ऊनी कपड़े पहनने से पीठ पर हो गए हैं लाल दाने? ऐसे करें इलाज

Wool Rash Treatment: सर्दि‍यों में शरीर को गरम रखने वाले ऊनी कपड़े त्‍वचा के दुश्‍मन बन सकते हैं। इनसे पीठ पर होने वाले दानों का इलाज जान लें। 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Jan 18, 2023 15:02 IST
ऊनी कपड़े पहनने से पीठ पर हो गए हैं लाल दाने? ऐसे करें इलाज

Wool Rash in Skin: ठंड के द‍िनों में ऊनी कपड़ों के फैब्र‍िक से त्‍वचा पर दाने और रैशेज हो जाते हैं। ये दाने जैसे ही कपड़ों के संपर्क में आते हैं, तेज दर्द उठता है। ठंड के द‍िनों में ऊनी कपड़े पहनने से होने वाले दाने ज्‍यादातर पीठ पर नजर आते हैं। पीठ पर दानों को आसानी से न देख पाने के कारण उनका इलाज करना थोड़ा मुश्‍क‍िल हो जाता है। ऐसे में संक्रमण बढ़ सकता है। कुछ लोगों को ऊनी कपड़ों से एलर्जी होती है, इस कारण से पीठ पर दाने नजर आते हैं। ऊनी कपड़ों को ठीक से न साफ कर पाने के कारण भी पीठ पर दाने उभर सकते हैं। ऊनी कपड़ों के अलावा ठंड के द‍िनों में गरम चादर, कंबल या रजाई में सोने के कारण भी पीठ पर दानों की समस्या हो सकती है।  इसका इलाज करने के ल‍िए कुछ आसान घरेलू उपायों की मदद ले सकते हैं। इन उपायों के बारे में आगे जानेंगे।

aloevera treatment

1. एलोवेरा का इस्‍तेमाल करें 

ऊनी कपड़ों के कारण होने वाली एलर्जी का इलाज करने के ल‍िए एलोवेरा का इस्‍तेमाल करें। एलोवेरा में एंटीबैक्‍टीर‍ियल और एंटीफंगल गुण मौजूद होते हैं। एलोवेरा को प्रभाव‍ित क्षेत्र पर लगाकर छोड़ दें। आधे घंटे बाद साफ पानी से त्‍वचा को धो लें। बाजार में म‍िलने वाले एलोवेरा जेल में केम‍िकल्‍स म‍िले होते हैं ज‍िससे त्‍वचा को नुकसान हो सकता है। एलोवेरा के पौधे से न‍िकलने वाले ताजे जेल का ही इस्‍तेमाल करें। अगर प्राकृत‍िक जेल आपको सूट नहीं करता, तो एंटीसेप्‍ट‍िक क्रीम में एलोवेरा जेल म‍िलाकर लगा सकते हैं।      

2. मुल्‍तानी म‍िट्टी का प्रयोग करें 

पीठ के दानों को ठीक करने के ल‍िए मुल्‍तानी म‍िट्टी का इस्‍तेमाल करें। एक बाउल में मुल्‍तानी म‍िट्टी और पानी को म‍िलाकर पेस्‍ट तैयार करें। स पेस्‍ट को प्रभाव‍ित क्षेत्र पर अच्‍छी तरह से लगा लें। मुल्‍तानी म‍िट्टी की तासीर ठंडी होती है इसल‍िए इसे सुबह या द‍िन के समय लगाएं ज‍िससे आपको ठंड न लगे। मुल्‍तानी म‍िट्टी की मदद से खुजली और दानों में होने वाली जलन से भी छुटकारा म‍िलेगा। 

इसे भी पढ़ें- Winter Tanning: सर्दियों की टैनिंग दूर करेगा कोकोनट म‍िल्‍क, जानें इस्‍तेमाल का तरीका

3. आंवले का पानी पी लें  

  • पीठ के दानों का इलाज करने के ल‍िए आंवले का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। 
  • आंवले को छोटे टुकड़ों में काट लें। 
  • बर्तन में पानी भरकर टुकड़ों को डालें।
  • रातभर आंवले को भ‍िगोकर रखें।
  • अगली सुबह आंवले को मैश करें। 
  • इस म‍िश्रण को ग‍िलास में छाने और पी लें। 
  • आंवले का पानी पीने से दाने और रैशेज जैसे लक्षण दूर होते हैं और इंफेक्‍शन का इलाज होता है।

4. आलू का इस्‍तेमाल करें 

  • आलू की पतली स्‍लाइस काट लें। 
  • आलू को 10 म‍िनट के ल‍िए फ्र‍िज में रख दें। 
  • फ‍िर टुकड़ों को दाने वाले ह‍िस्‍से में लगाएं। 
  • इस प्रक्र‍िया को दो से तीन बार दोहराएं। 
  • आलू के रस से दर्द और चुभन से छुटकारा म‍िलेगा। 
  • इस उपाय का इस्‍तेमाल भी ठंड को देखते हुए द‍िन के समय ही करें।

5. दही और नीम 

दही में नीम म‍िलाकर त्‍वचा पर लगाने से संक्रमण ठीक होता है। ऊनी कपड़ों के कारण पीठ पर दाने हो गए हैं, तो च‍िंता न करें। दही में नीम का पाउडर म‍िलाएं। इन दोनों में एंटीबैक्‍टीर‍ियल गुण होते हैं ज‍िससे संक्रमण का इलाज होता है। दही और नीम के म‍िश्रण को दानों पर लगाकर छोड़ दें। 30 म‍िनट बाद पानी से त्‍वचा को साफ कर लें। 

Wool Rash Treatment: ऊनी कपड़ों का इलाज करने के ल‍िए दही, नीम, आलू, एलोवेरा जेल, मुल्‍तानी म‍िट्टी और आंवले का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।   

Disclaimer