सूर्य नमस्कार करने से पहले और बाद में जरूर करें ये 5 काम, तभी मिलेंगे पूरे फायदे

बहुत सारे लोग रोज सुबह सूर्य नमस्कार करते हैं लेकिन उन्हें पूरे फायदे नहीं मिलते। जानें सूर्य नमस्कार से जुड़ी खास बातें, जिनका ध्यान रखना जरूरी है।

Monika Agarwal
योगाWritten by: Monika AgarwalPublished at: Sep 12, 2021Updated at: Sep 12, 2021
सूर्य नमस्कार करने से पहले और बाद में जरूर करें ये 5 काम, तभी मिलेंगे पूरे फायदे

सूर्य नमस्कार एक संपूर्ण शरीर की कसरत है। जिसमें आपका शरीर न केवल टोन होता है बल्कि मांसपेशियों में कसाव भी आता है। इस कसरत को करने के लिए न किसी उपकरण की जरूरत है न ही ज्यादा जगह की। इसे हर उम्र के व्यक्ति के लिए फायदेमंद माना गया है और कोई विशेष समय भी इसके लिए आवश्यक नहीं है। क्या आप भी रोजाना सूर्य नमस्कार करते हैं? यदि आपका जवाब हां है तो क्या आप इस एक्सरसाइज को बिल्कुल उसी तरह से करते हैं जैसे करनी चाहिए? कहीं ऐसा तो नहीं आप जाने अनजाने में कुछ लापरवाही करते हों। हो सकता है यही वजह आपको पूर्ण लाभ मिल पाने से रोक रही होगी। आपको कुछ आसान सी बातें हैं जो सूर्य नमस्कार करने से पहले और बाद में ध्यान करनी हैं।  इनसे आपको न तो मसल्स में दर्द होगा और न ही सूर्य नमस्कार करते समय कोई चोट लगने की संभावना होगी।

surya-namaskar-mistakes-inside1

सूर्य नमस्कार से पहले इन बातों का रखें ध्यान

1. अपने शरीर को वार्म अप जरूर करें

चाहे आप कोई भी योग आसन या एक्सरसाइज कर रहे हैं, अपने शरीर को थोड़ा वार्म अप करना भी जरूरी होता है। इससे आपके शरीर से अकड़न कम होती है जिससे आप अधिक लचीलेपन से एक्सरसाइज कर पाते हैं। वार्म अप करने से सूर्य नमस्कार के समय आपका पोस्चर भी बेहतर बनता है।

2. सही दिशा का करें चुनाव

क्या आप जानते हैं कि सही दिशा में सूर्य नमस्कार करने से भी आपको मिलने वाले लाभ पर प्रभाव पड़ता है। अगर आप पूर्व दिशा में जहां से सूर्य निकलता है या अस्त होता है, यह आसन करते हैं तो इससे आपको अनोखा अनुभव तो मिलता ही है। साथ में आपको बहुत सारी पॉजिटिव ऊर्जा (एनर्जी) भी मिलती हैं।

3. यम और नियम को अपने सूर्य नमस्कार का हिस्सा बनाएं

अगर आप सूर्य नमस्कार को और अधिक गहराई में अनुभव करना चाहते हैं तो इसके साथ 5 यम और नियम करने का मौका बिल्कुल भी न खोए। यानी कि इस आसन के 8 अंगों के अनुसार पहला अंग है यम। दूसरा अंग नियम है और तीसरा अंग आसन है। यानी कि कुछ व्यक्तिगत और कुछ सामाजिक नियमों का पालन करते हुए जब आप योग करते हैं, तब आपको अंदरुनी रूप से योग के बहुत से फायदे मिलते हैं।

इसे भी पढ़ें : तेजी से वजन घटाना है तो करें रेस्टोरेटिव योग, जानें महिलाओं के लिए इसे करने के 5 फायदे

4. मुस्कुराते हुए सूर्य नमस्कार करें

सूर्य नमस्कार के सार के अनुसार यदि कोई कार्य कृतज्ञता के भाव अनुसार किया जाता है, तो उस कार्य करने से आपको जो सुखद अनुभव होता है और आपके चेहरे पर मुस्कान आती है वह आपको एक सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करता है।

5. आपका शरीर क्या कह रहा है सुनें

सूर्य नमस्कार के द्वारा आप अपने शरीर की क्रियाओं को नियंत्रित करने के साथ-साथ उसकी सीमाओं को भी जान सकते हैं। आप कुछ दिनों बाद महसूस करेंगे कि आपका शरीर पहले से ज्यादा सक्षम और लचीला हो गया है। सूर्य नमस्कार को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाएं।

सूर्य नमस्कार के बाद इन बातों का रखें ध्यान

1. सूर्य नमस्कार पूरा हो जाने के बाद रिलैक्स करें

जब आपका सूर्य नमस्कार का आखरी राउंड भी पूरा हो जाए तो आप को लेट जाना है और अपने शरीर को रिलैक्स कर लेना है। योग निद्रा में लेटें ताकि की गई स्ट्रेच का आपके शरीर को अधिक लाभ मिल सके। अपने शरीर और मस्तिष्क को पूर्ण विश्राम देने के लिए आप शवासन में भी लेट सकते हैं। हालांकि आपको सूर्य नमस्कार के बाद बहुत अधिक ऊर्जा महसूस होगी इसलिए आपका मन लेटने का नहीं करेगा लेकिन फिर भी आपको कुछ समय के लिए आराम जरूर करना चाहिए।

surya-namaskar-mistakes-inside2

इसे भी पढ़ें : स्लिप डिस्क के मरीजों के लिए फायदेमंद हैं ये 4 योगासन, एक्सपर्ट से जानें करने का तरीका

2. नियमित रूप से करें

कुछ लोग एक या दो दिन सूर्य नमस्कार करके छोड़ देते हैं लेकिन अगर आप अच्छे नतीजे चाहते हैं तो आपको रोजाना इस आसन को करना होगा। हर रोज सुबह सुबह अपने व्यस्त शेड्यूल से लगभग 15 से 20 मिनट तो जरूर निकालें और सूर्य नमस्कार करें।

3. अपनी ओर से पूरा प्रयास करें

हर योग आसन की तरह अगर आप ने भी इस आसन को अभी अभी करना शुरू किया है तो आपको सही ढंग से सीखने की कोशिश करनी चाहिए। क्योंकि शुरुआत में बहुत से लोगों का पोस्चर सही नहीं होता है। आपको धीरे धीरे अपनी ओर से पूरा प्रयास करना होगा और इस आसन में खुद को माहिर बना लेना होगा।

4. आप और अधिक गहराई से भी इस योग को कर सकते हैं

यदि आप चाहते हैं कि आपको ज्यादा से ज्यादा फायदे मिले। तो आप सूर्य नमस्कार और अधिक चुनौतीपूर्ण रूप में कर सकते हैं। इसके लिए आपको पांचवीं मुद्रा के बाद पुश अप और चौथे व आठवीं मुद्रा के बाद में कुछ अधिक बदलाव करने होंगे। हर पोज़ पर कुछ ज्यादा लंबे समय तक सांस लें।

5. सामान्य तौर पर सांस लें

जब आप सूर्य नमस्कार कर रहे हैं तब आप उज्जयी आसन के जैसे या सामान्य रूप से जैसे सांस लेते हैं वैसे धीरे-धीरे सांस लें। हर सांस में उसको महसूस करें और अपने पोस्चर में बदलाव के साथ सामंजस्य बैठायें।

अगर आप भी अपनी फिटनेस जर्नी पर हैं और अपने अंदर एनर्जी लाने की कोशिश करते हैं तो आपको सूर्य नमस्कार जरूर करना चाहिए। क्योंकि इससे आपके अंदर एक पॉजिटिव एनर्जी आती है। अपने रूटीन को मेंटेन रखें और अगर और भी एक्सरसाइज करनी हैं तो उनका समय निर्धारित कर लें।

Read more articles on Yoga in Hindi

Disclaimer