ऑफिस हो या घर कहीं भी फूल जाता है पेट तो आपकी ये 5 आदतें हैं बहुत ज्यादा खराब, बदलें इन्हें

पेट फूलने की समस्या से ज्यादातर लोग परेशान रहते हैं क्योंकि ये 5 बुरी आदतें इसके लिए जिम्मेदार होती हैं। 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaUpdated at: Jan 31, 2020 11:10 IST
ऑफिस हो या घर कहीं भी फूल जाता है पेट तो आपकी ये 5 आदतें हैं बहुत ज्यादा खराब, बदलें इन्हें

हम में से अधिकतर लोग कभी न कभी पेट फूलने की समस्या का अनुभव जरूर करते हैं। इस स्थिति में आप पेट भरने के बारे में सुनते ही सिहर उठते हैं और आपको ऐसे महसूस होता है कि आपका पेट कहीं फट न जाए, खासकर जब आप खाना खाने के लिए बैठते हैं। पेट फूलना एक ऐसी स्थिति है, जिसमें आपका पेट बहुत सी गैस बनाने लगता है। ऐसा आपकी डाइट के कारण भी हो सकता है, जिसके पीछे डिहाइड्रेशन, स्ट्रेस और आपके पोश्चर एक कारण हो सकता है। जी हां, आपने बिल्कुल सही सुना। दरअसल आपके बैठने की स्थिति पेट फूलने की समस्या का कारण बन सकती है और यही कारण है बहुत से लोगों का बड़ी जल्दी पेट फूल जाता है। इसलिए अगर आप सभी चीजें अपना चुके हैं कि आपका पेट न फूले तो आपको अपनी गतिविधियों पर ध्यान देना शुरू कर देना चाहिए कि आप अनजाने में कौन सी गलतियां कर रहे हैं। इस लेख में हम आपको ऐसे ही 5 कारणों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो पेट फूलने के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं। 

bloating

फाइबर और प्रोटीन डाइट

फाइबर निस्संदेह आपकी आंत के लिए सबसे अच्छे मैक्रोन्यूट्रिएंट में से एक है। ये पाचन को बेहतर बनाता है और तेजी से विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है। इसलिए ये एक तरीके से पेट फूलने की समस्या से राहत दिलाने में मदद करता है। हालांकि शोधकर्ताओं का कहना है कि ये तर्क उतना सीधा नहीं है, जितना की इसे सोचा जाता है।  ऐसा इसलिए होता है क्योंकि फाइबर स्वस्थ आंत माइक्रोफ्लोरा के विकास को उत्तेजित करता है, जो फाइबर को पचाने पर स्वाभाविक रूप से गैस का उत्पादन करते हैं। एक प्रोटीन युक्त डाइट सिर्फ माइक्रोबियल विकास पर प्रभाव और बदले में पेट फूला देती है। फाइबर और कार्ब-युक्त आहार दूसरी ओर, पेट फूलने का कारण नहीं बनते हैं।

इसे भी पढ़ेंः वजन बढ़ने और पेट फूलने के बीच होते हैं ये 3 अंतर, जानें फूले पेट को ठीक करने के 3 तरीके

एंग्जाइटी

आपके मस्तिष्क और आपकी आंत के बीच बिल्कुल सीधा संबंध है। दोनों में से किसी में भी समस्या एक-दूसरे को प्रभावित करने के लिए काफी है। इसलिए अगर जब भी चिंतित या तनाव में होते हैं तो ये आपके पेट फूलने के पीछे का एक बड़ा कारण हो सकता है। अमेरिकन कॉलेज ऑफ गैस्ट्रोएंट्रोलॉजी के मुताबिक, तनाव से गुजर रहे लोग जरूरत से ज्यादा हवा निगल जाते हैं, जो उनके पेट में इकठ्ठा हो जाती है और पेट फूलने लगता है। इसके अलावा तनाव आपकी पाचन प्रक्रिया को अंसुतिलत करता है, जो समस्या को बढ़ाने का काम करता है।

stomach

पेट में गैस बनना आम

आप इस बात पर यकीन करें या न करें लेकिन ऐसा संभव है कि आपकी बॉडी पेट फूलने के हिसाब से बनी हुई है। जब भी आप कुछ खाते हैं तो दो चीजें होती है, जिसके कारण पेट में गैस बनती है। पहली ये आपकी आंतों की मांसपेशियां टाइट हो जाती हैं और आपका डायफग्राम आपकी छाती के करीब आ जाता है, जिस कारण गैस के लिए जगह बन जाती है। डायफग्राम एक ऐसी मांसपेशी है, जो आपकी छाती और पेट को अलग-अलग करती है। हालांकि कुछ लोगों में डायफग्राम ऊपर नहीं जाता है लेकिन नीचे आ जाता है। तब भी ये गैस के लिए जगह बना देता है और आपका पेट फूल जाता है, जिसके कारण आपको परेशानी का सामना करना पड़ता है।

इसे भी पढ़ेंः सर्दियों में क्या है पेट फूलने और गैस की समस्या का कारण? जानें कैसे करें बचाव

ढेर सारा नमक

अगर आप सोच रहे हैं कि हम आपके खाने में मौजूद नमक की बात कर रहे हैं तो आप गलत है। हम ऐसे नमक की बात कर रहे हैं, जिसपर आप ध्यान नहीं देते। ये नमक आपके जंक फूड और सभी प्रकार के स्नैक में पड़ा होता है, जिसे आप दिन भर खाते हैं। ब्रेड, चीज, सॉस जैसे फूड में नमक होता है, लेकिन हमें उसके बारे में जानकारी नहीं होती। ये आपके दिन की कुल नमक की जरूरत से कही अधिक हो जाता है। हालांकि वैज्ञानिक अभी भी यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि नमक आपको कैसे फूला हुआ बनाता है, कुछ शोधकर्ताओं का कहना है कि शरीर में अतिरिक्त नमक पानी के प्रतिधारण का कारण बन सकता है, जो पेट फूलने के कारणों में से एक हो सकता है।

गलत तरीके से बैठना और सोना

अगर आपकी मां खाना खाने के बाद तुरंत लेट जाने से मना करती हैं तो ये बिल्कुल सही बात है। गलत तरीके से बैठना या लेटना आपके शरीर से गैस निकलने को प्रभावित करता है। शोधकर्ताओं ने एक अध्ययन में पाया कि गैस जब आपके आंत से तेजी से पास होती है जब आप खड़ी अवस्था में होते हैं न कि जब आप अपनी पीठ के बल लेटे हुए होते हैं। हालांकि अध्ययन ने इस प्रभाव के सटीक कारण की पुष्टि नहीं की है। अध्ययन में यह सुझाव दिया गया कि ऐसा इसलिए हो सकता है क्योंकि जब आप सीधी स्थिति में बैठे होते हैं, तो आपके पेट के निचले हिस्से में दबाव बढ़ जाता है, जो आपके आंत में कुछ रिसेप्टर्स को प्रभावित करता है जिसके कारण आपके शरीर से गैस निकलती है। यदि आप भोजन के तुरंत बाद लेट जाते हैं तो गैस आपकी आंतों में एक घंटे तक रह सकती है, लेकिन अगर आप सीधे बैठे हैं तो यह उससे भी तेज हो सकता है।

Read More Articles On Miscellaneous In Hindi

Disclaimer