खड़े होकर खाना खाने से सेहत को होते हैं ये 6 नुकसान, डायटीशियन से जानें खाना खाने की बेस्ट पोजीशन

खड़े होकर खाना खाने की आदत सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकती है। आपकी सेहत को इससे 6 नुकसान पहुंचते हैं।

 
Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraPublished at: May 06, 2021Updated at: May 06, 2021
खड़े होकर खाना खाने से सेहत को होते हैं ये 6 नुकसान, डायटीशियन से जानें खाना खाने की बेस्ट पोजीशन

हमारे लाइफस्टाल में इतना बदलाव (Change in Lifestyle) आ गया है कि हमें व्यायाम न करने से लेकर खाने पीने तक की गलत आदते लग गी हैं। कई बार लोग जल्दबाजी में खाना खाते हैं, जो उन्हें नुकसान देता है, लेकिन बहुत से लोगों में तो खड़े होकर खाना खाने की आदत होती है। क्या आप भी उन्हीं लोगों में शामिल हैं। अगर हां तो आज इस लेख के माध्यम से हम आपको खड़े होकर खाना खाने के कुछ नुकसान (Disadvantages of Eating in Standing position) बताएंगे। हमें बचपन से ही अपने से बड़ों से खड़े होकर और जल्दबाजी में खाना नहीं खाने की सीख मिलती आ रही है। लेकिन बड़े होकर शायद यह बात भूल जाते हैं कि खड़े होकर खाना नहीं खाना चाहिए। शायद कुछ लोगों को इस बात का अंदाजा नहीं है कि खड़े होकर खाना खाने की आदत आपके पाचन तंत्र को क्षतिग्रस्त कर सकती है। आप पार्टियों और बफे में खड़े होकर खाने का आनंद लेते हैं। उस समय इससे होने वाले नुकसान की बात हमारे दिमाग में बहुत ही कम आती है चाहे वह स्थिति अच्छी हो या बुरी। सोने या लेटने की स्थिति में खाना खाने का चलन प्राचीन काल से ही लोकप्रिय है। लेकिन यह स्थिति भी हमें गंभीर नुकसान पहुंचाने में की कसर नहीं छोड़ती है। हमें बड़ों द्वारा बैठकर खाना खाने के लिए सही किया गया है। इसी विषय पर विस्तार से जानने के लिए आज हमने मुंबई के पीडी हिंडूजा हॉस्पिटल के डायट्रिक विभाग की सीनियर ऑफिसर स्वीडल ट्रिंडेड से बातचीत की। आइये इस लेख के माध्यम से जानते हैं खड़े होकर खाने के कुछ नुकसान के बारे में। 

weightgain

1. वजन बढ़ना (Weight Gain)

जैसे लेटकर खाने, जल्दबाजी में खाने और खाना खाने के साथ पानी का सेवन करने से वजन में इजाफा होता है। ठीक उसी प्रकार खड़े होकर खाने की स्थिति में भी आपके वजन बढ़ने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। स्वीडल ट्रिंडेड ने बताया कि खड़े होकर खाते समय हमें इस बात का अंदाजा तक नहीं रहता कि हम कितनी मात्रा में खाना खा रहे हैं। कई मामलों में ऐसा पाया गया है कि खड़े होकर खाना खाने की स्थिति में लोग हमेशा ओवईटिंग (Overeating) करते हैं, जिस कारण शरीर में फैट का जमाव अधिक होता है। ऐसी स्धिति में लोग खाने को ठीक तरह से चबाते भी नहीं हैं। लंबे समय तक ऐसा करना आपको जल्दी मोटापे का शिकार बना देता है। 

इसे भी पढ़ें  - कोरोना मरीजों को दें फटे दूध या पनीर का पानी, डायटीशियन से जानें इसके फायदे और इस्तेमाल का तरीका 

2. लो सैटाइटी (Low Satiety)

खड़े होकर खाना खाने से आपको लो सैटाइटी (Low Satiety) की समस्या हो सकती है। लो सैटाइटी का मतलब है कम तृप्ति। यानी जब आप खड़े होकर खाना खाते हैं तो स्वाभाविक रूप से आप ज्यादा खाना खाते है, जिसके बाद भी आपकी भूख शांत नहीं होती है। लो सैटाइटी आपके वजन को बढ़ाने में अहम भूमिका निभाता है। ऐसा इस्लिए क्योंकि खाना पेट में पहुंचने के थोड़ी देर बाद ही ग्रुत्वाकर्षण बल (Gravitational Force) के कारण बिना अच्छे से पचे ही आंतों में आ जाता है। इससे आपको खालीपन महसूस होता है और आपको और भी ज्यादा भूख लगती है। इससे बचने के लिए हमेशा आराम से बैठकर ही खाना खाएं। ताकि आपको इस बात का अहसास होता रहे कि आपका पेट भरा है या नहीं। 

bloating

3. पेट फूलना और अपच (Bloating and Indigestion)

ख़ड़े होकर खाना खाने से आपके पाचन तंत्र की गति सामान्य से तेज हो जाती है, जिसके कारण कार्बोहाइड्रेट्स की प्रोसेसिंग (Not Processes Carbohydrates) ठीक तरह से नहीं हो पाती है और जल्दबाजी में पाचन होने के कारण आपको पेट फूलना और अपच की समस्या होने लगती है। खड़े होकर खाना खाने से आपका खाना जल्दबाजी में पचे बिना ही आंतों में चला जाता है और पेट जल्दी ही खाली हो जाता है, जिससे गैस और पेट फूलने की समस्या उत्पन्न होने लगती है। खाना ठीक से नहीं पचने पर आपके द्वारा खाए गए न्यूट्रीएंट्स शरीर में सही तरीके से अवशोषित (Nutrients not get Absorbed) भी नहीं हो पाता है। 

4. फूड पाइप पर पड़ता है असर (Effects Food Pipe)

खड़े होकर खाना खाने के नुकसानों में फूड पाइप में नुकसान होना भी शामिल है। लंबे समय तक ख़ड़े होकर खाने से आपकी फूड पाइप में जाने वाला भोजन अटकने लगता है। खड़े होकर खाना खाने के दौरान हम लो सैटाइटी के कारण ओवरईटिंग (Overeating due to Satiety) करते हैं, जिससे फूड पाइप में जरूरत से ज्यादा खाना जल्दी जल्दी पहुंचता है, जो कुछ समय बाद फूड पाइप को क्षतिग्रस्त कर सकता है। इसलिए खाने को कंफर्टेबल होकर खाएं। जिससे फूड पाइप को कोई नुकसान नहीं हो। 

stomachproblem

5. पाचन संबंधी समस्याएं (Digestion Problem)

खड़े होकर खाना खाने से हमारी पाचन तंत्र तेजी से प्रभावित होता है। ऐसे में पेट तक खाना ठीक तरह से पहुंचने में असमर्थ हो जाता है। ओवरईटिंग करने से आपका पाचन तंत्र खाने को ठीक तरह से पचाने में असमर्थ (Digestive System not able to Digest food) हो जाता है और आपकी पाचन प्रक्रिया भी धीमी हो जाती है। पाचन तंत्र शरीर का पावरहाउस (Powerhouse) माना जाता है। इसमें अधिक मात्रा में भोजन पहुंचने से यह खाने को ठीक तरह नहीं पचा पाता है और भोजन का कुछ हिस्सा आपके पेट में अपच ही रह जाता है। जिस कारण भी आपको पेट संबंधी कई समस्याएं हो सकती हैं। 

इसे भी पढ़ें - ऑयस्टर खाने से शरीर को होते हैं ये 5 फायदे, जानें इसके कुछ नुकसान भी

6. न्यूट्रीएंट्स अवशोषित होने में होती है दिक्कत (Problem in Absorbing Nutrients)

खड़े होकर खाने खाने से शरीर को सबसे बड़ा नुकसान न्यूट्रीएंट्स यानि की पोषक तत्वों की प्राप्ति में समस्या होती है। दरअसल खड़े होकर खाना खाने से भोजन जल्दबाजी में पचने के कारण आंत में पहुंच जाता है। इस दौरान खाने में मौजूद न्यूट्रीएंट्स आपकी शरीर में ठीक प्रकार से अवशोषित नहीं हो पाता है। इसलिए कई बार आपके द्वारा खाया गया खाना शरीर में नहीं लगता है। वहीं बैठकर खाना खाने से शरीर खाने में मौजूद सभी पोषक तत्वों को ठीक तरह से अवशोषित करने में समर्थ होता है। 

खाना खाने की सही पोजिशन (What is the Right Position to Eat)

स्वीडल ट्रिंड्रेड के मुताबिक पारंपरिक तरीके से जमीन पर या कुर्सी पर बैठकर ही खाना खाना चाहिए। यह खाना खाने की बिलकुल सही स्थिति है। प्राचीन काल से ही लोग इसी अवस्था में खाना खाते रहे हैं, जो असल में उनकी तंदरुस्ती का राज माना जाता है। इससे खाने के प्रति आपका ध्यान नहीं भटकता है और आप संतुलित मात्रा में या जरूरत के अनुसार ही खाना खाते हैं। इससे मन को शांति मिलती है साथ ही न्यूट्रीएंट्स अवशोषित होते हैं साथ ही ऐसा करने से शरीर को प्रॉपर नरिशमेंट भी मिलता है। 

खाने को हमेशा बैठकर और चबाकर ही खाना चाहिए। अगर आप भी खड़े होकर खाना खाते हैं तो आपको भी इस लेख में दी गई समस्याएं हो सकती हैं। यह लेख डाइटीशियन द्वारा प्रमाणित है, इसलिए इसमें दी गई खाने की सही स्थिति को अपनाएं। 

Read more Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer