वजन कम करने में बेहद मददगार है ग्रीन कॉफी

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 20, 2014
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • ग्रीन कॉफी में मिलने वाला कोलोरोजेनिक एसिड घटाता है वजन ।
  • मूड सुधारने में भी मददगार होती है ग्रीन कॉफी।
  • मेटाबॉलिज्‍म में भी सुधार करता है कोलोरोजे‍निक एसिड ।
  • जरूरत पड़ने पर डॉक्‍टर की मदद भी ली जा सकती है।

कॉफी का घूंठ आपकी थकान को दूर करने में मदद करता है। एक ओर जहां कॉफी को उसके गुणों के लिए काफी पसंद किया जाता है, वहीं कुछ लोग इसमें मौजूद कैफीन को सेहत के लिए अच्‍छा नहीं मानते। लेकिन, वजन कम करने के लिए ग्रीन कॉफी के सत्‍त को बहुत उपयोगी माना जाता है। विशेषज्ञ भी इसे बहुत फायदेमंद मानते हैं। ग्रीन कॉफी में मौजूद क्‍लोरोजेनिक एसिड मेटाबॉलिज्‍म को बेहतर बनाता है और इससे वजन कम करने में मदद मिलती है। इसलिए, ग्रीन कॉफी के बीजों के सत्‍त वजन कम करने के नये और कारगर हथियार के रूप में सामने आ रहे हैं। अगर फिर भी आपके मन में कुछ दुविधा है, तो कुछ शोध उन दुविधाओं का अंत कर सकते हैं।

Green Coffee In Hindi

 

क्‍या कहते हैं शोध

कई शोध  कोलोरोजेनिक एसिड के मेटाबॉलिज्‍म पर पड़ने वाले सकारात्‍मक प्रभावों की पुष्टि करते हैं। ये शोध बताते हैं कि कैसे  कोलोरोजेनिक एसिड वजन कम करने में मददगार साबित हो सकता है। 2012 में डायबिटीज मेटाबॉलिक सिंड्रोम एंड ओबेसिटी: टारगेट एंड थेरेपी के अनुसार ग्रीन कॉफी के सत्‍त वजन कम करने की चाह रखने वाले लोगों के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं ।



इस शोध में प्रतिभागियों को दो सप्‍ताह तक ग्रीन कॉफी के बीजों के सत्‍त की काफी अधिक मात्रा, दो सप्‍ताह तक कम मात्रा और दो सप्‍ताह तक प्‍लेसबो का सेवन करने को कहा गया। हर डोज के बीच दो सप्‍ताह का ब्रेक दिया गया। इस बीच प्रतिभागियों ने किसी भी प्रकार के सप्‍लीमेंट का सेवन नहीं किया। शोध के परिणामों में स सामने आया कि ग्रीन कॉफी के सत्‍त से वजन कम करने में काफी मदद मिली। इसके साथ ही बॉडी मॉस इंडेक्‍स और बॉडी फैट परसेंटेज में भी गिरावट दर्ज की गयी। इतना ही नहीं हृदय गति में भी आवश्‍यक कमी दर्ज की गयी। प्रतिभागियों के आहार और व्‍यायाम के स्‍तर और समय में कोई कमी नहीं की गयी। हालांकि यह बदलाव उस समय नजर आए, जब प्रतिभागी ग्रीन कॉफी का सेवन कर रहे थे।



वजन कम होने का सबसे महत्‍वपूर्ण कारणर  कोलोरोजेनिक एसिड की स्‍टार्च से शर्करा अवशोषण के गुण को माना जा रहा है। इसके साथ ही यह एसिड वसा के संयोगिकों का भी अच्‍छी तरह अवशोषण कर लेता है। इससे चर्बी कम होने लगती है।

 

Green Coffee In Hindi

 

अन्‍य लाभ

इसके अलावा कोलोरोजेनिक एसिड आपके मूड को भी अच्‍छा बनाने में मदद करता है।  साइकोफॉर्मेसी के एक शोध में यह बात सामने आई। 2012 में हुए इस शोध के मुताबिक कैफीनयुक्‍त और कैफीन रहित दोनों ही कॉफी, जिनमें कोलोरोजेनिक एसिड होता है मूड को सकारात्‍मक बनाने में मदद करती है। अधिक उम्र के लोगों के लिए यह खासतौर पर बहुत मददगार होती है। हालांकि कैफीनरहित कॉफी जिसमें कोलोरोजेनिक एसिड की सामान्‍य मात्रा हो, वह मनोदशा पर कोई अधिक प्रभाव नहीं डालता।


क्‍या मुझे सेवन करना चाहिये

कई बार ऐसा भी देखा जाता है कि कुछ उत्‍पादों में ग्रीन कॉफी के सत्‍त की जो मात्रा लिखी गई होती हे, वास्‍तव में उतनी मात्रा होती नहीं है। तो इसलिए अगर आप ग्रीन कॉफी के बीजों के सत्‍त के विकल्‍प तलाश रहे हैं, तो बेहतर है कि किसी एक उत्‍पाद पर ही भरोसा न करें। बाजार में मौजूद अलग-अलग विकल्‍पों को जांचें। आप किसी डॉक्‍टर से भी बात कर सकते हैं।


और अगर एक बार आप पूरी तरह से संतुष्‍ट हो जाएं कि यह उत्‍पाद आपके लिए फायदेमंद हैं, तो आप अपने रोजमर्रा के जीवन में इस्‍तेमाल कर सकते हैं। और पा सकते हैं उस अतिरिक्‍त चर्बी से छुटकारा।

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES57 Votes 10745 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर