शहद और मिश्री के साथ मिलाएं ये एक खास चीज, मिलेंगे 5 गजब के फायदे

आजकल हर कोई कई किसी न किसी बीमारी से पीडि़त है। जिसके पीछे सबसे बड़ी वजह आपका रहन-सहन और खानपान की आदतें हैं। ऐसे में आयुर्वेद में एक ऐसी औषधी है, जो एक नहीं कई बीमारियों में फायदेमंद शाबित हो सकती है।

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Aug 03, 2019Updated at: Aug 03, 2019
शहद और मिश्री के साथ मिलाएं ये एक खास चीज, मिलेंगे 5 गजब के फायदे

आजकल हर कोई कई किसी न किसी बीमारी से पीडि़त है। जिसके पीछे सबसे बड़ी वजह आपका रहन-सहन और खानपान की आदतें हैं। ऐसे में आयुर्वेद में एक ऐसी औषधी है, जो एक नहीं कई बीमारियों में फायदेमंद शाबित हो सकती है। हम बात कर रहे हैं  स्वाद में मीठी मुलेठी की। आमतौर पर मुलेठी का इस्‍तेमाल पान में किया जाता है। लेकिन मुलेठी सर्दी-जुखाम जैसी छोटी बीमारियों के साथ-साथ आपकी कई अन्‍य बड़ी बीमारियों में भी वरदान साबित हो सकती है। 

औषधीय गुणो से भरपूर मुलेठी कैल्शियम, ग्लिसराइजिक एसिड, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटीबायोटिक, प्रोटीन और वसा के गुणों से भरपूर होती है। आइए हम आपको बताते हैं कि मुलेठी कैसे आपके लिए फायदेमंद है। 

पेट के अल्‍सर और कमजोरी को दूर करे

यदि आप हमेशा थका हुआ महसूस करते हैं, तो आप 2 ग्राम मुलेठी चूर्ण के साथ 1 चम्‍मच घी और 1 चम्‍मच शहद को गर्म दूध के साथ मिलाकर पिएं। इससे आपकी थकान व कमजोरी दूर होगी। इसके अलावा पेट की अल्‍सर की समस्‍या होने पर आप 1 गिलास दूध के साथ 1 चम्‍मच मुलेठी चूर्ण मिलाकर दिन में 2 या 3 बार मिलाकर पी सकते हैं। 

स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए 

अधिकतर महिलाओं में गर्भावस्‍था के बाद दूध का उत्‍पादन र्प्‍याप्‍त नहीं हो पाता। ऐसी स्थिति में आप मुलेठी का सेवन कर सकते हैं। इसके लिए आप 2 चम्‍मच मुलेठी पाउडर, 3 चम्‍मच शतावरी पाउडर और 2 ग्राम मिश्री को एक गिलास उबले दूध में मिलाकर पिएं। इससे महिला के दूध उत्‍पादन में वृद्धि होती है और बच्‍चे के लिए र्प्‍याप्‍त मां का दूध मिल पाता है।

पीरियड्स के दौरान 

अनियमित पीरियड्स की समस्‍या या पीरियड्स के दौरान होने वाले असहनीय दर्द से राहत पाने के लिए आप मुलेठी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। मासिक धर्म के दौरान होने वाले अधिक रक्‍तस्‍त्राव में आप 2 चम्‍मच मुलेठी का चुर्ण, 4 ग्राम मिश्री पानी में मिला लें। इसका सेवन करने से आपके पीरियड्स में होने वाले दर्द और अधिक रक्‍तत्राव में मदद मिलेगी। 

इसे भी पढें: पीरियड्स में महिलाओं के बढ़ते वजन की समस्या के पीछे हैं ये 5 कारण, आप भी हो सकती हैं इनसे परेशान

दिल सबंधी बीमारियों में 

मुलेठी के नियमित सेवन से दिल संबंधी बीमरियों को दूर रखा जा सकता है। इसके लिए आप 2 ग्राम मुलेठी और 2 ग्राम कुटकी का चूर्ण, 4 ग्राम मिश्री लें और इसे एक गिलास पानी में घोल लें। इसे आप प्रतिदिन दो बार से अधिक न पिएं। अगर आपको दिल की बीमारियों के अलावा भी कोई रोग या समस्या है, तो उसमें भी आपको इससे फायदा मिलेगा। 

इसे भी पढें: रूखेपन के कारण होती है जलन और आंखें लाल होने की समस्या, जानें 5 घरेलू उपचार

त्‍वचा व बालों के लिए

मुलेठी आपके झड़ते बालों के साथ आपकी त्‍वचा के लिए भी बेहद फायदेमंद है। मुलेठी और आंवला के पाउडर को पानी के साथ मिलाकर पीने से आपकी त्‍वचा स्‍वस्‍थ व चमकदार रहेगी। इसके अलावा, यदि बाल झड़ रहे हों या फिर सफेद हो रहे हों, तो आप 50 ग्राम मुलेठी कल्‍क, 750 मिली आंवला स्‍वरस और 750 मिली तिल का तेल लें। अब आप इन्‍हें मिलाएं और हप्‍ते में 3 दिन अपने बालों में जरूर लगाएं। इससे आपके बाल जल्‍द झड़ना कम हो जाएगा।    

Read More Article On Home Remedies In Hindi 

Disclaimer