प्रेगनेंसी में रैस्पबेरी के पत्तियों की चाय पीने के फायदे और नुकसान

रैस्पबेरी की पत्तियों की चाय पीना महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद होता है। जानें प्रेगनेंसी के दौरान इस चाय को पीने से मिलने वाले फायदे और कुछ नुकसान।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavUpdated at: Aug 23, 2021 14:59 IST
प्रेगनेंसी में रैस्पबेरी के पत्तियों की चाय पीने के फायदे और नुकसान

रैस्पबेरी एक तरह की बेरी (फल) है, जिसकी पत्तियों को बहुत गुणकारी माना जाता है। खासकर विदेशों में प्रेगनेंसी की दौरान रैस्पबेरी की पत्तियों की चाय (Raspberry Leaf Tea) पीने को काफी फायदेमंद मानते हैं। पुराने समय से ही रैस्पबेरी की पत्तियों का इस्तेमाल औषधीय रूप में यूरोप और एशिया के कुछ हिस्सों में किया जाता रहा है। कुछ लोगों का मानना है कि रैस्पबेरी के पत्तियों की चाय पीने से गर्भवती महिला का शिशु स्वस्थ रहता है और डिलवरी के बाद महिला की रिकवरी भी तेजी से होती है। आजकल इंडिया में भी महिलाओं ने प्रेगनेंसी के दौरान रैस्पबेरी लीफ की चाय पीना शुरू किया है। अगर आप भी इसे पीने का सोच रही हैं, तो पहले जान लें कि विज्ञान इस चाय के फायदों के बारे में क्या कहता है और गर्भावस्था के दौरान रैस्पबेरी की पत्तियों की चाय पीना कितना सुरक्षित है।

कितना सुरक्षित है प्रेगनेंसी में रैस्पबेरी की पत्तियों की चाय? (How Safe is Raspberry Leaf Tea For Pregnant Women)

लाल रैस्पबेरी के पत्तियों की चाय पीना ज्यादातर लोगों के लिए सुरक्षित होता है। हालांकि कुछ लोगों में इसे ज्यादा मात्रा में पी लेने के बाद पेचिश (पतला मल होना) या जल्दी-जल्दी पेशाब लगने की समस्या हो सकती है, मगर इसके कोई बड़े नुकसान नहीं देखे गए हैं। हालांकि प्रेगनेंसी की पहली तिमाही (1 से 3 महीने के बीच) में अगर रैस्पबेरी के पत्तियों की चाय ज्यादा पी जाए, तो इसके कुछ नुकसान भी हो सकते हैं और गर्भपात होने की भी कुछ संभावना रहती है। इसलिए इसे पीने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह ले लें और कोशिश करें कि पहली तिमाही के दौरान 1 कप रोजाना से ज्यादा न पिएं।

raspberry-leaf-tea

Image Credit- momtastic

रैस्पबेरी के पत्तियों की चाय पीने के फायदे (Health Benefits of Raspberry Leaf Tea in Hindi)

1. रैस्पबेरी लीफ टी में होते हैं कई पोषक तत्व

रैस्पबेरी की पत्तियां कई पोषक पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं, जो प्रेगनेंसी में महिलाओं के लिए जरूरी होते हैं, जैसे- पोटैशियम, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, जिंक, आयरन आदि। इसके अलावा इन पत्तियों में फ्लैवोनॉइड्स और टैनिन्स भी होते हैं, जो एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करते हैं। इसलिए इस चाय को पीने से महिलाओं को कई बेहतरीन पोषक तत्व आसानी से मिल जाते हैं।

इसे भी पढ़ें: त्वचा की सूजन को कम करने में कामयाब है रास्पबेरी (Raspberry ), जानें क्या कहता है अध्ययन

2. महिलाओं की कई समस्याओं को करता है दूर

रैस्पबेरी की पत्तियों की चाय पीने से महिलाओं की कई सामान्य समस्याएं दूर हो सकती हैं, इसलिए बहुत सारे लोग इसे 'वीमेन हर्ब' भी कहते हैं। इसके सेवन से पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द, उलझन, जी मिचलाना, चक्कर आना, डायरिया आदि में आराम मिलता है। इसके अलावा ये पेल्विक अंगों को भी स्वस्थ रखती है, जिससे महिलाओं को फायदा मिलता है। इसमें मौजूद आयरन शरीर में खून बढ़ाता है और एनीमिया को दूर रखता है।

3. कम करता है लेबर पेन

रैस्पबेरी के पत्तियों की चाय पीने से डिलवरी के दौरान लेबर पेन कम होता है। इसके अलावा इससे शिशु के समय से पहले पैदा होने (प्रीमेच्योर बेबी) की संभावना कम हो जाती है।

इसे भी पढ़ें: कितना सेहतमंद है प्रेग्नेंसी में चाय और कॉफी पीना? जानें प्रेग्नेंसी में कौन सी चाय है सेहत के लिए सही

4. डिलीवरी के बाद जल्दी होती है रिकवरी

महिलाओं को शिशु की डिलीवरी के बाद लंबे समय तक कमजोरी, दर्द जैसी कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। रैस्पबेरी के पत्तियों की चाय पीते रहने से इस स्टेज में शरीर जल्दी रिकवर होता है क्योंकि ये चाय पेल्विक मसल्स को टाइट करती है, जिससे शरीर तेजी से पुराने शेप में वापस आता है।

इन सभी फायदों के कारण ही महिलाओं, खासकर गर्भवती महिलाओं को रैस्पबेरी के पत्तियों की चाय जरूर पीनी चाहिए।

Main Image Credit- Women's Wellness

Read More Articles on Women's Health in Hindi

Disclaimer