छोटे बच्चों के लिए साउथ इंडियन डिशेज कैसे होती हैं फायदेमंद

छोटे बच्चों के लिए साउथ इंडियन खाना खिलाना काफी फायदेमंद होता है। ये इन तरीकों से छोटे बच्चे के लिए काफी लाभकारी होते हैं। 

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: Aug 19, 2022Updated at: Aug 19, 2022
छोटे बच्चों के लिए साउथ इंडियन डिशेज कैसे होती हैं फायदेमंद

छोटे बच्चों के खानपान को लेकर काफी सजग रहते हैं। क्योंकि बढ़ती उम्र में उन्हें वही खाद्य पदार्थ देने चाहिए, जो वे आसानी से पचा सके। अगर आप बच्चे को बहुत अधिक खाना खिला देते हैं, तो उनके लिए इसे पचा पाना काफी मुश्किल हो जाता है। ऐसे में छोटे बच्चों को पेट से जुड़ी कई समस्याएं हो सकती है। बढ़ती उम्र में उन्हें काफी हल्का और पौष्टिक खाना खिलाना बहुत जरूरी होता है ताकि उनका बेहतर शारीरिक विकास हो सके। इसी तरह साउथ इंडियन डिश आपके बच्चे के स्वास्थ्य के लिए काफी लाभकारी हो सकती है। क्योंकि इसमें तेल की काफी कम मात्रा इस्तेमाल की जाती है। साथ ही यह काफी हल्का होता है और इसे आसानी से पचाया जा सकता है। इसे आप एक साल के बच्चे को खिला सकते हैं। आइए छोटे बच्चों के लिए साउथ इंडियन डिश के फायदों के बारे में विस्तार से जानते हैं। 

1. हृदय स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद 

साउथ इंडियन डिश के सेवन से आपके बच्चे का इम्यून सिस्टम मजूबत होता है। दरअसल ज्यादातर साउथ इंडियन डिशेज में नारियल की चटनी और इमली का इस्तेमाल किया जाता है। नारियल के सेवन से बच्चे का इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। साथ ही यह मोटापा कम करने और हृदय स्वास्थ्य के लिए भी काफी लाभकारी होती है। इसे आप बच्चों को डोसा या इडली के साथ भी खिला सकते हैं। कोशिश करें कि साउथ इंडियन डिश घर पर ही बनाएं। इससे उन्हें ज्यादा पोषण मिल सकता है। 

south-indian-foods-beenfits-for-kids

2. प्रोटीन से भरपूर 

साउथ इंडियन खाना में सांभर और करी का सेवन भी बहुत अधिक किया जाता है। सांभर और करी में दाल और सब्जियों का इस्तेमाल किया जाता है, जो बच्चे के विकास के लिए बहुत जरूरी होता है। दरअसल दाल और सब्जियों में प्रोटीन, आयरन, कैल्शियम, विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते हैं। ये खाना बच्चे के लिए काफी हेल्दी हो सकता है। 

इसे भी पढें- सेहत के लिए क्यों हेल्दी माने जाते हैं साउथ इंडियन खाने? डायटीशियन से जानें साउथ इंडियन डिशेज के खास फायदे

3. खून की कमी दूर करे

छोटे बच्चे खाने-पीने को लेकर काफी बहाने बनाते हैं। ऐसे में पेरेंट्स को ये डर रहता है कि कहीं ठीक से न खाने के कारण पोषण अधूरा न रह जाए। ऐसे में आप अपने बच्चे को साउथ इंडियन डिश अप्पम खिला सकते हैं। अप्पम उड़द दाल से बनाई जाती है। उड़द दाल में भरपूर मात्रा में आयरन पाया जाता है, जो उनकी खून की कमी को पूरा कर सकता है। इसका बैटर डोसे की तरह दिखाई देता है। यह स्वाद में कुरकरा और टेस्टी होता है। इसे छोटे बच्चे भी बड़े चाव से खाते हैं। 

benefits-of-south-indian-foods-for-babies

4. इम्यून सिस्टम मजबूत बनाए

छोटे बच्चे को बीमारियों से दूर रखने के लिए उनका इम्यून सिस्टम मजबूत होना बेहद जरूरी है। इसके लिए आप उनकी डाइट में साउथ इंडियन फूड रसम शामिल कर सकते हैं। ये एक साउथ इंडियन सूप होता है। रसम में व‍िटाम‍िन ए, बी3, ज‍िंक, कॉपर, आयरन की अच्‍छी मात्रा पाई जाती है। इससे उनका पाचन तंत्र और इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है। 

ध्यान रखें- छोटे बच्चों के लिए साउथ इंडियन डिश बहुत फायदेमंद होती है लेकिन शुरुआत में अगर बच्चा साउथ इंडियन डिश नहीं खाता है या पचा नहीं पाता है, तो इसे बच्चे को बिल्कुल न खिलाएं। इसके अलावा अगर बच्चे को कोई खास परेशानी है, तो आप उन्हें साउथ इंडियन फूड खाने को न दें। बहुत छोटे बच्चे को भी ये खाने को न दें। 

(All Image Credit- Freepik.com)

Disclaimer