क्या डायबिटीज रोगी मानसून में मिलने वाले फल खा सकते हैं? जानें क्या खाएं और क्या नहीं

Fruits for Diabetic Patients: डायबिटीज रोगियों के लिए फल बहुत फायदेमंद होते हैं। जानें मानसून में शुगर पेशेंट्स को कौन-से फल खाने चाहिए-

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jun 27, 2022Updated at: Jun 27, 2022
क्या डायबिटीज रोगी मानसून में मिलने वाले फल खा सकते हैं? जानें क्या खाएं और क्या नहीं

Fruits for Diabetic Patients in Hindi: डायबिटीज लाइफस्टाइल से जुड़ी सामान्य समस्या है। आजकल अधिकतर लोग इस बीमारी का सामना कर रहे हैं। दरअसल, जब शरीर में इंसुलिन कम मात्रा में पहुंचता है, तो खून में ग्लूकोज की मात्रा अधिक हो जाती है। इसी स्थिति को डायबिटीज कहा जाता है। डायबिटीज रोगियों को ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रखने के लिए हेल्दी डाइट लेने की सलाह दी जाती है। उन्हें शुगर, अधिक मीठा और अनहेल्दी फूड्स से परहेज करने को कहा जाता है। अब मानसून आने वाला है। देश के कुछ राज्यों में मानसून  ने दस्तक भी दे दी है। ऐसे में डायबिटीज रोगियों के मन में अकसर सवाल रहता है कि क्या वे मानसून में मिलने वाले फल खा सकते हैं? मानसून में वे कौन-से फल खा सकते हैं और कौन-से नहीं?

तो चलिए रामहंस चेरिटेबल हॉस्टिपल, सिरसा के डॉक्टर श्रेय शर्मा से जानते हैं डायबिटीज रोगी मानसून में फल खा सकते हैं या नहीं-

क्या डायबिटीज रोगी मानसून में फल खा सकते हैं? (Can Diabetes Patient Eat Fruits in Monsoon in Hindi?)

डॉक्टर श्रेय शर्मा बताते हैं कि डायबिटिज रोगी मानसून के मौसमी फलों को जरूर खा सकते हैं। लेकिन बहुत अधिक मात्रा में मीठा खाने से बचें। आप कम मात्रा में फलों का सेवन कर सकते हैं क्योंकि इनमें फाइबर अधिक होता है, जो डायबिटीज रोगियों के लिए बहुत जरूरी होता है। मानसून में डायबिटीज रोग नाशपाती, आड़ू और सेब आसानी से खा (Fruits to Eat in Monsoon) सकते हैं। डायबिटीज रोगियों को हमेशा अधिक फाइबर और कम जीआई स्कोर वाले फलों का सेवन करना चाहिए क्योंकि फाइबर वजन को कंट्रोल में रखता है। वहीं कम जीआई स्कोर वाले फल ब्लड शुगर को बढ़ने नहीं देते हैं। 

इसे भी पढ़ें- वजन घटाना चाहते हैं तो वर्कआउट के बाद पिएं ये 4 ड्रिंक्स, धीरे-धीरे घटने लगेगा वजन

pears for diabetes patients

1. नाशपाती (Can Diabetic Patient Eat Pear Fruit)

नाशपाती हेल्थ के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। डायबिटीज रोगी भी नाशपाती का सेवन आराम से कर सकते हैं। नाशपाती में फाइबर अधिक और जीआई स्कोर 40 से भी कम होता है। इसलिए नाशपाती को मुधमेह रोगियों के लिए लाभकारी माना जाता है। मोटापा डायबिटीज का एक मुख्य कारण होता है और फाइबर वजन को कंट्रोल में रखने में मदद करता है। डायबिटीज रोगियों को स्वस्थ रहने के लिए वजन को नियंत्रण में रखना बहुत जरूरी होता है।   

2. सेब (Apple for Sugar Patient in Hindi)

रोजाना एक सेब खाने से आप हमेशा स्वस्थ रह सकते हैं, ऐसा हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है। सेब सभी लोगों के लिए फायदेमंद होते हैं, इसलिए डायबिटीज रोगी भी सेब का सेवन आसानी से कर सकते हैं। सेब हर मौसम में मिलते हैं। सेब में फाइबर अधिक मात्रा में होता है, जो डायबिटीज रोगियों के वजन को नियंत्रण में रखने में मदद करता है। इसके अलावा सेब का जीआई स्कोर भी 39 से कम होता है। इससे ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है।

इसे भी पढ़ें- रोज सुबह खाली पेट खाएं नाशपाती, मिलेंगे ये 6 जबरदस्त फायदे

3. चेरी (Cherry Fruit for Diabetes Patient)

चेरी मानसून में खाए जाने वाला एक स्वादिष्ट फल है। इसमें पोषक तत्व भी भरपूर होते हैं। चेरी में पोटेशियम और  एंटीऑक्सीडेंट्स अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं। इसलिए इसे सभी लोगों के लिए फायदेमंद माना जाता है। डायबिटीज रोगी भी चेरी का सेवन कर सकते हैं। इसका जीआई स्कोर 20 होता है, जो ब्लड शुगर लेवल को काफी हद तक कंट्रोल में रखने में मदद कर सकता है। साथ ही इसमें मौजूद तत्व डायबिटीज की वजह से होने वाले हृदय रोगों के जोखिम को भी कम करते हैं

plum for diabetes patients

4. आलूबुखारा (Plum for Diabetes Patients)

 आलूबुखारा भी डायबिटिज रोगियों के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। मानसून में अधिकतर लोग आलूबुखारा खाना पसंद भी करते हैं। प्लम का जीआई स्कोर 40 से कम होता है, वहीं इसमें कई तरह के विटामिन्स और मिनरल्स भी पाए जाते हैं। डायबिटीज रोगियों के ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखने में प्लम असरदार हो सकता है। हाई शुगर लेवल वाले लोगों के लिए प्लम को हेल्दी माना जाता है। 

Fruits for Diabetes Patient in Hindi: डायबिटीज रोगी मानसून में फलों का सेवन कर सकते हैं। डायबिटीज रोगियों के लिए नाशपाती, प्लम, सेब, चेरी और आडू जैसे कम जीआई वाले फल फायदेमंद हो सकते हैं। लेकिन अगर आपका ब्लड शुगर लेवल बहुत अधिक हो गया है, तो इस स्थिति में किसी भी फूड का सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करें।

Disclaimer