डायटीशियन से जानें बच्चों को आम खिलाने के 6 फायदे और सही तरीका

बच्चों को आम खिलाने से कई फायदे होते हैं। यहां जानें इससे होने वाले फायदे और बच्चों को आम खिलाने का तरीका।

 
Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraPublished at: Jun 08, 2021
डायटीशियन से जानें बच्चों को आम खिलाने के 6 फायदे और सही तरीका

आम को ऐसे ही फलों का राजा नहीं कहा जाता है। यह स्वाद के साथ-साथ पोषक तत्वों का भी भंडार होता है। इसे खाने से आप कई बीमारियों से भी बचाव कर सकते हैं। क्या आप जानते हैं कि आम एक हेप्पी फ्रूट है? आम खाने से शरीर में हेप्पी हार्मोन्स रिलीज होते हैं, जो इंसान को खुश करता है। क्या आप जानते हैं बच्चों को आम खिलाने से उन्हें कई फायदे होते हैं? आम बच्चों की सेहत के लिहाज से बहुत फायदेमंद साबित होता है। अगर आपका बच्चा 8 माह से उपर हो गया है तो आप आसानी से उसे आम खिलाना शुरू कर सकते हैं। आम खिलाने से बच्चों का मानसिक विकास होता है। साथ ही उनका पाचन तंत्र ठीक होता है, इससे उनकी इम्यूनिटी बढ़ती है, बच्चों में हार्ट और एनीमिया जैसी समस्याएं होने का खतरा काफी कम हो जाता है। इसी विषय पर ज्यादा जानने के लिए हमने दिल्ली की एसेंट्रिक डाइट की डाइटीशियन शिवाली गुप्ता से बातचीत की। आइये जानते हैं बच्चों को आम खिलाने के फायदों के बारे में। 

pain

1. पाचन तंत्र को रखे स्वस्थ (Keeps Digestive Digestive System Healthy)

डायटीशियन शिवाली गुप्ता के मुताबिक आम खाने से बच्चो का पाचन तंत्र स्वस्थ रहता है। आम में प्राकृतिक रूप से कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं, जो हेल्दी पाचन क्रिया के लिए बहुत जरूरी होते हैं। साथ ही आम में फाइबर और पोटेशियम पाया जाता है। बता दें कि फाइबर और पोटेशियम पाचन तंत्र को स्वस्थ रख बच्चों में दस्त लगने से बचाते हैं। आम में डाइजेस्टिव एंजाइम्स भी होते है जिन्हें एमिलेसेस कहा जाता है। ये डाइजेस्टिव एंजाइम्स बच्चों की पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करने में मदद करते हैं। ये पके आम में ज़्यादा एक्टिव होते हैं। इसलिए बच्चो को पका आम ही खिलाना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें - घर का खाना नहीं खाता है आपका बच्चा? तो इन 5 तरीकों से खिलाएं जिद्दी बच्चों को हेल्दी फूड्स

2. एनर्जी का एक बेहतरीन स्त्रोत (Good Source of Energy)

बच्चों को एनर्जी की खास जरूरत होती है। एनर्जी की कमी होने से बच्चे जल्दी थक सकते हैं, उनकी मांसपेशियों और और हड्डियों के विकास में भी रुकावट आ सकती है। आम एनर्जी का एक बहुत अच्छा स्त्रोत होता है। आम में बच्चों के विकास के लिए ज़रूरी सभी विटामिन्स और मिनरल्स मौजूद होते है। आम में प्राकृतिक रूप से कार्बोहाइड्रेट होते हैं, जो बच्चो में एनर्जी बूस्ट करते हैं। एनर्जी देने वाले विटामिन बी 6 और  बी 2 भी आम में अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं। इसलिए अगर आपका बच्चा सुस्त और अकेला रहता है तो उसे आम का सेवन जरूर कराएं। 

heart

3. आंखो और हृदय के लिए फायदेमंद (Beneficial for Eyes and Heart)

आम आंखो और हृदय के लिए बहुत फायदेमंद फल होता है। बच्चों को आम खिलाने से उनकी आंखें स्वस्थ रहती हैं। आम में विटामिन ए होता है, जो कि आंखो की रोशनी बढाता है। आम के बायोकेमिकल्स आंखो को सन डैमेज से भी बचाते हैं। इसके साथ-साथ आम बच्चों के हृदय को भी स्वस्थ रखता है। आम में बहुत अच्छी मात्रा में पोटेशियम और मैग्नीशियम पाया जाता है। पोटेशियम और मैग्नीशियम बच्चों को हृदय रोग से बचाते हैं और रक्तचाप भी बेहतर रखता है। हालांकि बच्चों में ऐसी समस्याएं कम होती हैं, लेकिन आम का सेवन कराने से उनमें इस तरह की समस्याओं के खतरे की संभावना काफी कम हो जाती है। साथ ही आम में मौजूद बी विटामिन्स भी बच्चो के हृदय को हेल्दी रखते है।

4. इम्यूनिटी बूस्ट करे (Boosts Immunity)

डायटीशियन शिवाली ने बताया कि बच्चों की इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए आम एक अच्छा विकल्प साबित होता है। आम एक इम्यूनिटी बूस्टर फल है। विटामिन सी से भरपूर आम इम्यून सिस्टम की शक्ति और क्षमता को बढ़ाता है। ये इम्यूनिटी बढ़ाकर किसी भी इंफेक्शन से लड़ने की ताकत देता है। साथ ही आम में विटामिन ई और विटामिन बी 6 होते हैं, जो कि इम्यूनिटी के लिए उतने ही जरूरी होते हैं। विटामिन बी 6 और विटामिन ई एक स्ट्रॉन्ग एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो किसी भी वायरस या इंफेक्शन से लड़ने में मदद करते हैं। तो आम खिलाने से बच्चों की इम्यूनिटी भी काफी अच्छी रहती है। 

इसे भी पढ़ें - बच्चों में अपच और उल्टी की समस्या हो तो इन 7 घरेलू नुस्खों से तुरंत मिलेगा आराम

5. एनीमिया के खतरे को कम करे (Reduces Risk of Anemia)

बच्चों में खून की कमी होने से कई समस्याएं हो सकती हैं, जिनमे से सबसे बड़ा खतरा एनीमिया का होता है। एनीमिया खून की कमी से होने वाली बीमारी है। इसलिए बच्चों के लिए आम फायदेमंद होता है। आम में आयरन मौजूद होता है। आयरन शरीर में हेल्दी रेड ब्लड सेल्स बढ़ाता है। आयरन के अलावा आम में कॉपर भी पाया जाता है। कॉपर की कमी होने से भी एनेमिया होता है। कॉपर शरीर में हीमोग्लोबिन बनाता है। रेड ब्लड सेल्स बनाने में कॉपर की जरूरत होती है। इसलिए बच्चों में खून की कमी से बचने के लिए आम का सेवन कराना चाहिए। 

braindevelopment

6. दिमाग और हड्डियों के विकास में मददगार (Beneficial for Development of Brain and Bones)

बच्चों को आम खिलाने से उनके दिमाग और हड्डियों का विकास होता है। आम में ऐसे पौष्टिक तत्व होते हैं, जो दिमाग और हड्डियों का विकास तेजी से करते हैं। आम में कैल्शियम तो होता ही है, साथ ही बेटा कैरोटीन भी होता है, जो कि बोन हेल्थ के लिए बहुत अच्छा होता है। इसके अलावा विटामिन ए भी हड्डियों को मजबूती देता है। आम खाने से बच्चो की याद्दाश्त भी तेज होती है। आम में मौजूद बी विटामिन्स और विटामिन ई दिमाग की कार्यगत क्षमता बढ़ाते है। इसलिए बच्चों को शुरात से ही आम के सेवन की आदत डालनी चाहिए। 

mango

बच्चों को आम खिलाने का सही समय और तरीका (Right Time and Way to Feed mango to Children)

  • बच्चों को आम खिलाने की सही उम्र 8 से 10 महीने के बाद होती है। ये बात तो सभी जानते हैं कि 6 माह तक के शिशु को केवल स्तनपान ही कराना चाहिए।
  • 6 माह की उम्र तक बच्चे केवल दूध ही पचा पाते हैं। आम जैसे फल को आप 8 से 10 महीने के ऊपर के बच्चो को खिला सकते हैं।
  • ध्यान देने वाली बात यह है की आम खाने से पहले बच्चे ने ठोस खान पदार्थ खाना शुरू कर दिया हो। आम को कभी भी पहले फूड के तौर पर न दें।
  • बच्चों को आम कभी भी सीधा काटकर ना खिलाएं। उन्हें हमेशा आम की स्मूदी,  प्यूरी या फिर शेक बनाकर चम्मच से आराम आराम से खिलाएं।
  • शुरूआत में बच्चों को आम की प्यूरी देना ज्यादा सही होता है।

 बच्चों को आम खिलाने के कई फायदे होते हैं। यह लेख डायटीशियन द्वारा प्रमाणित है। इसलिए आप भी 8 से 10 माह के बाद बच्चों को आम खिलाना शुरू कर सकते हैं। 

Read more Articles on Parenting Tips in Hindi

Disclaimer