाह देते हैं

डायटीशियन गरिमा के अनुसार दूध और दूध से बने उत्पाद पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इनमें ऐसे कई जरूरी पोषक तत्व होते हैं जो दूसरे फूड्स में नहीं होते हैं। इनमें कैल्शियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस और पोटेशियम जैसे महत्वपूर्ण खनिज प्रदान करते हैं। जो सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। इसलिए आपको डेयरी प्रोडक्ट्स का सेवन जरूर करना चाहिए। बस आपको फैट की मात्रा का ध्यान रखना है। अगर आपको डेयरी प्रोडक्ट्स से एलर्जी है तो इनका सेवन करे से बचें।

All Image Source: Freepik.com

(With Inputs: Dietitian Garima Goyal, MS, RD, CDE, Founder- Dt. Garima Diet Clinic , Ludhiana, Punjab)

Disclaimer