देर तक फेस मास्क पहनने के कारण हो सकती हैं कई त्वचा समस्याएं, जानें इसके लिए उपाय

लगातार कई घंटे फेस मास्क पहनने के कारण पसीने और रगड़ से कई त्वचा समस्याएं हो सकती हैं, जानें इससे बचने के लिए आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavUpdated at: Apr 06, 2020 13:01 IST
देर तक फेस मास्क पहनने के कारण हो सकती हैं कई त्वचा समस्याएं, जानें इसके लिए उपाय

कोरोना वायरस से बचाव के लिए इस समय लोग घरों में बंद हैं। जो लोग जरूरी कामों से घर से निकल भी रहे हैं, तो वो फेस मास्क पहनकर निकल रहे हैं। देर तक फेस मास्क पहनने के कारण कुछ लोगों को त्वचा संबंधी समस्याएं होने लगी हैं। इनमें से कुछ समस्याएं फेस मास्क देर तक पहने रहने के कारण लगातार निकलते पसीना और मास्क से चेहरे की रगड़ के कारण हो रही हैं, तो कुछ समस्याएं मास्क के कपड़े के कारण भी हो सकती हैं। जर्नल ऑफ वुण्ड केयर (Journal of Wound Care) में इसी संदर्भ में कुछ आसान तरीके बताए गए हैं, जिसके द्वारा लगातार फेस मास्क पहनने के कारण होने वाली त्वचा समस्याओं को ठीक कर सकते हैं।

फेस मास्क से होने वाली त्वचा समस्याएं?

जिन लोगों को बहुत ज्यादा पसीना आता है, वो अगर देर तक चेहरे पर मास्क लगाए रखते हैं, तो उनकी त्वचा और ज्यादा पसीना छोड़ती है। ऐसे में ज्यादा पसीने के कारण व्यक्ति को बैक्टीरियल इंफेक्शन की समस्या हो सकती है। इसके अलावा कुछ लोगों को फेस मास्क के कपड़े के कारण रैशेज, खुजली, रूखापन, मुंहासे, डर्मेटाइटिस जैसी अन्य समस्याएं भी हो सकती हैं।

इसे भी पढ़ें:- मॉइश्चराइजर लगाने के बाद भी त्वचा में बना रहता है रूखापन? जानें कारण और त्वचा को मॉइश्चराइज रखने का सही तरीका

एक्सपर्ट्स के अनुसार फेस मास्क पहने के बाद सांस लेने के दौरान मुंह के आसपास की त्वचा का तापमान बढ़ जाता है, जिससे त्वचा की ऊपरी पर्त में नमी आ जाती है और बैक्टीरिया को विकास के लिए सही माहौल मिल जाता है। यही कारण है कि देर तक मास्क पहनने के कारण कई तरह के त्वचा इंफेक्शन्स भी हो सकते हैं। इसका खतरा उन पुरुषों को ज्यादा होता है, जिनकी दाढ़ी लंबी और घनी है।

N95 फेस मास्क से भी हो सकती हैं समस्याएं

आमतौर पर N95 फेस मास्क को पॉलीप्रोपिलीन (polypropylene) से बनाया जाता है, जो कि एक ऐसा फैब्रिक है, जिसकी बुनाई नहीं की जाती है। डिस्पोज किए जाने वाले N95 सर्जिकल में आमतौर पर 4 पर्तें होती हैं। इनमें से सबसे भीतरी पर्त, जो मुंह के सीधे संपर्क में आती है वो भी पॉलीप्रोपिलीन से ही बनी होती है। सभी प्रकार के प्लास्टिक में से पॉलीप्रोपिलीन को वैसे तो त्वचा के लिए सुरक्षित माना जाता है। मगर कुछ मामलों में ये त्वचा के लिए समस्या पैदा कर सकते हैं।

कैसे रखें मास्क पहनने के दौरान त्वचा को सुरक्षित?

अगर मास्क पहनने से पहले त्वचा को अच्छी तरह मॉइश्चराइज किया जाए, तो ऊपर बताई गई समस्याओं से बचा जा सकता है। इस लिए बेहतर होगा कि अगर आप देर तक फेस मास्क पहनने वाले हैं, तो अपने चेहरे पर पहले ऑयल बेस्ड मॉइश्चराइजर लगा लें। इससे त्वचा की नमी लॉक हो जाती है और तेल के कारण स्किन पोर्स बंद हो जाते हैं, जिससे सीबम का निर्माण कम होता है। इससे कम से कम कील-मुंहासे होने की संभावना कम रहेगी।

इसे भी पढ़ें:- बार-बार धोने से हाथ दिखने लगे हैं रूखे और बेजान, तो ये 5 टिप्स बढ़ाएंगी आपके हाथों की चमक और खूबसूरती

इसके अलावा बैक्टीरियल इंफेक्शन से बचने का तरीका यह है कि आप ज्यादा समय तक फेस मास्क पहनने के बजाय सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। अगर मजबूरी में आपको मास्क पहनना ही पड़ रहा है, तो आप 6-8 घंटे में अपना मास्क बदलते रहें और मुंह का पसीना साफ करते रहें।

ऐसे चुनें मॉइश्चराइजर

त्वचा पर होने वाली खुजली से बचने के लिए आप ऐसे मॉइश्चराइजर का प्रयोग कर सकते हैं, जिसमें सेरामाइड्स (ceramides), स्क्वालीन (squalene), नियासिनामाइड (niacinamide) या हायलुरोनिक एसिड (hyaluronic acid) आदि तत्व मौजूद हों। ये तत्व बैक्टीरिया को उत्पनन होने से बचाएंगे।

Source: IANS

Read More Articles on Skin Care in Hindi

Disclaimer