स्किन से जुड़ी समस्याओं को दूर करता है तुलसी टोनर, जानें इसके फायदे और बनाने का तरीका

तुलसी टोनर स्‍क‍िन से जुड़ी समस्‍याओ को दूर करता है, इसे बनाने का तरीका बेहद आसान है। चल‍िए जानते हैं तरीका और फायदे

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Sep 22, 2021
स्किन से जुड़ी समस्याओं को दूर करता है तुलसी टोनर, जानें इसके फायदे और बनाने का तरीका

स्किन टोनर क्या होता है? टोनर स्‍क‍िन को गहराई से साफ करता है और त्‍वचा को टाइट करने में आपकी मदद करता है। ये आपकी स्‍क‍िन को हाइड्रेट रखता है और त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं से आपको बचाता है। अगर आपकी स्‍क‍िन में भी प‍िंपल्‍स, दाग-धब्‍बे या खुजली जैसी समस्‍या है तो आपको तुलसी का इस्‍तेमाल करना चाह‍िए। तुलसी में एंटीसेप्‍ट‍िक प्रॉपर्टीज होती हैं, आप तुलसी की मदद से स्‍कि‍न को रिपेयर और हील कर सकते हैं। ज‍िन लोगों को टोनर का इस्‍तेमाल नहीं पता उन्‍हें बता दें क‍ि टोनर की मदद से आप स्‍क‍िन पर फ्रेशनेस ला सकते हैं, स्‍क‍िन केयर रूटीन में टोनर का इस्‍तेमाल सबसे पहले क‍िया जाता है ज‍िससे स्‍क‍िन में नमी आए और त्‍वचा आगे के प्रोसेस के लिए तैयार हो जाए। तुलसी एक ऐसा पौधा है ज‍िसमें औषध‍िय गुण होते हैं, तुलसी का इस्‍तेमाल बाल, स्‍क‍िन और शरीर से जुड़ी परेशानियों को दूर करने के लि‍ए क‍िया जाता है। इस लेख में हम तुलसी से फेस टोनर बनाने का तरीका और इससे जुड़े फायदों पर चर्चा करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने ओम स्किन क्लीनिक, लखनऊ के वरिष्ठ कंसलटेंट डर्मेटोलॉज‍िस्‍ट डॉ देवेश मिश्रा से बात की।

tulsi toner benefits

(image source:blogspot.com)

तुलसी का टोनर कैसे बनाएं? (How to make Tulsi Toner)

टोनर बनाने की सामग्री: तुलसी की पत्‍तियां, पानी, ग्‍लिसरीन, गुलाब जल  

टोनर बनाने का तरीका:

  • तुलसी की पत्‍त‍ियों को धोकर रख दें। 
  • अब एक बर्तन में पानी गरम करें और उसमें पत्‍त‍ियों को डाल दें। 
  • जब पानी आधा हो जाए तो गैस बंद करके पानी को ठंडा होने दें। 
  • पानी को छानकर अलग कर लें। 
  • एक एयरटाइट कंटेनर में तुलसी का पानी रखें। 
  • कंटेनर में गुलाब जल मि‍लाएं।
  • म‍िश्रण में ग्‍ल‍िसरीन म‍िलाकर कंटेनर को शेक करें। 

इसे भी पढ़ें- स्किन की कई समस्याएं दूर करता है केसर, इन 7 तरीकों से करें इस्तेमाल और पाएं खूबसूरत त्वचा

तुलसी का टोनर बनाते समय क‍िन बातों का ध्‍यान रखें? (Points to remember while making toner)

tulsi benefits 

(image source:ayushliving.com)

  • तुलसी का टोनर बनाने के ल‍िए करीब 200 एमएल पानी का इस्‍तेमाल करें क्‍योंक‍ि वो उबलकर आधा रह जाएगा।
  • जब पानी उबल जाएगा तो उसमें कुछ और म‍िलाने से पहले कम से कम 10 से 15 म‍िनट ठंडा होने के लि‍ए रख दें। 
  • अगर आपकी स्‍क‍िन ऑयली है या एक्‍ने हैं तो आपको ग्‍ल‍िसरीन की ज्‍यादा मात्रा का इस्‍तेमाल नहीं करना है।
  • आप टोनर को फ्र‍िज में रखकर स्‍टोर कर सकते हैं, इससे टोनर ठंडा भी रहेगा ज‍िससे चेहरे पर फ्रेशनेस रहेगी और टोनर खराब भी नहीं होगा।

तुलसी के टोनर का इस्‍तेमाल कैसे करें? (How to use Tulsi Toner) 

  • तुलसी का टोनर इस्‍तेमाल करने के ल‍िए आप सबसे पहले माइल्‍ड फेसवॉश से अपने चेहरे को अच्‍छी तरह से साफ कर लें। 
  • जब चेहरा साफ हो जाए तो आप चेहरे को साफ तौल‍िए से पोंछकर ड्राय कर लें। 
  • अब रूई की मदद से टोनर को चेहरे और गर्दन वाले ह‍िस्‍से में लगा लें। 
  • जब टोनर को अच्‍छी तरह से लगा लें तो उसे ड्राय हो जाने दें। 
  • टोनर जब अच्‍छी तरह से सूख जाए तो उसके ऊपर मॉइश्‍चराइजर एप्‍लाई कर लें।

घर का बना टोनर क्‍यों फायदेमंद होता है? (Benefits of homemade toner)

tulsi toner benefits

(image source:blogspot.com)

घर के बने टोनर में कैम‍िकल्‍स नहीं होते इसल‍िए वो आपकी स्‍क‍िन के ल‍िए हान‍िकारक नहीं होते हैं। घर के बने टोनर या उत्‍पाद में प्रिजर्वेट‍िव मौजूद नहीं होते ज‍िससे ये आपकी स्‍क‍िन में साइड इफेक्‍ट नहीं छोड़ते हैं। कुछ लोगों को मार्केट के गुलाब जल या टोनर से जलन या खुजली जैसी श‍िकायत होती है पर घर के बने टोनर से आपको स्‍क‍िन से जुड़ी समस्‍याएं नहीं होती। घर के बने टोनर में आप अपने मुताब‍िक सामग्री और मात्रा को घटा-बढ़ा सकते हैं। इसके साथ ही आपको ज‍िस सामग्री से एलर्जी है उसे आप स्‍क‍िप भी कर सकते हैं, जैसे बहुत लोगों को टोनर में नींबू के रस से एलर्जी होती है तो आप उसे अपने मुताब‍िक कम कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- रूखे-फटे होठों को कोमल और गुलाबी बनाने के लिए लगाएं कोकोनट लिप बाम, जानें घर पर बनाने का तरीका

तुलसी टोनर के फायदे (Benefits of Tulsi Toner)

1. तुलसी टोनर से त्‍वचा का पीएच बैलेंस बना रहता है (Maintains PH Balance)

tulsi toner

(image source:freehealthfitnesstips)

तुलसी टोनर से त्‍वचा का पीएच बैलेंस बना रहता है। तुलसी में एंटी-ऑक्‍सीडेंट गुण होते हैं। आप त्वचा का पीएच स्‍तर बनाए रखना चाहते हैं तो घर के बने तुलसी टोनर का इस्‍तेमाल करें, कोश‍िश करें क‍ि घर पर तैयार क‍िया गया गुलाब जल ही इस टोनर में इस्‍तेमाल क‍िया जाए। 

2. त्‍वचा की चमक बढ़ाए तुलसी टोनर (Glowing face)

तुलसी टोनर की मदद से त्‍वचा की चमक बढ़ती है क्‍योंक‍ि तुलसी टोनर का इस्‍तेमाल करने से स्‍क‍िन ड‍िटॉक्‍सीफाई होती है और त्‍वचा में मौजूद व‍िषैले तत्‍व न‍िकल जाते हैं। आप टोनर लगाकर उसे कॉटन की मदद से क्‍लींजर के तौर पर भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

3. स्‍क‍िन को टाइट करे तुलसी टोनर (Skin tightner)

तुलसी टोनर स्‍क‍िन को टाइट करने का काम करता है। रोम छ‍िद्रों को बंद करने के लिए इसका इस्‍तेमाल क‍िया जा सकता है। पर्यावरण या प्रदूषण के संपर्क में आने से हमारी स्‍क‍िन में गंदगी जम जाती है ज‍िसके कारण ओपन पोर्स की समस्‍या होती है पर तुलसी टोनर का इस्‍तेमाल करने से आपकी त्‍वचा से गंदगी न‍िकलेगी।

4. तुलसी टोनर से स्‍कि‍न को हाइड्रेशन म‍िलेगा (Provides hydration to skin)

तुलसी टोनर से स्‍कि‍न को अच्‍छा हाइड्रेशन म‍िलेगा। इस टोनर में गुलाब जल, ग्‍ल‍िसरीन मौजूद है जो स्किन को नमी देने का काम करते हैं। आप तुलसी टोनर में एलोवेरा, नीम की पत्‍त‍ियां, खीरा भी एड कर सकते हैं। 

5. तुलसी टोनर से मुंहासे कम होंगे (Reduces pimples)

तुलसी टोनर से मुंहासे की समस्‍या दूर होगी। तुलसी में एंटी-बैक्‍टीर‍ियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं ज‍िससे मुंहासे की समस्‍या दूर होती है और त्‍वचा में क‍िसी भी तरह का कोई इंफेक्‍शन नहीं होता। तुलसी की मदद से आप एज‍िंग की समस्‍याओं से भी बच सकते हैं। आप तुलसी की पत्‍त‍ियों का टोनर हर द‍िन इस्‍तेमाल कर सकते हैं। तुलसी में एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं, अगर आपकी त्‍वचा में इंफेक्‍शन भी है तो टोनर उसे कम करने में हेल्‍प करेगा।

तुलसी का टोनर इस्‍तेमाल करने से पहले स्‍क‍िन पर पैच टेस्‍ट जरूर करें, अगर स्‍क‍िन में खुजली या रैशेज होते हैं तो डॉक्‍टर से संपर्क करें और टोनर का इस्‍तेमाल बंद कर दें। 

(main image source:zoiccosmetic,htv.com)

Read more on Skin Care in Hindi

Disclaimer