सर्दियों में अमृत है गोंद के लड्डू, हड्डियों और मांसपेशियों को करता है मजबूत

गोंद जोकि एक खाद्य पदार्थ है, यह पोषक तत्वों से भरा प्रकृति का एक उपहार है, जिसे भारतीय घरों में देखा जा सकता है।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Dec 26, 2018Updated at: Dec 26, 2018
सर्दियों में अमृत है गोंद के लड्डू, हड्डियों और मांसपेशियों को करता है मजबूत

गोंद जोकि एक खाद्य पदार्थ है, यह पोषक तत्वों से भरा प्रकृति का एक उपहार है, जिसे भारतीय घरों में देखा जा सकता है। इसके सेवन से शरीर की समस्त कमजोरी दूर हो जाती है। गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए बहुत अच्छा पोषक तत्व है। इसके अलावा उन लोगों के लिए रामबाण का काम करता है जो किसी बीमारी से बाहर निकले हों। ऐसे लोगों के लिए गोंद औषधि का काम करता है। यह अलग अलग वृक्षों से प्राप्त किया जाता है।

यह प्राकृतिक गोंद मध्य पूर्व और गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान और पंजाब के कुछ हिस्सों में पाए जाते हैं। खाने वाले इस यह गोंद या गम पानी में घुलनशील होता है। गोंद को पारंपरिक रूप से दस्त, खांसी और गले की खराश जैसी बीमारियों से निपटने के लिए उपचार में उपयोग किया जाता है। गोंद को लंबे समय से खाद्य और दवा उद्योग में उपयोग किया जाता रहा है। इसके अलावा इसे बेकरी उत्पादों, सौंदर्य उत्पादों, एनर्जी ड्रिंक्स, आइस क्रीम आदि में प्रयोग किया जाता है।

इसके गर्म गुणों के कारण खासकर सर्दियों में प्रयोग किया जाता है। गोंड से बने लड्डू की खपत  मुख्य रूप से सर्दियों के दौरान शरीर को अतिरिक्त कैलोरी प्रदान करने के लिए खाई जाती है। इसे गर्भवती और स्तनपान कराने वाली माताओं के साथ-साथ कुछ बीमारियों से ठीक होने वाले लोगों को भी जरूरी पोषण के लिए खिलाया जाता है।

इसे भी पढ़ें:- फिट और स्लिम रहने के लिए जरूरी है बैलेंस्ड डाइट, खान-पान में करें ये 5 बदलाव

गोंद खाने के फायदे

गोंद का व्यापक रूप से आयुर्वेदिक चीजों में उपयोग किया जाता है। प्रतिरक्षा शक्ति और स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए बहुत अच्छा है। यह कमजोरी और पुरुष प्रजनन के मुद्दों के इलाज के लिए जाना जाता है। भारत में, गोंद मुख्य रूप से बाबूल से प्राप्त होता है। इसके उपज कमजोर तंत्रिका तंत्र, चिंता और अवसाद के अलावा ज्यादा और कम विटामिन डी के स्तर वाले लोगों के लिए फायदेमंद है! गोंद एक त्वचा देखभाल के तौर पर प्रमुख एजेंट के रूप में अद्भुत काम करता है। आप गोंद को रात में पानी में भिगोकर एक पौष्टिक पेस्ट बना सकते है। इसमें अंडा, बादाम पाउडर और दूध जैसे तत्व जोड़ सकते हैं।

सर्दियों में बनाएं गोंद के लड्डू

सर्दियों में खासतौर से कुछ मीठे पकवान खाने चाहिए। इनमें से एक हैं गोंद के लड्डू। इन्हें आसानी से घर में ही बनाया जा सकता है। हमने आपको गोंद के फायदे बताएं अब आपको गोंद का लड्डू बनाने का तरीका बता रहे हैं इसे आप सर्दियों में खाएं और स्वस्थ रहें।

जरूरी सामान

  • डेढ़ कप आटा (लगभग 200 ग्राम)
  • एक कप देसी घी (लगभग 200 ग्राम)
  • एक कप करारा (पिसी चीनी)
  • एक कप खाने का गोंद
  • 50 ग्राम काजू कटे हुए
  • 50 ग्राम बादाम कटे हुए
  • 50 ग्राम तरबूज के बीज

कैसे बनाएं गोंद का लड्डू

गैस पर भारी तले वाली कड़ाही में घी गर्म करें। फिर इसमें गोंद डालकर मध्यम आंच पर तलें। जब गोंद रंग गोल्डन ब्राउन हो जाए तो गैस बंद कर दें। फिर गोंद को थोड़ा ठंडा करके कूटें या मिक्सी में पीस लें। इसके बाद कड़ाही को फिर से गैस पर रखकर घी गर्म करें। इसमें आटा डालकर मध्यम आंच पर भूनें। आटा जले न इसलिए इसे लगातार चलाते रहें। आटे को हल्का ब्राउन होने तक भुनें। इसके बाद आटे में गोंद, काजू, बादाम और तरबूज के बीज डालकर गैस बंद कर दें। फिर इस मिश्रण को कढ़ाई से बाहर निकालकर ठंडा होने के लिए रखें। अब आटा और गोंद के मिश्रण में करारा (पिसी चीनी) मिलाएं। इसके बाद इस मिश्रण के गोल-गोल लड्डू बनाएं प्लेट में रखें। लीजिए तैयार हो गए टेस्टी और हेल्दी गोंद के लड्डू।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Healthy Diet in Hindi

Disclaimer