लिवर की सफाई के लिए जरूरी है ये डिटॉक्स डाइट, खाने में शामिल करें ये 5 चीजें

अनहेल्दी लाइफस्टाइल और दूषित पानी और खाने से लिवर की बीमारियों का खतरा पैदा होता है। ऐसे में जरूरी अपने लिवर को डिटॉक्स (Detox) करते रहें। 

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Apr 06, 2020
लिवर की सफाई के लिए जरूरी है ये डिटॉक्स डाइट, खाने में शामिल करें ये 5 चीजें

लिवर डाइजेस्टिव सिस्टम का एक सबसे बड़ा डाइजेस्टिव ऑर्गन है, जो भोजन को पचाने के बाद दूषित पदार्थ को शरीर से बाहर निकालने में मदद करती है। लिवरमल्टी-फंक्शनरी ऑर्गन है इसलिए ये वायरस जैसे दूषित पदार्थों से ग्रसित हो जाता है। साथ ही लिवर की समस्याओं की उपस्थिति अक्सर किसी का ध्यान नहीं जा सकती क्योंकि यह बहुत कम या कुछ ही लक्षण दिखाता है। डब्ल्यूएचओ के अनुसार, लिवर की बीमारियां भारत में होने वाली मौतों का 10 वां सबसे आम कारण हैं। इनमें मोटापा, अत्यधिक शराब का सेवन और हेपेटाइटिस वायरस लिवर खराब होने के कई बड़े कारणों में से एक हैं। वहीं जब कि मेडिकल साइंस ने इतनी प्रगति कर ली है, तब भी लिवर खराब होने पर इसे ठीक करने का कोई इलाज नहीं है। ऐसे में एकमात्र इलाज होता है इसका प्रत्यारोपण। इसलिए, हमारे लिवर की सुरक्षा के लिए, स्वस्थ जीवन शैली विकल्पों का हमें खास ख्याल रखना चाहिए। साथ ही अगर हम समय-समय पर लिवर डिटॉक्स डाइट की मदद लेते रहे, तो हमारा लिवर स्वस्थ रह सकता है।

insidefoodsforliver

क्या है लिवर डिटॉक्स डाइट?

लिवर डिटॉक्स डाइट का मतलब है अपनी रोजाना की डाइट मे कुछ ऐसी चीजों को शामिल करना जो लिवर को हेल्दी बनाने में मदद कर सकते हैं। आज ऐसे कई फूड्स हैं, जिनका सेवन करने से लिवर की सफाई हो जाती है। ऐसा इसलिए भी जरूरी है कि क्योंकि हेल्दी लिवर होना कई सारी बीमारियों के खतरे को कम कर सकता है। लिवर के कई काम, जैसे खून और शरीर से हानिकारक और विषाक्त तत्वों को बाहर निकालना, एंजाइम बनाना और भोजन को पचाने में मदद करना, ये सारे वो काम है, जो लिवर डिटॉक्स को समय-समय पर करने से बेहतर हो सकते हैं। तो आइए जानते हैं ऐसी कौन सा चीजें हैं, जो लिवर को साफ करने में हमारी मदद कर सकते हैं।

हल्दी का अधिक सेवन करें

चूंकि सदियों से हमारे शरीर के स्वस्थ कामकाज को ठीक करने और राज करने के लिए आयुर्वेद में हल्दी एक औषधि के रूप में है। करक्यूमिन से भरपूर होने के कारण, यह यौगिक विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है और लिवर की मरम्मत करता है। यह पित्त उत्पादन को भी बढ़ावा देता है।

insidegreenvegies

इसे भी पढ़ें: इन लक्षणों को ना करें नजरअंदाज, ये हैं लिवर कैंसर के संकेत

वैकल्पिक अनाज का सेवन बढ़ाएं

हमेशा के लिए विकल्प के रूप में, आप क्विनोआ, बाजरा और एक प्रकार का अनाज और गोभी, ब्रोकोली, काले और फूलगोभी जैसी अनाज सब्जियों का उपभोग कर सकते हैं। इन खाद्य पदार्थों में ग्लूटाथियोन होता है, जो लिवर के टॉक्सिन को साफ करने वाले एंजाइम को ट्रिगर करता है।

अपने आहार में अखरोट और ताजे फल शामिल करें

अखरोट ग्लूटाथियोन, ओमेगा -3 फैटी एसिड और अमीनो एसिड आर्जिनिन का एक समृद्ध स्रोत हैं। वे सामान्य लिवर सफाई कार्यों का समर्थन करते हैं, खासकर जब अमोनिया को डिटॉक्सिफाई करते हैं। ताजा फल और सब्जियां, साबुत अनाज की रोटी, चावल और अनाज के रूप में फाइबर हमारे लिए पाचन तंत्र के लिए प्राकृतिक क्लींजर की तरह होता है। वहीं चुकंदर में फाइबर की स्वस्थ खुराक होती है। यह उत्सर्जन को सुविधाजनक बनाने के लिए विषाक्त कचरे को तोड़ता है। यह पित्त प्रवाह को भी उत्तेजित करता है और एंजाइमिक गतिविधि को बढ़ाता है। 

इसे भी पढ़ें: लिवर में सूजन (फैटी लिवर) की समस्या को इन 5 तरीकों से करें दूर, लिवर रहेगा हमेशा दुरुस्त

ग्रीन टी

स्वस्थ लिवर के लिए चाय एक और फायदेमंद भोजन है। यह कैटेचिन नामक यौगिक के कारण हो सकता है। एंटीऑक्सिडेंट लिवर एंजाइम स्तर को बेहतर बनाने में मदद करते हैं। वहीं ये लिवर में ऑक्सीडेटिव तनाव और जमा फैट को कम करते हैं। ग्रीन टी इस पौधे के एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है।

संतुलित आहार लें

सभी अनाज, प्रोटीन, डेयरी उत्पादों, फलों, सब्जियों और वसा को ध्यान में रखते हुए सभी खाद्य समूहों के खाद्य पदार्थों के साथ एक संतुलित आहार बनाएं। साथ ही क्रूसीफेरी हरी सब्जियों जैसे ब्रॉकली में आयरन, विटमिन्स और ऐंटीऑक्सिडेंट्स पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं। इसमें ग्सूकोसिनोलेट पाया जाता है जिससे लिवर डिटॉक्सिफाइंग एजेंट्स निकालता है। इसके अलावा हरी सब्जियां भी लिवर को डिटॉक्स करने में काफी मदद करती हैं।

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer