300 से अधिक फ्रैक्‍चर के बाद भी चैंपियन है ये 18 साल का 18 इंच लंबा शख्‍स

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 04, 2016
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • कर्नाटक के बेलगाम शहर में रहने वाले 18 साल का मोईन।  
  • लाइलाज बीमारी ब्रिट्टिल बोन डिसीज से पीड़ित हैं मोईन जुनैदी।
  • स्विमर मोईन जुनैदी की रफ्तार पानी में काबिले तारीफ है।
  • विकलांग विश्व जूनियर खेलों में स्वर्ण पदक जीता है।

कर्नाटक के बेलगाम शहर में रहने वाले 18 साल के मोईन जुनैदी की लंबाई 18 इंच है और मोईन की हड्डियों में 300 से ज्यादा फ्रेक्चर हैं। मोईन अपनी पूरी जिंदगी में कभी जमीन पांव रख कर नहीं चल पाया। लेकिन मोईन ने साबित किया है कि जिन लोगों के हौसले बुलंद होते हैं उन्हें अपनी प्रतिभा को साबित करने के लिए जमीन तक सीमित नहीं रहना पड़ता। जमीन पर चल ना भी सकने वाले मोईन जुनैदी की पानी में रफ्तार काबिले तारीफ है। मोईन का सपना है कि अगले पैरा ओलंपिक में वो भारत के लिये स्वर्ण पदक लेकर आए।

 

18 Year Old Human in Hindi

 

सुपर स्विमर मोईन की कहानी

मोईन जुनैदी जब केवल नौ महीने का था, तब ही उसकी हड्डी टूट गई और उस समय मोईन खड़े होकर चल तक नहीं पाता था। जमीन पर चलते-चलते जब अचानक उसके शरीर से कुछ टूटने जैसी आवाज आई तो किसी ने सोचा तक नहीं था कि मोईन की हड्डी टूटी है। लेकिन जब घंटेभर से ज्यादा देर तक मोईन रोता रहा तो घर वाले उसे डॉक्टर के पास लेकर गए, जहां पता चला कि वह ऑस्टियोजेनसिस इमपरफेक्टिया नाम की बीमारी से पीड़ित है। इस लाइलाज बीमारी को ब्रिट्टिल बोन डिसीज नाम से भी जाना जाता है। इस बीमारी की वजह से मोईन की हड्डियां दिनों-दिन टूटती गई और एक दूसरे से जुड़कर गांठ बनाती रहीं।


लेकिन बावजूद इसके मोईन दुनिया का बेहतरीन विकलांग तैराक बना। इस कमाल के तैराक ने 2013 के अंतरराष्ट्रीय व्हीलचेयर और विकलांग विश्व जूनियर खेलों में स्वर्ण पदक जीता है। और इसके अगले साल इन्हीं खेलों में मोईन ने बैकस्ट्रोक तैराकी में चौथा स्थान हासिल किया था।


आत्मविश्वास और लगन के बल पर मोईन कुछ ही महीनों में तैराकी सीख गया और 9 महीने बाद ही पहली प्रतिस्पर्धा में हिस्सा लिया और स्वर्ण पदक जीता। मोईन दे और दुनिया के लिये आत्मविश्वास और जिंदादिली की एक मिसाल है।



Read More Articles On Medical Miracles in Hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES6 Votes 2336 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर