शरीर में है विटामिन ई की कमी, तो आहार में शामिल करें ये 5 चीजें

विटामिन ई शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है और शरीर को एलर्जी से बचाता है। इसके अलावा विटामिन ई शरीर के कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Mar 16, 2018Updated at: Mar 16, 2018
शरीर में है विटामिन ई की कमी, तो आहार में शामिल करें ये 5 चीजें

हमारे शरीर के लिए सभी विटामिन्स का अपना-अपना महत्व है। विटामिन्स हमारे अंगों के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और ये हमारे शरीर को कई तरह के रोगों से बचाते हैं। ऐसा ही एक विटामिन है विटामिन ई। ये विटामिन शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है और शरीर को एलर्जी से बचाता है। इसके अलावा विटामिन ई शरीर के कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
विटामिन ई एक घुलनशील विटामिन है और इसमें पर्याप्‍त मात्रा में नमी होती है। यह नमी त्वचा और बालों के लिए फायदेमंद होती है। ये विटामिन एक तरह का एंटीऑक्सीडेंट है, जो शरीर को कई गंभीर बीमारियों से बचाता है। विटामिन ई बालों के साथ-साथ त्वचा के लिए भी फायदेमंद है क्योंकि ये त्वचा को झुर्रियों से दूर रखता है यानि विटामिन ई वाले पदार्थों के सेवन से आप पर बढ़ती उम्र का असर धीरे-धीरे या कम होता है। विटामिन ई से बाल तेजी से बढ़ते हैं। ये बालों को सुंदर, घना, चमकदार बनाने में मदद करता है। अगर आपके शरीर में विटामिन ई की कमी है तो अपने आहार में इन चीजों को शामिल कीजिए।

हरी सब्जियां

हरी और रंगीन सब्जियों का सेवन करना बहुत फायदेमंद है। हरी सब्जियां विटामिन, प्रोटीन और मिनरल्‍स से भरपूर होती हैं और इनमें विटामिन ई भी भरपूर होता है। ये शरीर की प्रतिरोधी क्षमता को मजबूत करता है। शरीर के उचित विकास के लिए पत्‍तेदार हरी शाक-सब्जियां और शाकाहार भोजन लाभदायक होता है। आयरन की कमी से एनी‍मिया हो सकता है। हरी सब्जियों में आयरन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। यह व्यक्ति को एनीमिया से बचाता है। 100 ग्राम पालक में लगभग 2.1 मिलीग्राम विटामिन ई होता है।

इसे भी पढ़ें:- पेक्टिन फाइबर और लो शुगर के कारण जूस पीने से ज्यादा फायदेमंद है फल खाना

सूखे मेवे

 

सूखे मेवों में ढेर सारे विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते हैं। इन्हें खाने से कैंसर ओर हृदय रोगों से होने वाली मौतों को काफी हद तक कम किया जा सकता है। नियमित रूप से मेवों का सेवन करने वाले लोगों को मोटापे की समस्‍या भी परेशान नहीं करती। इनमें विटामिन ई भी भरपूर मात्रा में होता है। विटामिन ई के लिए सबसे अच्छा बादाम का सेवन है। स्वस्थ‍ रहने के लिए प्रतिदिन बादाम का सेवन करें। बादाम में प्रोटीन, वसा, विटामिन और मिनरल पर्याप्त मात्रा में होते हैं। 100 ग्राम बादाम में 26.2 मिलीग्राम विटामिन ई होता है।

सूरजमुखी के बीज

सूरजमुखी के बीजों में विटामिन ई की मात्रा काफी ज्यादा होती है। इनमें मौजूद ऐथिरोस्क्लेरोसिस हमारे शरीर को ऑस्टीरोअर्थराइटिस और कैंसर जैसी बीमारियों से बचाता है। इसके अलावा सूरज मुखी के बीज फैट को कम करने में मदद करते हैं और बॉडी में एंटीऑक्सिडेंट की तरह काम करते हैं। सूरजमुखी के 100 ग्राम बीजों में 36.3 मिलीग्राम तक विटामिन होता है।

इसे भी पढ़ें:- दोबारा गर्म करने से इन 7 फूड्स में घट जाते हैं पौष्टिक तत्व, बिगाड़ सकते हैं सेहत

एवोकैडो

एवोकैडो में बी विटामिन ई भरपूर पाया जाता है। 100 ग्राम एवोकैडो में लगभग 2.1 मिलीग्राम विटामिन ई होता है। इस फल का सेवन करने से शरीर से बैड कोलेस्‍ट्रॉल दूर होते हैं और शरीर का रक्‍त का संचार अच्‍छा होता है। पोटैशियम और विटामिन ई से भरपूर इस फल के सेवन से हार्ट अटैक और स्‍ट्रोक की संभावना काफी हद तक कम हो जाती है।

मछली

मछली विटामिन ई का सबसे अच्छा स्रोत है। रेनबो ट्राउट मछली के 100 ग्राम मांस में 2.8 मिलीग्राम विटामिन ई मौजूद होता है। अन्य मछलियों में भी विटामिन ई की मात्रा भरपूर होती है। मछली में मौजूद ओमेगा 3 फैटी एसिड का सेवन अगर उम्र बढ़ने के साथ-साथ कर रहे हैं तो दिल के रोगों से मरने का खतरा 35 प्रतिशत कम होता है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Healthy Eating In Hindi

Disclaimer