Expert

रतौंधी (नाईट ब्लाइंडनेस) किस विटामिन की कमी से होता है? जानें बचाव के उपाय

Vitamin Deficiency Causes Night Blindness: रतौंधी या रात में अंधेपन की समस्या किस विटामिन की कमी से होती है? साथ ही कमी कैसे दूर करें जानें इस लेख में

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarUpdated at: Oct 29, 2022 11:57 IST
रतौंधी (नाईट ब्लाइंडनेस) किस विटामिन की कमी से होता है? जानें बचाव के उपाय

Vitamin Deficiency Causes Night Blindness: बहुत से लोगों के साथ एक समस्या बहुत आम है, कि उन्हें दिन में तो सब साफ दिखाई देता है, लेकिन जैसे-जैसे दिन ढलता है और रात होना शुरू होती है तो उन्हे चीजें ठीक से दिखाई देना बंद हो जाता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि उनकी रात की नजर कमजोर होती है। रात में ठीक से नजर कमजोर होने या साफ न दिखाई देने की इस समस्या को मेडिकल भाषा में रतौंधी या नाइट ब्लाइंडनेस (Night Blindness) कहते हैं। रात में अंधेपन या रतौंधी कई समस्याओं के कारण हो सकती है, जिनमें मायोपिया, ग्लूकोमा की दवाएं जिनके कारण आंखों की पुतली संकुचित हो जाती है, मोतियाबिंद, रेटिनाइटिस पिगमेंटोसा और डायबिटीज आदि शामिल है। लेकिन क्या आप जानते हैं, कि शरीर कुछ विटामिन की कमी से भी रतौंधी या रात में अंधेपन की समस्या हो सकती है? जी हां, आपने बिल्कुल सही पढ़ा!

संतुलित और पोषक तत्वों से आहार लेना बहुत जरूरी है, जब आप ऐसा नहीं करते हैं तो इससे शरीर में पोषण की कमी हो जाती है, जो कई गंभीर रोगों को जन्म देती है। इनमें रात में अंधेपन या रतौंधी की समस्या भी शामिल है। बहुत से लोग अक्सर पूछते हैं कि रतौंधी रोग किस विटामिन की कमी से होता है (rataundhi kis vitamin ki kami se hota hai)? इस विषय पर अधिक जानकारी के लिए हमने क्लीनिकल न्यूट्रिशनिस्ट और डायटीशियन गरिमा गोयल से बात की। आइए विस्तार से जानते हैं किस विटामिन की कमी से होता है रतौंधी या नाइट ब्लाइंडनेस रोग (night blindness kis vitamin ki kami se hota hai)

night blindness kis vitamin ki kami se hota hai

रतौंधी किस विटामिन की कमी से होती है- Which Vitamin Deficiency Causes Night Blindness

डायटीशियन गरिमा के अनुसार शरीर में विटामिन A की कमी रतौंधी का एक बड़ा कारण है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह विटामिन आपकी आंखों को स्वस्थ रखने में एक अहम भूमिका निभाता है। डायटीशियन गरिमा के अनुसार विटामिन A आंखों को स्वस्थ रखने के लिए सबसे जरूरी विटामिन है। यह बच्चों और व्यस्क सभी में आंखों को स्वस्थ रखने के लिए जरूरी है। "यूनिसेफ के अनुसार, बच्चों में अंधेपन का एक बड़ा कारण उनमें विटामिन A की कमी है।" यह विटामिन आंखों स्वस्थ रखने में कई तरह से भूमिका निभाता है जैसे: 

  • विटामिन आपकी आंखों की झिल्ली को स्वस्थ रखने और बेहतर फंक्शन का समर्थन करता है। यह झिल्ली आंख के सामने मौजूद सतह को सुरक्षा प्रदान करती है और कवर रखती है। यह आंखों में नमी और चिकनेपन को बढ़ावा देने में मदद करती है, जिससे आंखों में सूखेपन की समस्या से बचाव होता है।
  • रात या अंधेरे में साफ और अच्छी दृष्टि के लिए फोटोरिसेप्टर रोडोप्सिन का निर्माण जरूरी है, जो आपकी रेटिना में मौजूद होता है। इसके निर्माण में विटामिन A की अहम भूमिका होता है।  के निर्माण के लिए विटामिन ए बहुत जरूरी है, जो रेटिना में पाया जाता है।
  • आंखों की कई अन्य समस्याएं मोतियाबिंद, कमजोर नजर, मायोपिया और उम्र से संबंधित मैक्यूलर डिजनेरेशन जैसी समस्याएं को दूर रखने के लिए विटामिन ए बहुत जरूरी विटामिन है। यह उनके विकास के जोखिम को कम करने और बचाव में मदद करता है।
  • आंखों की रोशनी बढ़ाने या तेज करने में मदद करता है। क्योंकि यह आपकी आंखों के कॉर्निया के कामकाज को बनाए रखने में मदद करता है। यह आपकी आंखों की बाहरी परत को नुकसान से बचाता है और सुरक्षात्मक परत प्रदान करता है।

इसे भी पढें: पीलिया किस विटामिन की कमी से होता है? जानें इनके स्रोत

विटामिन A की कमी कैसे पूरी करें?

डायटीशियन गरिमा के अनुसार आप संतुलित और पोषक तत्वों से आहार फॉलो करके, आसानी विटामिन ए की कमी को पूरा कर सकते हैं, साथ ही इसकी कमी से भी बच सकते हैं। आप कुछ विटामिन ए से भरपूर फूड्स (Vitamin A Rich Foods) को डाइट का हिस्सा बना सकते हैं जैसे...

  • दूध और दूध से बने उत्पाद का सेवन करें
  • मौसमी फल और सब्जियों को डाइट में शामिल करें, खासकर हरी पत्तेदार सब्जियां
  • रोजाना अंडे जरूर खाएं।
  • गाजर, चुकंदर, शकरकंद और कद्दू आदि में विटामिन ए प्रचुर मात्रा में होता है
  • खुबानी, आम, पपीता,  तरबूज, खरबूजा, अमरूद, बेर, सेब आदि का सेवन करें।
  • मीट, मटन, चिकन, मछली आदि खाएं।

यह भी ध्यान रखें

डायटीशियन गरिमा सलाह देती हैं, कि विटामिन का अधिक सेवन करने से बचें, क्योंकि इसकी अधिकता से भी सेहत को नुकसान पहुंच सकता है। आप डॉक्टर की सलाह के अनुसार कुछ सप्लीमेंट्स भी ले सकते हैं। लेकिन डॉक्टर की सलाह के बिना कुछ भी न करें।

(With Inputs: Dietitian Garima Goyal, MS, RD, CDE, Founder- Dt. Garima Diet Clinic , Ludhiana, Punjab)

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer