कोरोना वायरस को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने घोषित किया 'ग्लोबल हेल्थ इमरजेन्सी', 10,000 पार हुई मरीजों की संख्या

कोरोनावायरस को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 'ग्लोबल हेल्थ इमरजेन्सी' घोषित कर दिया है। भारत सहित ये वायरस 18 देशों में फैल चुका है।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Jan 31, 2020Updated at: Feb 05, 2020
कोरोना वायरस को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने घोषित किया 'ग्लोबल हेल्थ इमरजेन्सी', 10,000 पार हुई मरीजों की संख्या

कोरोना वायरस दुनियाभर के हेल्थ एक्सपर्ट्स के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। इस वायरस से प्रभावित एक मरीज की पुष्टि भारत में भी की जा चुकी है। चीन में अब तक कोरोना वायरस के कारण 213 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 30 से ज्यादा देशों में इस वायरस के फैलने की संभावना जताई जा रही है। दुनियाभर में अब तक कोरोना वायरस के 10,000 के लगभग कंफर्म मामले सामने आ चुके हैं। इन्ही सब बातों को मद्देनजर रखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) यानी WHO ने कोरोना वायरस को 'ग्लोबल इमरजेन्सी' (Global Emergency) घोषित कर दिया है।

coronavirus-global-emegency

एक से दूसरे व्यक्ति में तेजी से फैल रहा है वायरस

कोरोना वायरस को ग्लोबल इमरजेन्सी घोषित करने का मुख्य कारण यह है कि ये वायरस एक इंसान से दूसरे इंसान में तेजी से फैल रहा है। चीन में इस वायरस की शुरुआत लगभग 1 महीने पहले हुई थी। इसके बाद से ये 10 से ज्यादा देशों में अपने पांव पसार चुका है। हर दिन इस वायरस की चपेट में आने वालों की संख्या हजारों में बढ़ रही है। WHO के अधिकारियों ने इस बात पर चिंता जताई है कि ये वायरस अगर उन देशों में पहुंचता है जहां हेल्थ केयर सिस्टम कमजोर है, तो लाखों लोगों को प्रभावित कर सकता है और हजारों की जान ले सकता है।

इसे भी पढ़ें: कोरोनावायरस के 'हाई रिस्क' वाले 30 देशों की लिस्ट में भारत भी शामिल, दुनियाभर में 6000 से ज्यादा आए मामले

18 देशों में फैल चुका है वायरस

 

WHO के अनुसार कोरोना वायरस दुनिया के 18 देशों में फैल चुका है और चीन से अलग इसके 83 मरीज पाए गए हैं। हैरानी और चिंता की बात ये है कि इनमें से 7 मरीज ऐसे हैं, जिन्होंने हाल में चीन की यात्रा भी नहीं की है। गुरूवार 30 जनवरी को भारत के केरल में भी एक व्यक्ति के कोरोनावायरस से प्रभावित होने की पुष्टि की गई है।

इसे भी पढ़ें: क्या है कोरोनावायरस? कहां से फैला, लक्षण और कितना है खतरनाक, जानें वायरस से बचाव के उपाय

सामूहिक बैठक में लिया गया निर्णय

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अपने ऑफिशियल वेबसाइट पर कोरोना वायरस को Public Health Emergency of International Concern (PHEIC) बताया है। WHO के अनुसार इस वायरस के अब तक 7711 कंफर्म मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 12167 मरीज अभी भी संदिग्ध हैं। कोरोनावायरस की चपेट में आने वाले कंफर्म मरीजों में 1370 की हालत गंभीर बताई जा रही है, जबकि 170 की पहले ही मौत हो चुकी है। वहीं सुकून की बात ये है कि 124 लोग ऐसे भी हैं, जिन्हें इस वायरस की चपेट में आने के बाद रिकवर कर लिया गया है और अस्तपाल से डिस्चार्ज कर दिया गया है।

Read more articles on Health News in Hindi

Disclaimer