इस क्रिसमस पर ये हेल्‍थी मेन्‍यू जरूर करें फॉलो

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 21, 2012
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • ऐसा खाएं कि क्रिसमस के त्‍यौहार का परंपरागत रूप भी बना रहे और सेहत भी।
  • पारंपरिक क्रिसमस भोजन में मीट का होना जरूरी माना जाता है।
  • पारंपरिक क्रिसमस डिनर में शर्करा और फैट की मात्रा काफी होती है।
  • आपको चाहिए कि काफी मात्रा में नॉन-अल्‍कोहलिक ड्रिंक्‍स शामिल करें।

क्रिसमस की रात खुशियों की रात होती है। जमकर केक और पेस्‍ट्री खाने की रात होती है। लेकिन, बिना सोचे समझे खाने का नतीजा अक्‍सर वजन बढ़ने की सौगात साथ लाता था। तो, फिर आखिर ऐसा खाया जाए कि क्रिसमस के त्‍यौहार का परंपरागत रूप भी बना रहे और सेहत भी। क्रिसमस की रात टीवी के सामने बैठकर झपकियां लेना या क्रिसमस डिनर में इतना खा लेना कि बाद में सांस लेना भी दुभर हो जाए, अच्‍छा आइडिया नहीं है। ऐसे ही क्रिसमस पार्टी के नाम पर सेहत को दरकिनार कर कुछ भी खा लेना भी अच्‍छी बात नहीं है। तो, चलिए हम आपको बताते हैं कुछ ऐसे फूड्स के बारे में जो क्रिसमस पार्टी या डिनर के लिए बनाए जा सकते हैं और भी बिना किसी बड़े झंझट के ।

 

[इसे भी पढ़ें : दोस्‍तों के लिए क्रिसमस उपहार]

 

फैट और सॉल्‍टी को कहें न

बाजार के फैट और नमक से भरपूर खाने की जगह घर पर ही बनाए बीटरूट डिप और एक कटोरी सूखे मेवों को अपने आहार में शामिल किया जा सकता है।

 

 

मेन कोर्स

चिकन की अगर ऊपरी परत उतारी गयी हो तो उसमें अतिरिक्‍त वसा नहीं रह जाती। इसमें प्रोटीन की प्रचुर मात्रा होती है। इसे बनाते हुए अधिक घी या तेल का उपयोग नहीं करना चाहिए। इसके साथ ही टर्की नाम के एक पक्षी से बनी डिशेज भी इस मौके पर परंपरागत रूप से खाई जाती हैं। इसमें अमीनो एसिड होता है। रोस्‍टेड टर्की खाने से परहेज करना चाहिए। खासतौर पर अगर इसे पारंपरिक रूप से रोस्‍ट किया गया हो। हालांकि, भारत में यह आमतौर पर नहीं मिलता।

 

 

सब्जियां हों भरपूर

पारंपरिक क्रिसमस भोजन में मीट का होना जरूरी माना जाता है, जिनकी जगह सब्जियां खाई जा सकती हैं। अगर आप मीट खाना ही चाहते हैं तो आप मीट की मात्रा में कमी कर उसकी भरपाई सब्जियों से कर सकते हैं। हरी पत्तेदार सब्जियां इस मौसम में बहुतायत में पाई जाती हैं। उन्‍हें स्‍टीमिंग के बाद इस्‍तेमाल किया जा सकता है।

 

[इसे भी पढ़ें : क्रिसमस ट्री और आपका स्‍वास्‍थ्‍य]

 

 

कम करें मात्रा

पारंपरिक क्रिसमस डिनर में शर्करा और फैट की मात्रा काफी होती है। इनसे बचने के लिए आप इनकी कम मात्रा का सेवन करें, तो ही बेहतर। इसके साथ ही सेहत के लिए नुकसानदेह सॉस की जगह आप पौष्टिक और सेहतमंद तेल का इस्‍तेमाल करें।

 

 

ड्रिंक्‍स

क्रिसमस पार्टी का अहम हिस्‍सा होती हैं ड्रिंक्‍स। तो, यहां इस बात का ध्‍यान रखें कि आप इसमें भी न सिर्फ अपनी बल्कि मेहमानों की सेहत को भी नजरअंदाज न करें। इसके लिए आपको चाहिए कि काफी मात्रा में नॉन-अल्‍कोहलिक ड्रिंक्‍स शामिल करें। ताजा फलों का जूस, बादाम शेक, मिल्‍क शेक आदि इन ड्रिंक्‍स का विकल्‍प बन सकते हैं। इससे उन लोगों को भी राहत मिलेगी जो अल्‍कोहल का सेवन नहीं करते हैं। हां, इस पूरी कवायद में पानी को दरकिनार करना न भूलें।

 

याद रखें कि पार्टी में ज्‍यादा खाने से बचें। अपने भोजन को लेकर एक संतुलन बनाए रखें।

 

Image Source - Getty Images

Read More Articles on Festival Special in Hindi.

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES1685 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर