सुबह नहीं उठ पाते जल्दी तो आज से ही फॉलो करें मेरे आजमाए ये 5 तरीके

Ways To Wake Up Early: कई कोश‍िशों के बाद भी आपको सुबह जल्‍दी उठने में होती है परेशानी, तो आज से ही फॉलो करें मेरी आजमाई हुए खास तरीके। 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Sep 20, 2022Updated at: Sep 20, 2022
सुबह नहीं उठ पाते जल्दी तो आज से ही फॉलो करें मेरे आजमाए ये 5 तरीके

क्‍या आपको भी सुबह जल्‍दी उठने में परेशानी होती है? मेरे साथ भी कुछ ऐसा ही था। स्‍कूल के द‍िनों में सुबह जल्‍दी उठने में परेशानी, मॉर्न‍िंग स‍िकनेस की समस्‍या, स‍िर में दर्द और पूरे द‍िन नींद आने के साथ द‍िन गुजर जाता था। कॉलेज के द‍िनों में सुबह जल्‍दी उठने के तरीके इंटरनेट पर सर्च क‍िए। ज्‍यादातर सभी तरीके मैं पहले ट्राई कर चुकी थी। कुछ जो अलग थे उन्‍हें नोट कर ल‍िया और आजमाया। इन्‍हीं तरीकों में से कुछ ने मेरी मदद की और समय के साथ बदलाव आया और अब मैं सुबह जल्‍दी उठ पाती हूं और जल्‍दी उठना पसंद करती हूं। इन तरीकों को आपके साथ साझा कर रही हूं, आप भी इन्‍हें ट्राई करें और बताइयेगा क‍ि ये तरीके आपकी देर से उठने की आदत को बदल पाए या नहीं।

waking up early tips

1. द‍िमाागी कसरत करें

कई लोगों को ज्‍यादा सोचने की समस्‍या होती है। ओवरथ‍िंक‍िंंग के कारण वे समय पर सो नहीं पाते और सुबह उठने में परेशानी होती है। आपके साथ भी ये समस्‍या है, तो आप द‍िमागी कसरत करें। लाइट बंद करके समय पर लेट जाएं, और द‍िमाग में एक र‍िपीट होने वाला पैटर्न बनाएं। जैसे हम बचपन में कर‍ते थे, उल्‍टी ग‍िनती करना या भेड़ गि‍नना। अंतहीन श्रृंखला की कल्पना करने से हम अपने द‍िमाग पर काबू कर पाते हैं। दोहराव और लयबद्ध के कारण सोने में मदद म‍िलती है। इस तरीके से आप समय पर सोएंगे और सुबह जल्‍दी उठ पाएंगे। 

इसे भी पढ़ें- क्या आप भी सुबह के आलस और नींद से हैं परेशान? जानें सुबह जल्दी उठने और दिनभर एनर्जेटिक रहने के 5 ट‍िप्‍स

2. शाम को वॉक करें 

अगर पहला तरीका काम न करे, तो मैं इस तरीके की मदद भी लेती हूं। जो लोग सुबह जल्‍दी नहीं उठ पाते, उनमें से ज्‍यादातर लोग देर से सोते हैं और नींद न पूरी होने के कारण उनकी आंख सुबह जल्‍दी नहीं खुलती। देर से सोने का कारण है, शरीर को थकान न महसूस होना। सबसे अच्‍छी नींद तभी आती है जब हमारा शरीर मानस‍िक या शारीर‍िक तौर पर थका हो। जो लोग फ‍िज‍िकल एक्‍ट‍िव‍िटी नहीं कर पाते जैसे ऑफ‍िस जाने वाले वर्कर या होस्‍टल के बच्‍चे उन्‍हें शाम को वॉक करना चाह‍िए। इस तरीके ने मुझे समय पर सोने में मदद की। आप शाम में रोजाना 45 से 60 म‍िनट वॉक करें। थकान से आपको जल्‍दी सोने में मदद म‍िलेगी और आप सुबह जल्‍दी उठ पाएंगे।

3. सुबह का पहला काम हो मनपसंद 

आपको सुबह उठने में परेशानी होती है, तो मेरा अगला तरीका आपकी मदद जरूर करेगा। मैं इसे कई बार ट्राई कर चुकी हूं। आप अपना लक्ष्‍य बना लें क‍ि सुबह उठकर मैं पहला काम अपनी पसंद का करूंगा या करूंगी। जैसे आपको मूवी ट‍िकट बुक करना हो या अपनी पसंद की चीज ऑनलाइन ऑर्डर करनी हो, इस काम को आप सुबह उठने के बाद करें। इससे आपको रात को समय पर सोने का मोट‍िवेशन म‍िलेगा और आप खुशी-खुशी सुबह जल्‍दी उठना पसंद करेंगे।         

4. उठने के 1 घंटे के भीतर करें नाश्‍ता 

आपको सुनने में अजीब लगेगा लेक‍िन अगर आप सुबह उठने के 1 घंटे के अंदर ब्रेकफास्‍ट कर लें, तो शरीर में एनर्जी भी रहेगी और आपको सुबह नींद भी नहीं आएगी। डॉक्‍टर्स भी यही मानते हैं क‍ि सुबह उठने और पहला खाना खाने के बीच ज्‍यादा गैप नहीं होना चाह‍िए। मुझे बचपन में मॉर्न‍िंग स‍िकनेस की समस्‍या रही है ज‍िसके कारण सुबह उठने के बाद स‍िर में दर्द, थकान, जी म‍िचलाना, घबराहट जैसे लक्षण महसूस होने लगते थे। इससे बचने के ल‍िए मैंने उठने के 1 घंटे के भीतर ब्रेकफास्‍ट करना शुरु क‍िया और ये तरीका मुझे सुबह एनर्जी देने में मदद करता है।                

5. अलार्म को रखें दूर  

सुबह जल्‍दी उठना चाहते हैं, तो मेरे आजमाए एक और तरीके को ट्राई कर सकते हैं। चूंक‍ि ये तरीका काम करता है इसल‍िए ये इंटरनेट पर भी बहुत पॉपुलर है। सुबह जल्‍दी उठने के ल‍िए हम सब अलार्म घड़ी का इस्‍तेमाल करते हैं लेक‍िन इसके बावजूद भी हम नहीं उठ पाते क्‍योंक‍ि फोन में या नजदीक में अलार्म होने के कारण हम उसे आसानी से बंद करके सो जाते हैं। इसी आदत को बदल दें। अलार्म घड़ी या मोबाइल को रात में ही खुद से दूर रखकर सोएं। ऐसा करने से आपको खुद अलार्म बंद करने के ल‍िए जाना पड़ेगा और इससे आपको सुबह उठ पाने में मदद म‍िलेगी।     

सर्द‍ियों का समय नजदीक है। ठंड के दौरान सुबह जल्‍दी उठना और भी मुश्‍क‍िल हो जाता है इसल‍िए अभी से अपनी आदत को बदलने की कोश‍िश शुरु कर दें। मेरे ये 5 तरीके आपको कैसे लगे ये बताना न भूलें। लेख पसंद आया हो, तो दोस्‍तों के साथ शेयर करें।

Disclaimer