आंतों को मजबूत बनाने के लिए करें इन चीजों का सेवन, पाचन तंत्र बनेगा मजबूत

आंतों को मजबूत बनाने के लिए आपको अपने आहार में कुछ खास फूड्स को जरूर शामिल करना चाहिए ताकि पेट संबंधित कोई परेशानी न हो। 

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: May 30, 2022Updated at: May 30, 2022
आंतों को मजबूत बनाने के लिए करें इन चीजों का सेवन, पाचन तंत्र बनेगा मजबूत

पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने के लिए आपको अपने आंतों की मजबूती वाले फूड्स का सेवन करना चाहिए ताकि खाना को पचाने के साथ-साथ आपके शरीर में जरूरी पोषक तत्वों का बैलेंस भी बना रहे। अगर आपके आंत मजबूत नहीं होंगे, तो खाना पचाने में परेशानी से लेकर मल त्याग की समस्या भी हो सकती है। साथ ही शरीर के लिए आवश्यक बैक्टीरिया, जो आंत में पाए जाते हैं, उनकी कमी भी हो सकती है। लेकिन अगर आपके आंत में किसी तरह की परेशानी है या अगर आप अपने आंत को स्वस्थ रखना चाहते हैं, तो आपको फाइबर, प्रोबायोटिक्स, फल और हरी सब्जियों का अधिक से अधिक मात्रा में सेवन करना चाहिए। साथ ही आपको एंटीइंफ्लेमेटरी फूड्स का भी सेवन करना चाहिए। इसकी मदद से गट हेल्थ को सही बनाए रखने में मदद मिलती है। 

गट हेल्थ के लिए इन फूड्स का करें सेवन

1. हाई फाइबर फूड्स 

आंतों को स्वस्थ रखने के लिए आपको अपने आहार में फाइबर की अधिक मात्रा शामिल करनी चाहिए। अघुलनशील फाइबर पानी को अवशोषित कर मल त्याग में मदद करता है। यह आंत के बैक्टीरिया के लिए भी काफी अच्छा होता है। वैसे तो घुलनशील और अघुलनशील फाइबर पाचन में सहायता करता है। यह कब्ज, एसिडिटी और पेट की अन्य समस्याओं में भी फायदेमंद होता है। साथ ही हाई फाइबर फूड्स की मदद से आप अपने वजन को नियंत्रित कर सकते हैं। इससे हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर और टाइप 2 डायबिटीज का खतरा कम हो सकता है। फाइबर युक्त आहार में आप दाल, किशमिश, साबुत अनाज, ब्रोकली, हरी मटर, जौ, क्विनोआ और ब्राउन राइस का सेवन कर सकते हैं। 

gut-health-foods

Image Credit- Freepik

2. प्रोबायोटिक्स का सेवन

आंतों को मजबूत बनाने के लिए प्रोबायोटिक्स का सेवन सबसे अच्छा माना जाता है। इसके सेवन से गट हेल्थ मजबूत होती है और इसमें पाए जाने वाले बैक्टीरिया आपकी आंतों को काफी लाभ पहुंचाते हैं। प्रोबीयोटिक्स खाने से शरीर में लाभकारी बैक्टीरिया बढ़ते हैं। इससे पेट की समस्याओं में भी काफी लाभ मिलता है और आप अंदर से स्वस्थ महसूस करते हैं। प्रोबायोटिक्स में आप दही, योगर्ट, किम्ची, केफिर और कुछ खास डेयरी प्रोडक्ट्स खा सकते हैं। अगर आपको लैक्टोज इंटॉलरेंस की समस्या है, तो डॉक्टर की सलाह के बाद किसी चीज का सेवन करें। 

3. एंटीइंफ्लेमेटरी फूड्स 

पेट में दर्द और आंतों की तकलीफ का एक कारण सूजन की समस्या भी हो सकती है। सूजन की दिक्कत तब आती है, जब शरीर का इम्यून सिस्टम अच्छे से काम नहीं करता है और आप संक्रमण की चपेट में आ सकते हैं। इसके बाद आपको सूजन के अलावा और भी कई तरह की परेशानी हो सकती है। इससे आपको चिड़चिड़ापन, भूख न लगना और पेट में दर्द की दिक्कत हो सकती है। इन स्थितियों से बचने के लिए आपको एंटीइंफ्लेमेटरी फूड्स जैसे अलसी के बीज, जामुन, अंगूर, मछली, अखरोट और मिर्च का सेवन जरूर करना चाहिए। 

इसे भी पढे़ं- एसिडिटी, पेट के छाले और आंतों से जुड़े रोगों में Bland Diet है फायदेमंद, जानें इसमें क्या खाएं, क्या नहीं

4.  साबुत अनाज

साबुत अनाज को अपने आहार में शामिल करना बेहद फायदेमंद होता है। यह पेट के लिए काफी अच्छा होता है। इसमें पाया जाने वाला फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट और अन्य पोषक तत्व आंत और पेट के स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है। इससे आपके खाने का पाचन अच्छे से होता है और मल त्याग में भी परेशानी नहीं होती है। इससे कब्ज भी नहीं होता है। 

gut-health-foods

Image Credit- Freepik

5. हरी पत्तेदार सब्जियां

पालक, ब्रोकली और केल जैसी हरी पत्तेदार सब्जियां फाइबर के साथ-साथ विटामिन, खनिज और आयरन से भरपूर होती हैं। ढेर सारी पत्तेदार सब्जियां खाने से आपका आंत तंत्र बेहतर होता है और बेहतर तरीके से काम करता है।

Main Image Credit- Freepik

Disclaimer