60 की उम्र के बाद डाइट में जरूर शामिल करें ये 5 फूड्स, बीमारियों से होगा बचाव

60 साल की उम्र के बाद डाइट में ऐसे फूड्स शामिल करने चाहिए, जिससे शरीर में जरूरी पोषक तत्वों की आपूर्ति हो सके।

Priya Mishra
Written by: Priya MishraUpdated at: Nov 02, 2022 14:07 IST
60 की उम्र के बाद डाइट में जरूर शामिल करें ये 5 फूड्स, बीमारियों से होगा बचाव

60 ki umra ke baad kya khana chahiye: बुढ़ापा उम्र का एक ऐसा पड़ाव है, जिसमें व्यक्ति के शरीर में कई बदलाव आते हैं। 60 साल की उम्र के बाद शरीर में पोषक तत्वों की कमी होने लगती है, जिससे इम्यूनिटी कमजोर हो जाती है। बुढ़ापे में संक्रमण और बीमारियों का अधिक खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में, उम्र के इस पड़ाव में सेहत का खास ख्याल रखना बहुत जरूरी हो जाता है। 60 साल या उससे अधिक उम्र के लोगों को अपनी डाइट में ऐसे फूड्स शामिल करने चाहिए, जिससे उनके शरीर में जरूरी पोषक तत्वों की आपूर्ति हो सके। बुढ़ापे में पाचन तंत्र भी कमजोर हो जाता है, इसलिए ऐसी चीजें खानी चाहिए, जो पचाने में आसान हों। 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को अपने खानपान में प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन, फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट्स जैसे पोषक तत्व शामिल करने चाहिए। इसके साथ ही, हल्का-फुल्का व्यायाम भी जरूर करना चाहिए। आज हम आपको बताएंगे कि 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को अपनी डाइट में कौन से हेल्दी फूड्स शामिल करने चाहिए

60 साल की उम्र के बाद शरीर की इम्युनिटी काफी कमजोरी हो जाती है, जिससे कई बीमारियां घेर लेती हैं। इस उम्र लोगों को अपने स्वास्थ्य का अधिक ख्याल रखना चाहिए। 60 साल की उम्र के बाद सेहतमंद रहने के लिए आपको अपने आहार में कुछ फूड्स जरूर शामिल करने चाहिए (Best foods for people above 60 years to stay healthy)। आइए जानते हैं - 

दूध (Milk)

60 साल की उम्र के बाद कई बुजुर्गों के दांत कमजोर हो जाते हैं। ऐसे में उन्हें खाना चबाने में दिक्कत होती है। शरीर में पोषक तत्वों की आपूर्ति करने के लिए दूध एक बेहतरीन विकल्प है। दूध में प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन और मिनरल्स जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। दूध पीने से शरीर में विटामिन डी की कमी पूरी होती है और हड्डियां मजबूत बनती हैं।

इसे भी पढ़ें: सावधानी नहीं बरतने पर 50 की उम्र के बाद आप हो सकते हैं इन 7 रोगों के शिकार, जानिए बीमारी और बचने के उपाय

दालें और अनाज (Pulses And Whole Grains)

60 साल की उम्र के बाद डाइट में ऐसी दालों और अनाज को शामिल करना चाहिए, जो हल्के और पचाने में आसान हों। 60 साल या उससे अधिक उम्र के लोगों को मूंग की दाल, ओट्स और बाजरे का सेवन करना चाहिए। ये सभी चीजें ना सिर्फ पचाने में आसान होती हैं, बल्कि इनमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन, फाइबर, विटामिन और जिंक जैसे कई सारे पोषक तत्व मौजूद होते हैं। ये दालें और अनाज सेहत के लिए काफी फायदेमंद होते हैं।

दही (Curd)

60 साल की उम्र के बाद डाइट में दही को जरूर शामिल करें। उम्र बढ़ने के साथ-साथ हड्डियां कमजोर होने लगती हैं। दही में भरपूर मात्रा में कैल्शियम होता है, जो हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है। इसके साथ ही, पाचन तंत्र के लिए भी दही एक बेहतरीन फूड है। दही में हल्दी बैक्टीरिया होते हैं, जो पाचन तंत्र को दुरुस्त रखने में मदद करते हैं।

Diet-After-60

पालक (Spinach)

बुढ़ापे में अक्सर शरीर में खून की कमी की शिकायत हो जाती है। ऐसे में डाइट में पालक जरूर शामिल करना चाहिए। पालक में भरपूर मात्रा में आयरन होता है, जिससे एनीमिया की शिकायत दूर होती है। इसके साथ ही, इसमें कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम, फोलेट और प्रोटीन जैसे पोषक तत्व भी भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं। पालक का सेवन करने से हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में भी काफी मदद मिलती है।

दलिया (Daliya)

60 साल की उम्र के बाद डाइट में दलिया भी जरूर शामिल करना चाहिए। दरअसल, दलिया बहुत हल्का और सुपाच्य होता है। इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर होता है, जिससे पेट अच्छी तरह से साफ होता है और कब्ज की शिकायत दूर होती है। बुजुर्गों को दिन में किसी भी समय दलिया खाने के लिए दिया जा सकता है। 

इसे भी पढ़ें: बुढ़ापे में डिप्रेशन से बचना है तो अभी से शुरू कर दें ये 5 काम, जिएंगे तनावमुक्त और लंबा जीवन

60 साल के बाद आपको अपने खानपान का ध्यान रखना चाहिए। शरीर की इम्युनिटी बूस्ट करने के लिए अपनी डाइट में दूध, दही, दालें और अनाज, पालक और दलिया जरूर शामिल करें।

Disclaimer