जब शरीर देने लगे ये 5 संकेत तो समझ लीजिए खुद का सही तरीके से नहीं रख रहे हैं ख्याल, जानें नुकसान

हमारा शरीर हमें इस बात का संकेत भी देता है कि हम खुद का सही से ख्याल नहीं रख रहे हैं लेकिन हम फिर भी उसे नजरअंदाज करते हैं और गड्ढे में घुसते चले जाते हैं और ऐसी बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं, जिनसे बचना बेहद मुश्किल हो जाता है।

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Sep 26, 2019
जब शरीर देने लगे ये 5 संकेत तो समझ लीजिए खुद का सही तरीके से नहीं रख रहे हैं ख्याल, जानें नुकसान

इस भागदौड़ भरी जिंदगी में खुद के लिए वक्त निकाल पाना लोगों के लिए बेहद मुश्किल हो गया है, इसी कारण रिश्तों में तनाव, बार-बार बीमार पड़ना और कई स्वास्थ्य समस्याएं हमेशा परेशान करती रहती है। हम अपनी व्यस्त जीवनशैली के कारण खुद पर ध्यान देने में इस कदर पीछे हो चुके हैं कि कब हम अस्वस्थ हो जाते हैं इस बात का अंदाजा हमें भी नहीं होता है। हालांकि हमारा शरीर हमें इस बात का संकेत भी देता है कि हम खुद का सही से ख्याल नहीं रख रहे हैं लेकिन हम फिर भी उसे नजरअंदाज करते हैं और गड्ढे में घुसते चले जाते हैं और ऐसी बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं, जिनसे बचना बेहद मुश्किल हो जाता है। अगर आप भी सोच रहे हैं कि हमारा शरीर कैसे इस बात का संकेत देता हैं तो हम आपको ऐसे 5 संकेतों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आपको बताते हैं कि आप अपना ख्याल नहीं रख रहे हैं।

ये 5 संकेत बताते हैं आप खुद का नहीं रहे ख्याल

चीजों का भूल जाना

अगर आप रात में अच्छी नींद नहीं लेते हैं तो आप अगली सुबह थका-थका सा महसूस करेंगे और अक्सर घर से बाहर निकलते वक्त अपनी जरूरी चीजों को भूल जाया करेंगे। चीजों को भूलने की आदत को उम्र के माथे मत मढ़िए। चीजों को भूलना कहीं न कहीं गंभीर बीमारी जैसे हार्मोन अंसतुलन को दर्शाता है, जो हमारी ज्ञान संबंधी चीजों को प्रभावित करता है। विशेषकर महिलाओं में चीजों को भूलने की समस्या थायराइड अंसतुलन का संकेत देती है। आखिर आप किन कारणों की वजह से चीजों को भूल रहे हैं इसका पता लगाने के लिए खून की एक व्यापक जांच कराना बहुत जरूरी है।

इसे भी पढ़ेंः आपकी रातों की नींद उजाड़ सकती हैं ये 5 अनचाही गलतियां, काम में नहीं लगेगा मन

हर वक्त नींद जैसा महसूस होना

एक्सरसाइज के लिए वक्त निकालना और अच्छी डाइट लेने के अलावा रात की नींद भी आपके स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी है। इसलिए जब भी आपको लगे की नींद नहीं आ रही है या फिर आपको सोने के लिए पर्याप्त समय नहीं मिल पा रहा है तो तुरंत अपने डॉक्टर से बात करें। इसके अलावा रात में खर्राटे की समस्या के कारण भी आपकी नींद खराब हो सकती है। यह स्थिति हाई ब्लड प्रेशर, वजन बढ़ने और ह्रदय रोगों के जोखिम से जुड़ी है। बढ़ती उम्र के कारण आंतरिक हार्मोन के कुछ स्तर असंतुलित हो जाते हैं, और यह असंतुलन और कमियों का एक प्रमुख प्रभाव पैदा कर सकता है इस प्रकार खराब नींद का कारण बन सकता है।

हाथ और पैर में झनझनाहट

अगर आपके हाथ और पैर में कभी-कभार झनझनाहट होती है तो ठीक है लेकिन अगर नियमित रूप से ऐसा होता है तो आप विटामिन बी12 की कमी से जूझ रहे हैं। अगर इसका जल्दी उपचार न किया जाए तो हमारे शरीर में इस जरूरी पोषक तत्व की कमी एनीमिया और कुछ गंभीर बीमारियों का कारण बन सकती है। इसकी पूर्ति करने के लिए कि आप हरी सब्जियां, अंडे और डेयरी से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन सुनिश्ति करें। विशेष रूप से वे लोग, जो शाकाहारी या शाकाहारी जीवन शैली अपना रहे हैं उन्हें विटामिन बी 12 सप्लीमेंट जरूर लेने चाहिए।

इसे भी पढ़ेंः ये 3 संकेत बताते हैं कि आपने बहुत कर लिया काम और अब करें आराम, पहला संकेत लोगों में आम

त्वता का अधिक रुखा होना

जैसे ही सर्दियां आती हैं, हमें त्वचा के रुखेपन की शिकायत होने लगती है। इसलिए बहुत सी बातों पर ध्यान रखने की जरूरत है। शरीर की त्वचा रुखी होना आपकी लो फैट डाइट में फैटी एसिड की कमी होने का संकेत देता है। अपनी स्किन के मुताबिक अपने डेली रूटीन में मॉस्चराइजर के इस्तेमाल के अलावा आप अपनी डेली डाइट में गुड फैट का इस्तेमाल करें। ये एवोकाडो, अखरोट, ऑलिव और अन्य चीजें शामिल हैं।

दोपहर में हमेशा थकान रहना

कई मीटिंग के बाद बैठा रहना और जब आपका मन उन्हें एटेंड करने का नहीं हो तो आप उल्टी गिनती गिनते हैं कि जल्द से जल्द मीटिंग खत्म हो और आप बाहर टी-ब्रेक के लिए जाए। लेकिन अगर आपको हमेशा दोपहर के बाद थकान लगने लगे तो आप समझ लीजिए कि आप लंच में गलत खाना खा रहे हैं, जिसके कारण आपका स्टेमिना खो रहा है। आप कार्बोहाइड्रेट युक्त खाद्य पदार्थ, जैसे कि पिज्जा, सैंडविच, या अन्य ब्रेड से बने भोजन न खाएं क्योंकि आपके ब्लड शुगर को बढ़ा सकते हैं और कुछ घंटों बाद आपको अपने आप थका हुआ लगेगा। लो ब्लड शुगर, जिसे हाइपोग्लाइसीमिया के रूप में भी जाना जाता है, नींद और थकान का कारण बन सकता है।

Read More Articles On Mind and Body In Hindi

Disclaimer