गर्भावस्था के दौरान उपवास

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 21, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

garbhavastha ke dauran upwas in hindi

गर्भावस्था के समय महिलाओं की खुराक बहुत महत्वपूर्ण होती है। संतुलित और पूर्ण खुराक न लेने पर गर्भवती को उच्च या निम्न रक्तचाप और अत्यधिक दुर्बलता की शिकायत हो सकती है। मधुमेह होने पर खुराक का और भी खास ध्यान रखना पड़ता है। गर्भस्थ शिशु की आवश्यकताएं पूरी करने के लिए मां को दिन में बीच-बीच में कुछ न कुछ खाते रहना चाहिए। लेकिन जब बात हो गर्भावस्था के दौरान उपवास की तो डॉक्टर्स आमतौर पर गर्भवती महिला को उपवास न करने की सलाह देते हैं। फिर भी यदि महिला उपवास करना चाहती है तो उसे अतिरिक्त देखभाल और पोषक तत्वों की आवश्यकता पड़ती है। आइए जानें गर्भावस्था के दौरान उपवास करने पर क्या करें, क्या न करें।

 

  • यदि गर्भवती मां में खून की कमी है तो उन्हें उपवास के दौरान लौह तत्व युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन अधिक मात्रा में करना चाहिए।
  • गर्भवती मां एक समय के खाने का उपवास कर सकती हैं, और उसे खाने में विटामिन से भरपूर हरी पत्तियों वाली सब्जियों का सेवन करना चाहिए।
  • शिशु और मां दोनों को ही कैल्शियम की जरूरत होती है, ऐसे में दूध दिन में दो-तीन बार पीना चाहिए। दूध कैल्शियम का अच्छा स्रोत है।
  • उपवास के दौरान यदि गर्भवती महिला उबला हुआ या कम सादा भोजन करेंगी तो उनकी सेहत के लिए अच्छा है यानी अधिक मसाले और नमक से भरपूर खाने को कम ही खाना चाहिए।
  • व्रत करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें और डॉक्टर के मना करने पर व्रत न करें।
  • उपवास के दौरान भी गर्भवती को डॉक्टर के दिशा-निर्देशों पर दी गई दवाईयों का सेवन निरंतर करना चाहिए।
  • गर्भवती महिला उपवास के दौरान, सामग की खीर या पनीर इत्यादि इसी तरह के व्यंगनों का सेवन कर सकती है जो कि नुकसान नहीं देंगे और पोषक तत्वों की पूर्ति भी करेंगे।
  • उपवास के दौरान गर्भवती महिलाओं को खासकर बाहर की बनी चीजें नहीं खानी चाहिए, जब भी उपवास के लिए कोई खाने की चीज खरीदें तो पैक्ड लें और उसकी एक्सपायरी जरूर चेक कर लें।
  • गर्भावस्था के दौरान निर्जल उपवास न रखें। इससे शरीर में पानी की कमी हो जाती है और अपशिष्ट पदार्थ शरीर के बाहर नहीं आ पाते। इससे पेट में जलन, कब्ज, संक्रमण, पेशाब में जलन जैसी कई समस्याएं पैदा हो सकती हैं। 
  • एक साथ खूब सारा पानी पीने के बजाए दिन में कई बार नींबू पानी पिएं, नारियल पानी या फलों का जूस लें।
  • गर्भवती महिलाएं व्रत के दौरान चाय, कॉफी का सेवन बहुत अधिक न करें।
  • उपवास के दौरान गर्भवती महिलाओं को अत्यधिक तला हुआ भोजन नहीं करना चाहिए।

    इन टिप्स को अपनाकर गर्भवती महिलाएं गर्भावस्था के दौरान उपवास रखने के बावजूद न तो कमजोरी महसूस करेंगी और संतुलित-पौष्टिक भोजन की आपूर्ति भी कर लेंगी।
Write a Review
Is it Helpful Article?YES1 Vote 12529 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर