करेला ही नहीं इसकी पत्तियां भी हैं बेहद फायदेमंद, जानें इसके 8 फायदे

Bitter Gourd Leaves Benefits : करेले की पत्तियाें का इस्तेमाल कई तरह के राेगाें काे दूर करने के लिए किया जा सकता है। चलिए जानते हैं इनके बारे में-

Anju Rawat
Written by: Anju RawatUpdated at: Jul 26, 2021 10:08 IST
करेला ही नहीं इसकी पत्तियां भी हैं बेहद फायदेमंद, जानें इसके 8 फायदे

करेला स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी हाेता है। अकसर करेले का सेवन जूस और सब्जी के रूप में किया जाता है। करेला स्वाद में कड़वा हाेने के साथ ही पाेषक तत्वाें से भी भरपूर हाेता है। लेकिन क्या आप जानते हैं करेले की तरह ही इसकी पत्तियां भी स्वास्थ्य की दृष्टि से काफी फायदेमंद मानी जाती हैं। करेले की पत्तियाें का इस्तेमाल दाद-खुजली, सिरदर्द, पेट के राेगाें और पैराें की जलन काे दूर करने के लिए किया जा सकता है। इतना ही नहीं इसकी पत्तियां मधुमेह के राेगियाें के लिए भी उपयाेगी हाेती हैं। डायटीशियन सुगीता मुटरेजा से जानते हैं करेले की पत्तियाें के फायदे और उपयाेग का तरीका (Bitter Gourd Leaves Benefits)-

करेले की पत्तियाें में विटामिन सी, विटामिन ए और एंटीऑक्सीडेंट हाेता है। साथ ही इसमें हाइपाेग्लाइकेमिक गुण हाेते हैं, जाे कई तरह के राेगाें काे दूर करने में सहायक हाेती हैं। इसकी पत्तियाें में एंटीवायरल और एटंी माइक्राेबियल गुण भी हाेते हैं, जाे संक्रमण से बचाव करते हैं। करेले की पत्तियां औषधीय गुणाें से भरपूर हाेती हैं। आप करेले की पत्तियाें का इस्तेमाल जूस, सब्जी, परांठे आदि के रूप में कर सकते हैं। 

Bitter Gourd Leaves Beneficial for Diabetes Patients

1. डायबिटीज राेगियाें में लाभकारी (Bitter Gourd Leaves Beneficial for Diabetes Patients)

आजकल की गलत लाइफस्टाइल, खान-पान और तनाव की वजह से लाेगाें में डायबिटीज या मधुमेह एक बेहद सामान्य समस्या हाे गई है। देश मे कराेड़ाें लाेग इस समस्या से परेशान हैं। डायबिटीज कई अन्य गंभीर राेगाें का कारण भी बनता है, ऐसे में इसे कंट्राेल में रखना बेहद जरूरी हाेता है। अगर आप डायबिटीज पेशेंट हैं, ताे करेले की पत्तियाें के उपयाेग से अपने शुगर लेवल काे नियंत्रण में रख सकते हैं। इसके पत्तियाें में विसिन और पॉलीपेप्टाइड पी जैसे गुण हाेते हैं, जाे शुगल लेवल काे कंट्राेल में रखते हैं। इसके लिए आप राेजाना कुछ करेले की पत्तियाें का सेवन कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें - बेकार नहीं है करेले का बीज, डायबिटीज के मरीज जानें करेले के बीज के 5 फायदे और इस्तेमाल का तरीका

2. सिरदर्द दूर करे (Bitter Gourd Leaves Uses for Headache)

बढ़ते तनाव और चिंता की वजह से लाेग अकसर सिरदर्द की समस्या से परेशान रहते हैं। ऐसे में वे पेन किलर का सेवन करते हैं, जिसे बार-बार लेने से कई साइड इफेक्ट भी हाे सकते हैं। ऐसे में आप चाहें ताे करेले की पत्तियाें का इस्तेमाल कर सकते हैं। करेले की पत्तियां आपकाे ठंडक प्रदान करके सिरदर्द की समस्या काे दूर करने में सहायक हाेती हैं। इसके लिए आप करेले की ताजी पत्तियां टाेड़ें। इनका पेस्ट तैयार करें और अपने माथे पर लगाएं। 10-15 मिनट बाद पानी से माथे काे धाे दें। इससे आपकाे काफी आराम मिलेगा।

3. इम्यूनिटी बढ़ाए करेले की पत्तियां (Bitter Gourd Leaves Increase Immunity)

काेराेना काल में सभी लाेगाें ने अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने की ओर काफी ध्यान दिया है। अगर आप भी अपने शरीर की राेग प्रतिराेधक क्षमता काे मजबूत बनाना चाहते हैं, ताे इसके लिए करेले की पत्ताें का सेवन कर सकते हैं। करेले के पत्ताें में कई ऐसे पाेषक तत्व हाेते हैं, जाे इम्यूनिटी मजबूत कर व्यक्ति काे स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। इसके लिए आप करेले की पत्तियाें काे पानी में उबाल लें। छानकर धीरे-धीरे इसका सेवन करें। इससे आपकी इम्यूनिटी मजबूत हाेगी और इससे सभी तरह के संक्रमण भी दूर हाेते हैं। खांसी-जुकाम या बुखार हाेने पर आप करेले की पत्तियाें का काढ़ा पी सकते हैं। 

Bitter Gourd Leaves for Glowing Skin

4. स्किन पर ग्लाे लाए (Bitter Gourd Leaves for Glowing Skin)

महिलाएं खूबसूरत दिखने के लिए कई उपाय अपनाती हैं, लेकिन आप चाहें ताे इसके लिए करेले की पत्तियाें का इस्तेमाल कर सकती हैं। करेले की पत्तियां त्वचा पर निखार लाने में सहायक हाेती हैं। आप करेले के पत्ताें काे अच्छे से धाेकर उनका पेस्ट तैयार कर लें। अब इसे अपने पूरे चेहरे पर लगाएं। सूखने पर इसे साफ पानी से धाे दें। अच्छे परिणाम के लिए आप इसका इस्तेमाल हफ्ते में दाे बार कर सकते हैं। इससे चेहरे पर चमक आएगी और त्वचा एकदम साफ नजर आएगी।

5. पीरियड्स के दर्द में दिलाए आराम (Bitter Gourd Leaves to Cure Periods Pain)

लड़कियां, महिलाएं हर महीने हाेने वाले मासिक धर्म या पीरियड्स से परेशान रहती हैं। इस दौरान उन्हें मूड स्विंग, चिड़चिड़ापन, गुस्सा और असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है। लेकिन अगर आप चाहें ताे अपने पीरियड्स के दर्द से राहत पाने के लिए करेले के पत्ताें का उपयाेग कर सकती हैं। पीरियड्स क्रैम्प्स या दर्द काे दूर करने में करेले की पत्तियां बेहद लाभकारी हाेती हैं। इसके लिए आप 10-15 करेले की पत्तियाें काे पीसें। इसका रस निकाल लें और इसमें काली मिर्च कूटकर डाल दें। अब इस मिश्रण काे पी लें। पीरियड्स के दिनाें में इसे पीने से दर्द में काफी हद तक आराम मिलेगा।

इसे भी पढ़ें - प्रेगनेंसी में महिलाओं को क्‍यों नहीं खाने चाहिए करेले? जानें क्‍या हैं प्रेगनेंसी में करेले खाने के नुकसान

6. स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए फायदेमंद (Bitter Gourd Leaves Beneficial for Breast Feeding Womens)

अकसर आपने सुना हाेगा कि बच्चे के लिए मां का दूध पर्याप्त नहीं हाे रहा है, इसलिए उसे मार्केट का दूध पिलाया जा रहा है। क्याेंकि कई बार स्तनपान कराने वाली महिलाओं में दूध नहीं बन पाता है। जिससे बच्चे के लिए दूध नहीं हाे पाता है। इस स्थिति में महिलाओं के लिए करेले की पत्तियां उपयाेगी साबित हाे सकती है। इसके लिए आप करेले की 10-12 ताजी पत्तियाें काे पानी में उबाल लें। अब इस पानी का अच्छी तरह से छान लें। गुनगुना हाेने पर इसे पी लें। इसके नियमित सेवन से प्रसूताओं में दूध बनने की प्रक्रिया तेज हाेती है और बच्चे की ग्राेथ अच्छी हाेती है।

Bitter Gourd Leaves to Cure Feet Burning Sensation

7. पैराें की जलन कम करे (Bitter Gourd Leaves to Cure Feet Burning Sensation)

जिन लाेगाें के पेट में अधिक गर्मी रहती है, उन्हें अकसर छाती, पेट और पैराें के तलवाें में जलन की समस्या रहती है। अगर आप भी इस समस्या से परेशान हैं, ताे इसके लिए करेले की पत्तियाें का इस्तेमाल कर सकते हैं। करेले की पत्तियाें पैराें के तलवाें की जलन काे शांत कर आपकाे आराम दिलाती है। इसके लिए आप करेले की कुछ ताजी पत्तियां लें। इन पत्तियाें का रस निकाल लें और इसे तलवाें पर लगाकर रखें। इससे तलवाें की जलन शांत हाेगी साथ ही आपकाे रिलैक्स महसूस हाेगा। करेले की पत्तियाें का रस पीने से भी पैराें की जलन में आराम मिलता है।

8. दाद में दिलाए आराम (Apply Bitter Gourd Leaves Paste on Ringworm)

कई लाेगाें काे अकसर दाद-खुजली की समस्या परेशान करती है। यह बेहद पीड़ादायक हाेती है, व्यक्ति इससे परेशान हाे जाता है। अगर आपकाे भी यह समस्या है, ताे इसके लिए आप करेले की पत्तियाें का उपयाेग कर सकते हैं। यह बार-बार हाेने वाले दाद की समस्या काे भी दूर करने में सहायता करता है। इसके लिए करेले की कुछ ताजी पत्तियां लें, इन्हें पीसकर रस निकाल लें और इसे प्रभावित स्थान पर लगाएं। इससे कुछ ही दिनाें में आपकाे फायदा नजर आने लगेगा।

अगर आपके घर के आस-पास भी करेले के पौधे हैं, ताे आप इसकी पत्तियाें का भी लाभ उठा सकते हैं। इसकी पत्तियां कई राेगाें काे दूर करने में सहायक हाेती हैं। आप चाहें ताे इनका उपयाेग ऊपर बताए गए समस्याओं काे दूर करने के लिए कर सकते हैं।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer