Covid-19 : शॉर्ट वीडियो बनाकर लोगों को जागरूक कर रहा है WHO, जानें मास्क पहनने और इसके डिस्पोजल का सही तरीका

डब्ल्यूएचओ के वीडियो उन महत्वपूर्ण चरणों के बारे में जानकारी प्रदान करते हैं, जो हम खुद को और एक दूसरे को बचाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Mar 30, 2020
Covid-19 : शॉर्ट वीडियो बनाकर लोगों को जागरूक कर रहा है WHO, जानें मास्क पहनने और इसके डिस्पोजल का सही तरीका

दुनिया भर में लगभग 3 बिलियन लोग अब लॉकडाउन में हैं और किसी न किसी तरह कोरोनावायरस के प्रसार को रोकने में मदद कर रहे हैं। वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) कोरोना से पूरी दुनिया को बचाने के लिए हर संभव कोशिश कर रही। कोरोनावायरस से जुड़े सही जानकारियों को लोगों तक पहुंचाने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन लगातार अलग-अलग तरीकों को अपना रही है। इसी कड़ी में हाल ही में डब्ल्यूएचओ ने अपनी साइट पर कोरोना से जुड़े प्रश्नों के ऊपर शॉर्ट वीडियो की एक श्रृंखला शुरू की है। ये वीडियो हमें कई तरह से जागरूक बनाने में मदद कर सकते हैं वहीं कोरोना से जुड़े कई भम्रों को खत्म भी कर रहे हैं। आइए आज हम डब्ल्यूएचओ से जुड़े इन वीडियो के बारे में जानते और इसे देखते हैं, जो कोराना से जुड़े हमारे कई सवालों के जवाब हो सकते हैं।

insidehowtowearmask

लोगों के निकट संपर्क से बचकर 1 मिटर की दूरी पर क्यों रहें?

कोरोनोवायरस के प्रसार को रोकने में मदद करने के लिए हम कई उपाय कर सकते हैं। लेकिन इस समय सोशन डिस्टेंसिक के लिए ज्यादा कहा जा रहा। वहीं आपने सोचा है कि एक मिटर की ही मिनिमम दूरी पर लोगों से दूर रहने के लिए क्यों कहा जा रहा है? विश्व स्वास्थ्य संगठन का ये विडियो इन्हीं चीजों को जवाब देता है। दरअसल कोरोनावायरस लोगों के सांस से जुड़ी परेशानियों और लंग्स से जुड़ा संक्रमण है, इसलिए ये थूक और लोगों के मुंह से निकलने वाले एयर ड्रोपलेट्स से फैल रहा है। जब कोई व्यक्ति खुले में या अगर हवा में छींकता है तो वो ड्रोपलेट्स अधिकतम 1 मिटर की दूरी तक जा सकतें है, इसलिए लोगों को एक दूसरे से 1 मिटर की दूरी बनाकर रहने के लिए कहा जा रहा है। वहीं अगर यही ड्रोपलेट्स सहतों पर रूक जाए और किसी और के हाथों तक पहुंच जाएं और वो व्यक्ति अपने चहरे और मुंह को उन्हीं हाथों से छू ले तो उसे कोरोना हो सकता है। इसलिए सतहों को छिंक और सांस की बूंदों से बचाने के लिए खांसी-जुकाम वाले लोगों को मास्क पहनने का सुझाव दिया जा रहा है। यह वीडियो बताता है कि बुखार, खांसी या अन्य श्वसन लक्षणों वाले किसी व्यक्ति के साथ निकट संपर्क से बचना कितना महत्वपूर्ण है।

इसे भी पढ़ें: धूम्रपान करने वालों में तेजी से फैलता है कोरोना, जानें कौन हैं वे लोग जो बन सकते हैं कोरोना के आसान शिकार

मास्क कैसे पहनना है और उसका डिस्पोजल कहां करें?

कोरोनावायरस को महामारी घोषित किए जाने के बाद से सुरक्षात्मक मास्क की बिक्री में वृद्धि हुई है। पर मास्क को पहनने का सही तरीका क्या है?, आपका एक मास्त कब तक सही है और अगर आपको उसका डिस्पोजल करना है तो आप कहां करेंगे? इन तमाम सवालों का जवाब डब्ल्यूएचओ ने अपने इस वीडियो में दिया है। वीडियो में बताया गया है कि अगर आप मेडिकल मास्क पहन रहे हैं, जो कि फ्लैट होते हैं तो उनके किल्प पर ध्यान दें, वो आपके नाक के हड्डियों पर लगना चाहिए। फिर नीचे से खींचते हुए पूरा मुंह ढंक लें। ध्यान देने वाली बात ये है कि मास्क पनने से पहले भी हाथ साफ कर लें और मास्क पहनने के बाद भी। वहीं अपने मास्का बार-बार छूने से बचें नहीं तो वो आपके हाथ से लग-लग कर संक्रमित हो सकता है। अगर आपका मास्क गीला या गंदा सा लग रहा है तो उसे कॉल्सड डस्टबिन में फेंके। एक बार इस्तेमाल किए मास्क को बार-बार इस्तेमाल करें। 

इसे भी पढ़ें: कहा जा रहा है छींकते समय कोहनियों पर प्रयोग करें, मगर कपड़ों पर कोरोना वायरस कितनी देर जिंदा रह सकता है?

अपनी और दूसरों की रक्षा करना

अपने हाथों को ध्यान से धोने और इस्तेमाल किए हुए टिशू के डिस्पोजल का खास ख्याल रखें। डब्ल्यूएचओ की मानें, तो कोरोनोवायरस से खुद को बचाना भी लोगों को बचाने जैसा है। अगर आपको खांसी-जुकाम है या बुखार है तो डॉक्टर से संपर्क जल्दी करें। वहीं खुले में छींकने से बचें। अगर आपको छींक आ रही है, तो अपने हाथों को मोड़कर, कोहनी में छींकें। वही सही तरीका ये है कि आप टिशू पेपर में छींके और इसे एक बंद डस्टबिन में फेंकें। इसलिए ध्यान रखें कि अपने हाथ को लगातार पानी और साबुन से धोएं या फिर एल्कोहल वाले सेनिटाइजर से हाथ को सेनिटाइज करते रहें।

Read more articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer