क्या साइकिल चलाना सभी के लिए फायदेमंद है? जानें किन लोगों को साइकिलिंग नहीं करनी चाहिए

Who Should Avoid Cycling: साइकिल चलाना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है, लेकिन सभी के लिए नहीं। जानें-किन लोगों को साइकिल नहीं चलानी चाहिए।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Jun 29, 2022Updated at: Jun 29, 2022
क्या साइकिल चलाना सभी के लिए फायदेमंद है? जानें किन लोगों को साइकिलिंग नहीं करनी चाहिए

सेहतमंद रहने के लिए स्वस्थ और संतुलित आहार जितना जरूरी है,  उतना ही जरूरी एक्सरसाइज करना भी है। गतिहीन जीवनशैली कई गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म दे सकती है। इसलिए शारीरिक रूप से सक्रिय रहना महत्वपूर्ण है। लेकिन बहुत से लोग जिम जाकर एक्सरसाइज करने के लिए समय नहीं निकाल पाते हैं। इसलिए कई लोग साइकिलिंग का विकल्प चुनते हैं। सेहतमंद रहने के लिए साइकिल  चलाना एक सरल और बेहद प्रभावी व्यायाम है। साइकिल चलाना आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। यह न सिर्फ आपको शारीरिक फिटनेस प्रदान करता है, बल्कि आपके मानसिक स्वास्थ्य को भी बेहतर बनाता है।

लेकिन क्या साइकिलिंग सभी लोगों के लिए फायदेमंद होती है? बेशक साइकिलिंग के स्वास्थ्य संबंधी अनेक लाभ हैं, लेकिन कुछ लोगों के लिए साइकिल चलाना परेशानी का सबब बन सकता है। इस लेख में हम जानेंगे किन लोगों को साइकिलिंग नहीं करनी चाहिए (Who Should Avoid Cycling In Hindi)।

Cycling Benefits

आइए पहले जानते हैं साइकिलिंग के कुछ स्वास्थ्य लाभ (Health Benefits Of Cycling In Hindi)

  1. दिल के लिए फायदेमंद है:  नियमित रूप से साइकिल चलाने से दिल को स्वस्थ रखने में मदद मिलती है। साथ ही ब्लड प्रेशर को कंट्रोल रखने, कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी मदद मिलती है, जिससे हार्ट अटैक और स्ट्रोक का जोखिम कम होता है।
  2. वजन प्रबंधन में मददगार है: साइकिलिंग करने से वजन घटाने में मदद मिलती है। यह मोटापे से ग्रस्त और शरीर का स्वस्थ वजन बनाए रखने की कोशिश करने वालों के लिए एक बेहतरीन व्यायाम है।
  3. दिमाग तेज होता है: साइकिल चलाने से मानसिक स्वास्थ्य भी बेहतर होता है। नियमित साइकिलिंग से चिंता, तनाव और अवसाद जैसी समस्याओं का जोखिम भी कम होता है। साइकिलिंग से हिप्पोकैम्पस में मस्तिष्क की नई कोशिकाओं के निर्माण में मदद मिलती है, जो आपकी मेमोरी को बेहतर बनाने के लिए जिम्मेदार होती हैं।
  4. मांसपेशियों और हड्डियों की ताकत बढ़ती है: साइकिलिंग से मांसपेशियां टोन और मजबूत होती हैं। इससे फैट और कैलोरी अधिक तेजी से बर्न होती हैं, साथ ही हड्डियों की ताकत भी बढ़ती है। इससे जोड़ों संबंधी समस्याओं का जोखिम कम होता है।
ये भी देखें:

किन लोगों को साइकिलिंग नहीं करनी चाहिए? (Who Should Avoid Cycling)

अगर आप  जोड़ों की समस्या से जूझ रहे हैं, तो साइकिल चलाने से आपकी समस्या बढ़ सकती है। यही कारण है कि ऑस्टियोपोरोसिस जैसी समस्याओं में साइकल चलाने से बचने की सलाह दी जाती है। घुटने या कोहनी में दर्द, चोट होने पर साइकल न चलाएं। इसके अलावा अगर कोई व्यक्ति सांस संबंधी समस्या से पीड़ित है, जैसे- अस्थमा, ब्रोंकाइटिस आदि, तो उस स्थिति में भी साइकिल चलाने से बचने की सलाह दी जाती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि जब आप साइकिलिंग के दौरान बाहर हवा में सांस लेते हैं, तो इससे हृदय की गति तेज हो जाती है, जो अस्थमा को ट्रिगर करती है।

इसे भी पढें: कोर मसल्स की स्ट्रेंथ बढ़ाने के लिए करें ये 4 एक्सरसाइज, बॉडी को मिलेगा परफेक्ट शेप

इसमें कोई संदेह नहीं है कि साइकिलिंग एक बेहतरीन व्यायाम है, लेकिन अगर आप उपरोक्त समस्याओं से पीड़ित हैं तो भूलकर भी साइकिलिंग न करें, नहीं तो यह आपकी समस्या को बदतर बना सकता है।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer