बच्‍चों में मीठे की लत को इन 4 तरीकों से करें कम, रहेंगे कई बीमारियों से दूर

क्या आपका बच्चा हमेशा हर समय मिठाई और चॉकलेट की तलाश में रहता है? अगर जवाब हां है, तो इस तरह की आदतें कई बीमारियों को जन्म दे सकती हैं। आइए यहां हम आपको बच्चों में मीठा खाने की आदत को कम करने के लिए कुछ स्मार्ट टिप्स बता रहे हैं।

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtUpdated at: Aug 23, 2019 17:02 IST
 बच्‍चों में मीठे की लत को इन 4 तरीकों से करें कम, रहेंगे कई बीमारियों से दूर

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

बच्‍चों को चॉकलेट, कुकीज, टॉफी या फिर मिठाईयों से दूर रखना बेहद ही कठिन काम है। मीठे को देखते बच्‍चे उस पर टूट पड़ते हैं, जब तक कि वह उसे खत्‍म न कर लें। अधिकतर मां-बाप अपने बच्‍चों को यह कहकर कि मीठे से उनके दांत खराब हो जाएंगे, ज्‍यादा मीठा खाने से रोकते हैं लेकिन इसका परिणाम यहीं तक सीमित नहीं होता। बचपन से अधिक मीठा खाने से आपका बच्‍चा मोटापे का शिकार हो सकता है और इसके साथ कई बीमारियों के खतरा बढ़ता है। इसलिए पेरेंट्स को अपने बच्‍चे के खानपान से जुड़ी आदतों पर विशेष रूप से ध्‍यान देने की जरूरत होती है।

आप अपने बच्‍चे के मीठे खाने की आदत को सीमित कर उसे हेल्‍दी खाना खिलाएं। क्‍योंकि बच्‍चों की अधिकतर पंसदीदा मीठी चीजों में शुगर की मात्रा अधिक होती है। ऐसे में शुगरी फूड्स का ज्‍यादा सेवन बच्‍चों के स्वास्थ्य पर बुरा असर डाल सकता है। ऐसे में आपको अपने बच्चों को शुगरी फूड्स को कम करने की आवश्यकता है। आइए यहां हम आपको बच्चों में मीठा खाने की आदत को कम करने के लिए कुछ स्मार्ट टिप्स बता रहे हैं।

मीठी चीजों को बच्‍चे की पहुंच से दूर रखें

बच्‍चों को मीठे से दूर रखने के लिए सबसे जरूरी है कि आप घर में मीठे चीजों को बच्‍चों से दूर करें। जी हां सबसे सिर्फ मिठाईयां, कुकीज या चीनी ही नहीं, बल्कि आप पैक जूस आदि ड्रिंक्‍स भी शुगर की अधिक मात्रा होता है। क्‍योंकि यदि बच्‍चे की पहुंच में मीठी चीजें रहती हैं, तो वह खाने का मन करने और भूख लगने पर मीठी चीजों का अधिक सेवन करते हैं। 

इसे भी पढें: बच्चों में किडनी रोग के ये 5 लक्षण पहचानें, जानें माता-पिता इन रोगों से बचाव के लिए क्या करें?

नई चीजों को आजमाएं

बच्‍चों को मीठे से दूर और खाने की इच्‍छा उत्‍पन्‍न करने के लिए आप कोशिश करें कि नई-नई खाने के विकल्‍प खोजें और अलग-अलग तरह की हेल्‍दी डिशेज बनाने की कोशिश करें। आपका ऐसा करना खाने के प्रति बच्‍चे की रूचि विकसित कर सकता है। आप कलर फुल सलाद को क्रेटिव तरीके से काटर बच्‍चों को परोसें। आप जो भी बनाते हैं उसे बच्‍चे को अच्‍छे से सजाकर परोसें, यह आपके बच्‍चे के लिए पौष्टिक होगा। खाने के साथ नए-नए प्रयोग करें, ऐसे में आप अपने बच्‍चे को हेल्‍दी खाना खिला पाएंगे। इसके अलावा, चॉकलेट सॉस और अन्य सिरप को भोजन में शामिल करना बंद करें और अपने भोजन को स्वस्थ बनाने के लिए स्वस्थ विकल्प खोजें। 

बच्‍चे को डेजर्ट खिलाना कम करें  

मिठाई या डेजर्ट आपके और आपके बच्चों के खाने का अहम व पसंदीदा हिस्सा हो सकती है। लेकिन यह आपके बच्चों की डाइट में अधिक मात्रा में कैलोरी और शुगर की मात्रा को बढ़ा सकती है। मीठे खाने की आदत को कम करने के लिए आप कई बार खाने के बाद मीठे को नजरअंदाज कर सकते हैं। 

इसे भी पढें: बच्‍चों के विकास के लिए जरूरी हैं ये 6 पोषक तत्‍व, जानें कैसे बनाएं संतुलित डाइट चार्ट

हाई प्रोटीन

बच्‍चों में मांसपेशियों के निर्माण के लिए प्रोटीन बहुत आवश्यक होता है। इसलिए आप अपने बच्‍चों को रोजाना प्रोटीनयुक्‍त आहार का सेवन कराएं। प्रोटीनयुक्‍त आहार न केवल आपके बच्‍चे के विकास बल्कि बच्‍चे में मीठे खाने की इच्‍छा को कम करने में मददगार है। आप अपने बच्‍चे को प्रोटीनयुक्‍त आहारों में अंडे, नट्स, डेयरी उत्पाद के अलावा और भी कई प्रोटीन से भरपूर खाद्य पदार्थ खिला सकते हैं। 

Read More Article On Children Health In Hindi 

Disclaimer