तुलसी और अजवाइन का पानी पीने से मिलते हैं ये 7 फायदे

तुलसी और अजवाइन के पानी के बहुत से फायदे है। यहां जानें इससे होने वाले फायदों के बारे में।

 
Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraPublished at: Jul 15, 2021Updated at: Jul 15, 2021
तुलसी और अजवाइन का पानी पीने से मिलते हैं ये 7 फायदे

पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से सेहत को कई फायदे होते हैं। लेकिन पानी में कई बार घर में इस्तेमाल होने वाली कुछ चीजों का प्रयोग करना आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। जी हां हम बात कर रहे  हैं तुलसी और अजवाइन के पानी की। क्या आपने कभी तुलसी और अजवाइन के पानी का सेवन किया है? अगर नहीं, तो इस लेख के जरिए हम आपको इस पानी के सेवन से होने वाले कई फायदों के बारे में बताएंगे। तुलसी और अजवाइन का पानी पीने से पेट स्वस्थ रहने के साथ ही आपका मोटापा भी कम होता है। यह नैचुरल ड्रिंक पोषक तत्वों से भरपूर है। इसे पीने से आपकी शरीर में मौजूद सभी टॉक्सिन्स यानि गंदगी आसानी से निकल जाती है। यही नहीं यह ड्रिंक आपके मेटाबॉलिज्म को भी बढ़ाती है। साथ ही यह आपकी सांस संबंधी समस्याओं, अनियंत्रित ब्लड प्रेशर और उच्च कोलेस्ट्रॉल आदि को संतुलित करने में काफी सहायक होती है। चलिए जानते हैं तुलसी और अजवाइन के पानी के कुछ फायदे और बनाने के तरीके के बारे में। 

weight

1. वजन घटाने में सहायक 

वजन कम करने के लिए तो तुलसी और अजवाइन का सेवन किसी रामबाण से कम नहीं है। तुलसी और अजवाइन का पानी में पाए जाने वाले तत्व कुछ ही दिनों में आपके एक्सट्रा फैट तक को निकाल सकते हैं। अजवाइन में मुख्य रूप से थायमॉल नामक एसेंशियल ऑयल पाया जाता है, जो आपका वजन घटाने में मददगार होता है। तुलसी के साथ अजवाइन का मिश्रण आपके मेटाबॉलिक रेट को बढ़ाकर वजन घटाने में सहायता करता है। वजन घटाने के लिए आपका बढ़ा हुआ मेटाबॉलिक रेट काफी मदद करता है। खासकर जब आप इस पानी को सुबह के समय वह भी एक्सरसाइज करने के बाद पीते हैं तो यह आपके लिए अधिक कारगर साबित हो सकता है।  

इसे भी पढ़ें - क्या आंखों के लिए फायदेमंद है चिया सीड्स? जानें एक्सपर्ट से

2. शरीर को डिटॉक्सिफाई करे

शरीर से विषाक तत्व निकालने में तुलसी और अजवाइन का पानी अहम भूमिका निभाता है। यही नहीं यह डिटॉक्सिफिंग ड्रिंक के नाम से भी जाना जाता है। शरीर को समय-समय पर डिटॉक्सिफाई करना बेहद जरूरी होता है। खासतौर पर पानी में तुलसी मौजूद होने से आपकी पूरी शरीर अंदरूनी तौर पर डिटॉक्स होती है। यह ड्रिंक एंटी ऑक्सीडेंट्स का भंडार है, जो विषाक तत्वों को निकालकर आपके बढ़ते वजन को नियंत्रित करता है। हालांकि इसके लिए आपको डायटीशियन या डॉक्टर से सही मात्रा जानना भी जरूरी है। क्योंकि इसकी तासीर गरम होती है। इसलिए इसका अधिक सेवन आपको नुकसान भी पहुंचा सकता है। 

arthritis

3. जोड़ों के दर्द में सहायक 

तुलसी और अजवाइन प्राकृतिक रूप से एंटी इंफ्लेमेटरी प्रॉर्टीज पाई जाती हैं। जो जोड़ों के दर्द को कम करती है। वहीं तुलसी में एंटी स्पैसडॉमिक और एंटी रूमैटिक गुण पाए जाते हैं, जो अर्थराइटिस के मरीजों को दर्द से राहत दिलाते हैं। वहीं अजवाइन में इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाने के साथ ही एनाएस्थेटिक प्रॉपर्टीज पाई जाती हैं। जो मुख्य रूप से जोड़ों के दर्द में सहायक होती है। इसलिए पानी में तुलसी और अजवाइन मिलाकर पीने से दोनों में मौजूद न्यूट्रीएंट्स आसानी से अवशोषित हो जाते हैं और आपको इसका भरपूर लाभ मिलता है। 

4. ब्लड प्रेशर कम करने में सहायक

ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में भी तुलसी और अजवाइन का पानी काफी कारगर माना जाता है। इस समस्या में अजवाइन अधिक कारगर मानी जाती है। अजवाइन में मौजूद थायमॉल नामक एसेंशियल ऑयल आपकी रक्त वाहिकाओं में कैल्शियम के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाता है। जिससे आपका ब्लड प्रेशर कम होता है। वहीं तुलसी भी मैगनीशियम और पोटैशियम से भरपूर होती है, जो आपका ब्लड प्रेशर आसानी से घटा सकती है। कुछ अध्यनों में यह पाया गया है कि तुलसी के सेवन से ब्लड प्रेशर आसानी से घट सकता है। इसलिए ब्लड प्रेशर अनियंत्रित होने पर भी आप इस पानी को पी सकते हैं। 

5. कोलेस्ट्रॉल कम करने में मददगार 

तुलसी और अजवाइन का सेवन करने से आपका बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रॉल आसानी से कम हो सकता है। तुलसी में यूजेनॉयल नामक तत्व पाया जाता है, जो आपके कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए किसी औषधि से कम नहीं माना जाता है। तुलसी की पत्तियों में पाए जाने वाले खास तत्व आपके बैड कोलेस्ट्रॉल को घटाने और गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने का कार्य करते हैं। 

cough

6. सर्दी जुकाम में फायदेमंद 

सर्दी जुकाम को ठीक करने के लिए तो तुलसी और अजवाइन को प्राचीन काल से ही प्राथमिक उपचार के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। इसके लिए लोग अजवाइन की पोटली सूंघना और अजवाइन के काढ़े आदि का प्रयोग करते हैं। इसके लिए आप गर्म पानी में तुलसी और अजवाइन की पत्तियों को मिलाकर पी सकते हैं। इससे आपका सर्दी जुकाम ठीक होने के साथ ही चेस्ट कंजेशन यानि कि छाती में जमा बलगम भी आसानी से निकल सकता है। ऐसी समस्या होने पर तुलसी का सेवन कम कर पानी में थोड़ी अजवाइन की मात्रा बढ़ाएं। 

इसे भी पढ़ें - लौकी का जूस ज्यादा पीने से सेहत को हो सकते हैं ये 6 नुकसान, आप भी पीते हैं तो बरतें ये सावधानियां

7. डायबिटीज में असरदार 

तुलसी और अजवाइन दोनों ही डायबिटीज के मरीजों के लिए बेहद उपयोगी आयुर्वेदिक औषधियां हैं। तुलसी में पाए जाने वाला ग्लायसेमिक आपके ब्लड शुगर लेवल को कम करने में अहम भूमिका निभाता है। यह आपके टाइप 2 की समस्या को भी काफी हद तक कम करता है। हालांकि तुलसी और अजवाइन की पत्तियों को कच्चा चबाना भी इसमें कारगर माना जाता है। 

ajwainwaterinside 

तुलसी और अजवाइन का पानी बनाने का तरीका

  • इसके लिए आपको अजवाइन को रातभर भिगोकर रखना होगा। अच्छे से फूल जाने के बाद उसमें जरूरत अनुसार तुलसी की पत्तियां डालें।  
  • अब किसी बर्तन में इसे उबाल लें और ठंडा कर लें। अब आप इसे पी सकते हैं। 
  • ध्यान रहे तुलसी और अजवाइन की तासीर गर्म होती है इसलिए इसका सेवन अधिक न करें। 

इस लेख में दिए गए तरीकों से आप तुलसी और अजवाइन का पानी बना सकते हैं। अगर आप किसी गंभीर समस्या से जूझ रहे हैं तो इसका इस्तेमाल चिकित्सक की सलाहनुसार ही करें। 

Read more Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer