पेट दर्द, थकान, वजन घटना और डायरिया आदि लक्षण हो सकते हैं 'क्रोंस डिजीज' का संकेत, जानें इसके लिए 8 घरेलू इलाज

अगर आप भी क्रोंस डिजीज का शिकार हो रहे हैं तो एक्सपर्ट से जानिए क्या है इसके लिए घरेलू इलाज के तरीके।

Vishal Singh
घरेलू नुस्‍खWritten by: Vishal SinghPublished at: Feb 16, 2021Updated at: Feb 16, 2021
पेट दर्द, थकान, वजन घटना और डायरिया आदि लक्षण हो सकते हैं 'क्रोंस डिजीज' का संकेत, जानें इसके लिए 8 घरेलू इलाज

क्रोंस रोग एक प्रकार की ऐसी बीमारी है जो आपके पाचन तंत्र में सूजन को पैदा करती है जिसके कारण आपको बहुत तेज दर्द मिल सकता है और ये आपको लंबे समय तक परेशान कर सकता है। क्रोंस रोग एक पुरानी बीमारी है जिसका शिकार की लोग होते रहते हैं। ये स्थिति किसी के लिए भी बहुत गंभीर बन सकती है। आपको बता दें कि क्रोंस डिजीज का प्रभाव आपके मुंह से लेकर आंत के हिस्से तक हो सकता है ये आपको काफी हद तक नुकसान पहुंचा सकती है। इस दौरान आपको बहुत ज्यादा दर्द और अलग-अलग प्रकार के लक्षण दिखाई दे सकते हैं जिसकी पहचान कर आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करने की जरूरत होती है। हालांकि लोगों के मन में सवाल होता है कि क्या क्रोंस रोग के दौरान प्राकृतिक उपाय क्या है और कसे यह असरदार हो सकते हैं। तो इसके लिए अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है हमने इस विषय पर बात की डॉक्टर राखी आयुर्विज्ञान, सफदरजंग एंक्लेव, नई दिल्ली की डॉक्टर राखी मेहरा से। जिन्होंने बताया कि क्रोंस रोग के दौरान किस तरह के प्राकृतिक उपाय बेहतर है और कैसे इस्तेमाल किया जाना चाहिए। लेकिन इससे पहले एक्सपर्ट का कहना है कि लोगों को इसके उपाय को जानने से पहले जरूरी है ये जानना कि ये बीमारी क्या है और इसके लक्षण क्या है। 

Crohns Disease

क्या है क्रोंस रोग (What Is Crohn's Disease In Hindi)

क्रोंस रोग के कारण आपके मुंह से लेकर आपकी आंतों तक कहीं भी सूजन पैदा हो सकती है इस दौरान आपको भयंकर दर्द हो सकता है, जिसके कारण आप लंबे समय तक परेशान रह सकते हैं। इतना ही नहीं ये आपके पाचन तंत्र को बुरी तरह से प्रभावित करती है, एक्सपर्ट की मानें तो इसका इलाज जल्ग से जल्द कराना चाहिए नहीं तो आप कई गंभीर स्थिति का शिकार हो सकते हैं। कई लोगों में इसके लक्षण तुरंत दिख जाते हैं तो कुछ लोगों को इसके लक्षणों का पता नहीं चल पाता और जब तक पता चलता है तो स्थिति काफी बढ़ जाती है। एक्सपर्ट राखी मेहरा का कहना है कि क्रोंस रोग के दौरान आपको लक्षण पहचानने चाहिए और तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए। इसके अलावा आप कुछ प्राकृतिक उपाय को भी अपना सकते हैं। 

लक्षण (Symptoms)

  • थकान।
  • पेट में दर्द और ऐंठन।
  • आपके मल में रक्त।
  • मुंह में छाले।
  • दस्त और बुखार।
  • भूख कम और वजन कम होना।
  • पेट के हिस्से पर सूजन महसूस करना। 
  • त्वचा और आंखों में सूजन दिखना। 

क्रोंस रोग के लिए प्राकृतिक उपाय (Natural Remedy For Crohn's Disease)

1. फाइबर की मात्रा कम करें

एक्सपर्ट राखी मेहरा बताती हैं कि फाइबर आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है जो आपको लंबे समय तक स्वस्थ रखने के लिए असरदार होता है। लेकिन क्रोंस डिजीज से बचाव के लिए जरूरी है कि आप अपनी डाइट में फाइबर की मात्रा को कम करें। डॉक्टर राखी मेहरा बताती हैं कि फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थ क्रोंस रोग जैसी स्थिति को बढ़ावा देने का काम करते हैं। आपको बता दें कि दाल, बीन्स, फलियां, गोभी, ब्रोकोली और प्याज जैसी सब्जियों से बचें। ये सभी चीजें आपकी पाचन और गैस, सूजन और दर्द का कारण बनती हैं जिसके कारण आप क्रोंस का शिकार हो सकते हैं। ऐसे फलों को भी अपनी डाइट से बाहर करें जो आपको दस्त जैसी स्थिति का शिकार बना सकते हैं। इसके अलावा आप खट्टे फलों का सेवन त्याग दें, ये फल आपके दर्द और जलन को बढ़ा सकते हैं। 

Crohns Disease

2. हेल्दी फैट का करें सेवन

स्वस्थ वसा आपको लंबे समय तक स्वस्थ रखने के लिए फायदेमंद मानी जाती है, जिसकी मदद से आप क्रोंस जैसी स्थिति से भी खुद को बचाकर रख सकेत हैं। पॉलीअनसेचुरेटेड वसा और ओमेगा-3 फैटी एसिड आपको क्रोंस की स्थिति से बचाते हैं, इस तरह की वसा क्रोंस रोग के लिए बहुत फायदेमंद होती है। ओमेगा -3 फैटी एसिड की विरोधी भड़काऊ प्रकृति, क्रोहन के लक्षणों को कम कर सकती है। इसलिए एक्सपर्ट की सलाह है कि आप अपनी डाइट में हेल्दी फैट की मात्रा को शामिल करें। 

इसे भी पढ़ें: आपकी रसोई में ही मौजूद ये 5 औषधियां दिलाएंगी कब्ज से छुटकारा, कब्ज का प्राकृतिक इलाज हैं ये

3. लीन प्रोटीन की मात्रा बढ़ाएं

लीन प्रोटीन आपके शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है ये आपको लंबे समय तक स्वस्थ रखने का काम करता है और क्रोंस बीमारियों की तरह कई गंभीर बीमारियों से बचाने में मददगार होता है। डॉक्टर राखी मेहरा बताती हैं कि लीन प्रोटीन ऊतकों को बेहतर बनाने और आपकी मांसपेशियों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए असरदार होता है।

4. मछली का तेल

मछली का तेल आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है ये आपको कई गंभीर बीमारियों से दूर रखे के साथ आपको लंबे समय तक स्वस्थ रखने का काम करता है। एक्सपर्ट बताते हैं कि क्रोंस रोग के दौरान भी मछली का तेल पूर्ण रूप से असरदार होता है क्योंकि इसमें भारी मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड मौजूद होता है। जिसकी मदद से आप क्रोंस रोग के लक्षणों को कम कर सकते हैं और खुद को लंबे समय तक स्वस्थ रख सकते हैं। 

5. एक्यूपंक्चर

एक्यूपंक्चर एक बेहतरीन प्रक्रिया है जिसकी मदद से आप कई तरह की समस्याओं को कम कर सकते हैं। एक्यूपंक्चर की मदद से आप क्रोंस डिजीज के खतरे से भी आसानी बाहर आ सकते हैं। ये आपको कई तरीकों से फायदा प्रदान करने के लिए माना जाता है। 

Crohns Disease

6. एलोवेरा जूस

एलोवेरा आपके स्वास्थ्य के लिए कितना फायदेमंद है ये तो आप जानते ही हैं, एलोवेरा आपको कई गंभीर संक्रमण और बीमारियों के खतरे से दूर रखने में आपकी सहायता करता है। ऐसे ही एलोवेरा का जूस स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है जो आपको क्रोंस रोग जैसी स्थिति से भी बाहर रख सकता है। जी हां, डॉक्टर राखी मेहरा का कहना है कि एलोवेरा का जूस आपके पेट के लिए बहुत अच्छा होता है जो आपको क्रोंस रोग से भी राहत दिलाने का काम करता है। अगर आप भी क्रोंस डिजीज की स्थिति से गुजर रहे हैं तो जरूरी है कि आप रोजाना नियमित रूप से एलोवेरा जूस का सेवन करें जो आपको लंबे समय तक स्वस्थ रख सकता है। 

इसे भी पढ़ें: भीगे चने की तरह ही इसका पानी भी होता है फायदेमंद, सुबह खाली पेट पीकर बढ़ाएं अपनी इम्यूनिटी

7. तरल पदार्थ ज्यादा लें

तरल पदार्थ आपके पेट या आंत में हो रही सूजन को कम करने का काम कर सकती है, आप ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ को बढ़ाएं जिससे आपकी पाचन क्रिया को बेहतर बनने में मदद मिल सके। इतना ही नहीं आप तरल पदार्थ की मदद से अपने पेट में किसी भी प्रकार के संक्रमण को आसानी से बाहर कर सकते हैं और अपने पेट के स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रख सकते हैं। 

8. व्हीटग्रास जूस

व्हीटग्रास जूस भी आपके स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा माना जाता है, ये आपको कई प्रकार के रोगों से दूर रखने के साथ कई बीमारियों से बचाने का काम करता है। ऐसे ही जब आप क्रोंस डिजीज का शिकार होते हैं तो एक्सपर्ट की सलाह है कि आपको व्हीटग्रास जूस पीना चाहिए। ये आपके पूर्ण स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है। एक्सपर्ट के मुताबिक, व्हीटग्रास में विटामिन, प्रोटीन, मिनरल, फाइबर और एंटी-ऑक्सीडेंट के गुण मौजूद होते हैं जो आपके लिए फायदेमंद है। इतना ही नहीं इसमें भारी मात्रा में क्लोरोफिल, फ्लेवोनोइड्स, विटामिन-सी और विटामिन-ई जैसे तत्व भी होते हैं और कैलोरी की कम मात्रा पाई जाती है। इसलिए एक्सपर्ट की सलाह है कि आप व्हीटग्रास जूस का सेवन आसानी से कर सकते हैं और क्रोंस की समस्या से दूर रह सकते हैं। 

(एक्सपर्ट राखी मेहरा का कहना है कि क्रोंस डिजीज के दौरान लोगों को तुरंत इसके लक्षणों की पहचान करनी चाहिए और जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। इसके अलावा एक्सपर्ट की सलाह है कि आप किसी भी तरीके को इस्तेमाल करने से पहले किसी एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें)। 

Read more articles on Home-Remedies in Hindi

Disclaimer