सफेद चीनी छोड़ें, खाने को मीठा बनाने के लिए इस्तेमाल करें ये 3 चीजें, घटेगा वजन और रहेंगे स्वस्थ

सफेद चीनी (रिफाइंड शुगर) को छोड़ें और रोजाना के खानपान में मीठी डिशेज और चाय बनाने के लिए इन 3 चीजों का प्रयोग करें, तो आप हेल्दी रहेंगे और वजन घटेगा।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Aug 10, 2020Updated at: Aug 10, 2020
सफेद चीनी छोड़ें, खाने को मीठा बनाने के लिए इस्तेमाल करें ये 3 चीजें, घटेगा वजन और रहेंगे स्वस्थ

सफेद चीनी आपके सेहत की दुश्मन है। सफेद चीनी यानी रिफाइंड शुगर के सेवन से आपके शरीर को ढेर सारे नुकसान होते हैं। इससे आपका वजन बढ़ता है, ब्लड शुगर बढ़ता है, इसमें कोई पोषक तत्व नहीं होते और लंबे समय तक सेवन से आपको हार्ट की बीमारियां, डायबिटीज और मोटापा आदि का खतरा रहता है। इसलिए सफेद चीनी का इस्तेमाल आप जितनी जल्दी छोड़ दें, उतना ही बेहतर है। मगर सफेद चीनी छोड़ने का मतलब सिर्फ यह नहीं है कि आप घर पर चीनी का इस्तेमाल बंद कर दें। बल्कि बाजार में मिलने वाले सभी मीठी चीजों में भी रिफाइंड शुगर का ही प्रयोग किया जाता है। इसलिए इनका सेवन भी आपको बंद करना पड़ेगा। सफेद चीनी (रिफाइंड शुगर) के बजाय हम आपको बता रहे हैं खाने और डिशेज को मीठा बनाने के 3 ऐसे विकल्प, जो सेहतमंद हैं और चीनी की अपेक्षा ज्यादा सुरक्षित हैं। इसलिए आपको मीठा पसंद है, तो इनका प्रयोग शुरू कर दें।

गुड़

benefits of jaggery or gur in hindi

गुड़ भी गन्ने के रस से बनता है और चीनी भी। लेकिन चीनी की प्रॉसेसिंग करके इसे सफेद बना दिया जाता है इसलिए चीनी नुकसानदायक होती है, जबकि गुड़ काफी हद तक नैचुरल होता है। आप चीनी पूरी तरह छोड़ दें तो आपकी सेहत को कई फायदे मिलेंगे। गुड़ में ढेर सारे पोषक तत्व और एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो आपको सेहतमंद रखते हैं। आयुर्वेद के अनुसार गुड़ का सेवन करने से वायु प्रदूषण के दुष्प्रभाव से फेफड़ों को बचाया जा सकता है। हालांकि गुड़ और चीनी के कैलोरीज में ज्यादा अंतर नहीं होता है, इसलिए आपको गुड़ का सेवन भी ज्यादा नहीं करना चाहिए लेकिन गुड़ चीनी की अपेक्षा सेहतमंद है। इसलिए चाय बनाने, शर्बत बनाने, खीर बनाने और दूसरी डिशेज बनाते समय आप गुड़ का इस्तेमाल आराम से कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: डॉक्टरों की चेतावनी, ज्यादा मीठा खाने से कमजोर हो सकता है आपका इम्यून सिस्टम, जानें चीनी क्यों है नुकसानदायक?

गुड़ में मैग्नीशियम, पोटैशियम, कैल्शियम, सेलेनियम, मैंग्नीज, आयरन और जिंक की मात्रा अच्छी होती है, इसलिए ये आपके शरीर को ढेर सारे फायदे पहुंचाता है, जबकि चीनी में ये पोषक तत्व नहीं होते हैं। वहीं गुड़ का सेवन आपके पेट के लिए फायदेमंद होता है इसलिए इससे पाचन और मेटाबॉलिज्म तेज होता है, जिससे आपका वजन चीनी की अपेक्षा ज्यादा तेजी से घटता है और सीमित प्रयोग करें, तो वजन नहीं बढ़ता है।

किशमिश

गुड़ के बाद बहुत सारी डिशेज को मीठा बनाने के लिए आप किशमिश का भी प्रयोग कर सकते हैं। किशमिश अंगूर को सुखाकर बनती है, मगर इसमें पोषक तत्व अंगूर से ज्यादा होते हैं। किशमिश में आयरन की मात्रा अच्छी होती है और किशमिश गुड़ से भी ज्यादा सेहतमंद विकल्प है। किशमिश में पोटैशियम और कैल्शियम भी होता है, इसलिए ये ब्लड प्रेशर घटाता है और हड्डियों को मजबूत रखता है। आप किशमिश को खीर, स्प्राउट्स आदि में डालकर इन्हें मीठा बना सकते हैं। इसके अलावा ग्रैवी वाली चीजों मं आप किशमिश का पेस्ट बनाकर इस्तेमाल कर सकते हैं।

benefits of raisins or kishmish in hindi

किशमिश मीठी जरूर होती है, मगर इसमें नैचुरल शुगर होता है और फाइबर भी होता है, इसलिए ये चीनी की अपेक्षा वजन घटाने के लिए बेस्टी मीठी चीज है। आप किशमिश का इस्तेमाल बिना झिझक कर सकते हैं, बस आपको डायबिटीज न हो।

इसे भी पढ़ें: ज्यादा मीठा खाने वालों को होता है इन 8 स्वास्थ्य समस्याओं का खतरा, जानें कैसे कम करें मीठे की लत

सूखे खजूर या छुहारे

dry dates or chhuhare benefits in hindi

डिशेज को मीठा बनाने के लिए सबसे अच्छा तरीका है खजूर या सूखे छुहारों का प्रयोग। छुहारे या खजूर दोनों ही बहुत मीठे होते हैं और प्राकृतिक शुगर से भरपूर होते हैं, इसलिए इनका प्रयोग करने से आप चीनी जैसी ही मिठास अपने डिशेज में ला सकते हैं। छुहारे में फाइबर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है, इसलिए इसके सेवन से आपका मेटाबॉलिज्म बढ़ता है और वजन घटाने की प्रकिया तेज होती है। छुहारे में ढेर सारे पोषक तत्व होते हैं, जो आपको सेहतमंद रखते हैं। इसके अलावा छुहारा खाना उन लोगों के लिए भी फायदेमंद है, जिन्हें अपच, कब्ज और बदहजमी की समस्या होती है। इसलिए आपको छुहारे या खजूर का प्रयोग अपने खाने में बढ़ा देना चाहिए।

आप सफेद चीनी को छोड़कर ढेर सारी बीमारियों का खतरा कम कर सकते हैं। इसलिए रोजाना के खानपान में चीनी की जगह इन 3 चीजों का प्रयोग शुरू कर दें।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer