पाटी ट्रेनिंग की एबीसी

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 13, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

अधिकांश माता पिता को लगता हैं, की समय आने पर उनके बच्चे नें शौचासन प्रशिक्षण कुशलता से करना चाहिए। लंगोट बदलने के कार्य के अंत के सिवाय ऐसा सोचने का कोई अन्य कारण नही है। शौचासन प्रशिक्षण देने के सही समय के बारे में कोई नियम नही हैं, और आपको कई कारकों को विचार में लेने की जरुरुत हैं। आपको शौचासन प्रशिक्षण की कुछ मूल बातें पता होनी चाहिए जिससे कि आपके बच्चे को आपके दिये निर्देशों को अपनाने में आसानी होगी।


क्या आपका बच्चा तैयार है?

 
आपको अपने बच्चे को शौचासन प्रशिक्षण देने की जल्दी करने की जरूरत नहीं है। कुछ बच्चें इसके लिए 2 साल की उम्र मे ही तैयार हो जाते हैं जबकि दूसरों को ज्यादा समय की जरूरत होती है, जब तक वे 4 साल के होते हैं। कुछ लक्षण जैसे बच्चे बड़ों की नकल करने की कोशिश करते हैं।
 
क्या आपके पास सही उपकरण है?
 
इसका अर्थ है, आपके पास आपके बच्चे के लिए सही आकार का शौचासन है या आपके नियमित टॉयलेट सीट पर योग्य आसन अनुलग्नक है। अपका बच्चा उसके आंत्र आंदोलनों के अनुसार जोर देने के लिए सही स्थिती में बैंठा है, यह सुनिश्चित करे।
 
आपके बच्चे की दिलचस्पी बनाए
 
आप अपने बच्चे को उसका मन शौचासन प्रशिक्षण के लिए तैयार करना चाह सकते है। अगली बार जब वह अपने  लंगोट में मलत्याग करता है, उसे नियमित शौचासन सीट के पास ले जाए और उसका मल कहाँ जाता है दिखाए। इससे उसे वहाँ बैठना और उसके लिए उचित आंत्र आंदोलनों के बीच के संबंध का एहसास होगा। उसे उसके मल को शौचालय में फ्लश करने दे, और उसे अगली बार उसके उपयोग करने की दिशा में प्रोत्साहित करने में मदद कर सकते हैं।
 
लंगोट का उपयोग नहीं करे
 
अपने बच्चे को लंगोट के बिना शौचालय सीट पर बिठाये। उसे बताओ कि वह बड़ा हो गया है और ऐसा बड़ें करते है। उसे यह विचार नया लगेगा और सीट पर बैंठना शुरू कर सकता हैं। उसे ऐसा बार - बार करने के लिए दाबाव ना डाले। उसे इस विचार को इस्तेमाल में धीरे धीरे लाने दे।

असफलताओं पर गुस्सा ना करे
 
शौचालय का उपयोग करना सीखने के लिए आपका बच्चा अपना खुद का समय लेना यह स्वाभाविक बात है। वह उससे रात और दिन में स्वतंत्र रुप से परिचित होने के लिए प्रशिक्षित होने जा रहा है, अर्थात मूत्राशय और गुदा पर नियंत्रण रखना, इसलिए अगर कोई अप्रत्याशित घटना घटती हैं, तो उसे डांटे बिना उसे साफ करे और अगली बार उसे शौचासन का उपयोग करने को कहने की कोशिश करे।

Write a Review
Is it Helpful Article?YES4 Votes 12583 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर