कोरोनावायरस से आपको भी हो रही है टेंशन? ये दो योगासन रिलीज कर देंगे आपका सारा स्ट्रेस

तनाव दूर करने के लिए योग एक बेहतरीन उपाय है। यहां दो योग आसन हैं, जो कोरोनावायरस महामारी के बीच आपके मन और शरीर को शांत करने में मदद कर सकते हैं

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Mar 19, 2020
कोरोनावायरस से आपको भी हो रही है टेंशन? ये दो योगासन रिलीज कर देंगे आपका सारा स्ट्रेस

वैश्विक स्तर पर, कोरोनावायरस के मामलों की संख्या 200,000 से अधिक हो गई है और 157 देशों में 8,000 से अधिक मौतें हुई हैं। लगातार बढ़ रहे मामलों ने दुनिया भर के लोगों में दहशत पैदा कर दी है। स्वास्थ्य विशेषज्ञ लोगों से शांत रहने और कोरोनावायरस से बचने के लिए स्थापित एहतियाती उपायों का पालन करने का आग्रह कर रहे हैं। पर कोरोनोवायरस के बारे में हर जगह से जिस तरह से सुर्खियां आती जा रही हैं, ऐसे में लोगों को तनाव महसूस हो रहा है। इसके अलावा, सोशल मीडिया पर कोरोना को लेकर फैली अफवाहें लोगों को मानसिक तौर पर परेशान कर रही हैं। आपको संभवतः अपने आस-पास के लोगों से बहुत अधिक अवांछित सलाह और सुझाव भी मिल रहे होंगे। ये सभी डर और तनाव पैदा कर सकते हैं। इसलिए अभी सबसे जरूरी चीज है किसी भी तरह से मानसिक तनाव को कम किया जाए। ऐसे में योग शरीर और मस्तिष्क दोनों में तनाव को कम करने का एक शानदार तरीका हो सकता है। आइए जानते हैं कुछ ऐसे योगासन के बारे में जिसकी मदद से आप अपने आप को शांत कर सकते हैं।

insideeaglepose

ईगल पोज (गरुड़ासन)

यह मुद्रा आपके दिमाग को एक बिंदु पर केंद्रित करेगी, जो तनाव को एक सीमा तक रोकने का एक शानदार तरीका हो सकता है। इसके अलावा, यह कंधों और कूल्हों में जकड़न को कम करने में मदद करता है, जिससे तनाव और तनाव हो सकता है। जो लोग कोरोनावायरस के वक्त में वर्क फॉर्म होम कर रहे हैं उनके लिए ये बेहद अच्छा योग है। जहां यह कंधों और कूल्हों में दर्द  को ठीक कर सकता है, वहीं ये दिमाग को एक अलग सी शांति भी दे सकता है। आइए जानते हैं इसे करने के सही तरीके के बारे में।

इसे भी पढ़ें: Morning Yoga: इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत कर वायरल और बैक्‍टीरियल संक्रमणों से बचाते हैं ये 4 योगासन

ईगल पोज (गरुड़ासन) का तरीका

  • -योग मैट पर सीधे खड़े हो जाएं।
  • -धीरे-धीरे दाएं घुटने को नीचे की तरफ झुकाएं। 
  • -बाएं पैर को दाएं पैर के चारों तरफ लपेटने की कोशिश करें। 
  • -पैरों की एड़ियां एक-दूसरे के ऊपर आ जाएंगी। 
  • -दोनों हाथों को कंधे की ऊंचाई तक उठाएं।
  • -दाएं हाथ को बाएं के चारों तरफ लपेट दें। 
  • -इस दौरान आपकी कुहनियां 90 डिग्री के कोण पर मुड़ी हुई रहेंगी। 
  • -बैलेंस बनाते हुए हिप्स को धीरे-धीरे नीचे की तरफ लाएं। 
  • -15-30 सेकेंड के लिए इसी स्थिति में रहें। 
  • -सांस गहरी और धीमी गति से लेते और छोड़ते रहें। 
  • -आंखें बंद करके तीसरी आंख पर फोकस करने की कोशिश करें। 
  • -निगेटिव ख्यालों को अपने मन से दूर फेंकने बात बार-बार मन में कहें। 
  • -धीरे-धीरे सामान्य स्थिति में आएं। 
insidesuptbandhasan

इसे भी पढ़ें: योगासनों से पहले क्यों जरूरी है पद्मासन? जानें इसका सही तरीका और स्वास्थ्य लाभ

रेकल्ड बाउंड एंगल पोज (सुप्त कोनसाना)

यह कूल्हों, आंतरिक जांघों और कमर को फैलाने में मदद कर सकता है। जब हम एक ही स्थान पर बैठे रहते हैं, तो ऐसे में जो शारीरिक और मानसिक तनाव होता है उससे भी ये सुप्त कोनसाना हमें बचा सकता है। ये हिप्स एवं पेडु में मौजूद तनाव को दूर करने के लिए यह उत्तम व्यायाम होता है। वहीं आप इसे काम के बीच-बीच में भी कर सकते हैं, जिससे कि इस आसन से जंघाओं को रिलैक्स मिलता है। पैरो में दर्द एवं थकान की स्थिति में इस आसन का अभ्यास लाभप्रद होता है।  इसे करने के लिए

  • -शवासन की मुद्रा में पीठ के बल लेट जाएं।
  • -बांहों को शरीर के दोनों तरफ पैर की दिशा में फैलाकर रखें और इस स्थिति में हथेलियां छत की दिशा में रहनी चाहिए।
  • -घुटनो को मोड़ें और तलवों को जमीन से लगाकर रखें।
  • -दोनों तलवों को नमस्कार की मुद्रा में एक दूसरे के करीब लाकर जमीन से लगाएं।
  • -जितना संभव हो ऐड़ियों को जंघा की ओर करीब लाएं।
  • -फिर इस मुद्रा में 30 सेकेण्ड से 1 मिनट तक बने रहें और फिर हाथों से दोनो जंघा को दबाएं।
  • -फिर धीर धीरे सामान्य स्थिति में लौट आएं।

Read more articles on Yoga in Hindi

Disclaimer