हॉस्पिटल जाने से पहले करें ये 1 काम, डॉक्‍टर फ्री में करेंगे इलाज!

रोग शुरू होते ही डॉक्टर की सलाह लें। रोग ज्यादा बढ़ जाने पर रोग समस्या बन जाता है, जिससे इलाज में और निरोग होने में लंबा समय लग सकता है। नहाकर और साफ कपडे़ पहनकर जाएं। अगर किसी बीमारी में नहाना संभव न हो तो गीले तौलिए से चेहरा, हाथ और मुंह पोंछ

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: May 23, 2018Updated at: May 23, 2018
हॉस्पिटल जाने से पहले करें ये 1 काम, डॉक्‍टर फ्री में करेंगे इलाज!

डॉक्‍टर के पास जाने से पहले कुछ बातों का जरूर ध्‍यान रखना चाहिए। यह बहुत जरूरी होता है। रोग शुरू होते ही डॉक्टर की सलाह लें। रोग ज्यादा बढ़ जाने पर रोग समस्या बन जाता है, जिससे इलाज में और निरोग होने में लंबा समय लग सकता है। नहाकर और साफ कपडे़ पहनकर जाएं। अगर किसी बीमारी में नहाना संभव न हो तो गीले तौलिए से चेहरा, हाथ और मुंह पोंछकर जाएं।

डॉक्टर के पास जाने से पहले मुंह व दांत अच्छी तरह साफ कर लें ताकि अपना रोग बताते समय, जीभ, गला या दांत दिखाते समय मुंह से बदबू न आए। पान, पान मसाला, सुपारी, तंबाकू आदि खाकर न जाएं। इससे जीभ का स्वाभाविक रंग बदल जाएगा और इस कारण डॉक्टर को रोग की सही पहचान में दिक्कत आएगी। दूध, चाय, कॉफी जैसे गर्म पेय पीकर न जाएं। इससे शरीर का तापमान बढ़ जाने से डॉक्टर सही तापमान न जान सकेगा। शराब व धूम्रपान का सेवन न करें।

डॉक्टर के पास जाने से पहले क्‍या करें

  • डॉक्टर के पास भीड़ हो तो शांति से अपनी बारी का इंतजार करें। डॉक्टर को भी सही निदान के लिए शांति की जरूरत रहती है। अगर डॉक्टर जांच कर रहा है तो उस समय उससे बात न करें।
  • डॉक्टर अगर खून, थूक व पेशाब की जांच के लिए कहे तो उसे जरूर करवाएं। इससे क्या होता है, यह सोचकर पैसे बचाने और आलस्य में जांचों को अनदेखा न करें।
  • अगर डॉक्टर एक्स-रे कराने को कहें तो उसे जरूर करवाएं, क्योंकि कई बीमारियों में यह जरूरी होता है।
  • डॉक्टर से कोई भी बात संकोच या शर्म के कारण न छिपाएं। अपनी तकलीफ, अपने रोग के बारे में डॉक्टर को विस्तार से बताएं। कोई भी डॉक्टर किसी का भी भेद कहीं भी प्रकट नहीं करता। इसलिए डॉक्टर को हर बात बेझिझक बताएं।

इसे भी पढ़ें: गर्मी में दिनभर रहते हैं एसी में तो इन 5 बीमारियों के लिए रहें तैयार

  • रोग को छिपाने से भयंकर परिणाम हो सकते हैं। पूरी बात जाने बिना डॉक्टर इलाज भी पूरा नहीं कर पाएगा।
  • डॉक्टर की सलाह को ध्यान से सुनें और उस पर अमल करें, न कि डॉक्टर को ही सलाह देने लग जाएं। कई बार लोग डॉक्टर को बताते हैं। फलां दवा या टॉनिक दे दीजिए या मुझे ग्लूकोज चढ़ा दें आदि-आदि। ध्यान रखें कि डॉक्टर ज्यादा जानता है, वह अपने आप जरूरत के मुताबिक आपको दवा लिख देगा।
  • डॉक्टर जिस चीज से परहेज को कहें, उस पर अमल करें अन्यथा आप दवा लेते रहेंगे, फायदा कुछ भी नहीं होगा।
  • अपनी बीमारी के पुराने पर्चे, एक्स-रे रिपोर्ट, खून, पेशाब आदि की जांच के कागज आदि संभालकर रखें और डॉक्टर बदलते समय या बीमारी के वापस प्रकट होने पर वे सारे कागज डॉक्टर को दिखाएं। इससे डॉक्टर को इलाज करने में आसानी होगी और आपको भी कई जांचों में दोबारा पैसे खर्च नहीं करने पडेंगे।
  • एक बार में एक ही दवा से लाभ न हो रहा हो तो उसे तुरंत न बदलें। कुछ दिन दवा का असर होने में लगता है। डॉक्टर कोई जादूगर नहीं है कि बीमारी एक दिन में ठीक हो जाए।डॉक्टर के अनुसार नियमित दवा लें।
  • डॉक्टर के पास परामर्श के लिए अकेले न जाएं, बल्कि साथ में किसी मित्र अथवा संबंधी को ले जाएं, जिसे आपकी जीवनशैली व रोग की जानकारी हो, ताकि डॉक्टर को सही जानकारी मिल सके।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Healthy Living In Hindi

Disclaimer