PCOD की समस्या से हैं परेशान? इन 3 योगासन अपनी समस्याओं को करें कंट्रोल

पीसीओडी से ग्रसित महिलाओं को कई हार्मोनल समस्याओं का सामना करना पड़ता है। ऐसी स्थिति में योग का सहारा लेना सबसे बेहतर उपाय हो सकता है।

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Apr 29, 2021Updated at: May 26, 2021
PCOD की समस्या से हैं परेशान? इन 3 योगासन अपनी समस्याओं को करें कंट्रोल

भारत में करीब 10 में से 1 महिला PCOD (पॉलिसिस्टिक ओवरी डिजीज ) की समस्या से गुजर रही हैं। शरीर में हार्मोंन असंतुलन की वजह से बच्चेदानी (ओवरी) में सिस्ट (छोटी-छोटी गांठें) होने लगती हैं। पीसीओडी की वजह से महिलाओं के शरीर में काफी बड़े स्तर पर हार्मोनल बदलाव होने लगते हैं। क्योंकि बच्चेदानी में इन गांठों की वजह से पीरियड्स और प्रेग्नेंसी दोनो में परेशानी होती है। साथ ही इसकी वजह से महिलाओं में कई शारीरिक बदलाव नजर आने लगते हैं। जैसे- बालों का झड़ना, स्किन पर मुंहासे, स्ट्रेस में रहना, थकान महसूस होना इत्यादि। लेकिन आपको घबराने की जरूरत नहीं है। पीसीओडी का इलाज संभव है।  इतना ही नहीं आप योग के सहारे भी पीसीओडी को जड़ से खत्म कर सकते हैं। योग की मदद से आप शारीरिक और मानसिक विषाक्तता को बाहर फेंक सकते हैं। आज हम आपको इस लेख के जरिए कुछ ऐसे आसनों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिससे आप पीसीओडी की समस्या को जड़ से खत्म कर सकते हैं। चलिए जानते हैं उन आसनों (Yoga for PCOD) के बारे में- 

बटर फ्लाई आसन

बटरफ्लाई आसन को कई लोग तितली आसन भी कहते हैं। यह आसन महिलाओं के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। इससे महिलाओं की तमाम समस्याओं को दूर किया जा सकता है। घर में रहकर भी आप इस आसन को आसान तरीके से कर सकते हैं। पीसीओडी से ग्रसित महिलाओं को यह आसान धीरे-धीरे, लेकिन लंबे समय तक करना चाहिए। साथ ही इस आसन को करते वक्त बीच-बीच में पोजीशन को होल्ड करने की आवश्यकता होती है। इस आसन के करने से बॉडी के लोवर पार्ट को मजबूती मिलती है। साथ ही प्यूबिक एरिया में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। इससे शरीर में हार्मोन का स्तर बेहतर होता है।

बटर फ्लाई आसन को करने के लिए सबसे पहले एक मैट पर बैठ जाएं। अब अपने दोनों पैरों को फैलाएं और घुटनों से मोड़ते हुए दोनों पैरों के तलवों को आपस में मिलाएं। अब हाथ की मदद से पैरों को अपने पेट के पास ले आएं। ध्यान रहे कि इस दौरान आपकी जांघ जमीन को स्पर्श करना चाहिए। इसके बाद अपने पैरों को पकड़ते हुए जांघों को तितली के समान ऊपर नीचे करें। इस पॉजीशन में थोडी़ देर के लिए रूकें और इसके बाद अपनी मुद्रा में दोबारा वापस आ जाएं। 

उष्‍ट्रासन

उष्ट्रासन पीसीओडी की शिकार महिलाओं के लिए काफी फायदेमंद है। इस आसन से शरीर में हार्मोंस का स्तर बेहतर होता है। उष्ट्रासन करने के लिए योगा मैट पर घुटने के बल बैठ जाएं। इसके बाद अपने दोनों पैरों को पीछे की ओर करें और सिर को धीरे-धीरे पीछे की ओर झुकाएं। इसके बाद अपने हाथों को पीछे की ओर ले जाएं और एड़ियों को पकड़ें। इस अवस्था में कुछ समय के लिए रूकें। बाद में सामान्य मुद्रा में वापस आ जाएं।

मार्जरासन

मर्जासन योग पीसीओडी से ग्रसित महिलाओं के लिए काफी फायदेमंद है। इस आसन को करने के लिए सबसे पहले मैट पर घुटनों के बल बैठ जाएं। इस दौरान अपनी एड़ियों को ऊपर की ओर रखें। अब आगे की ओर झुकते हुए अपनी हथेलियों को जमीन पर रखें। अब सिर को नीचे की ओर झुकाते हुए अपनी बॉडी को ऊपर री तरफ झुकाएं। इस आसन को लंबे समय तक करने से पीसीओडी की समस्या ठीक हो सकती है।

पीसीओडी के घरेलू उपाय (Home Remedies for PCOD)

पीसीओडी की समस्या होने पर पुदीने की चाय पिएं। पुदीने की चाय में एंटी-एंड्रोजन होता है, जो पीसीओडी में दिखने वाले लक्षणों को कम कर सकता है। पुदीने की चाय बनाने के लिए 1 कप पानी लें। इसमें पुदीने के 8 से 10 पत्तियां डालें। अब इस पानी को अच्छे से उबलने से इसके बाद इस कप में छान लें। अब आप इसे पी सकते हैं। स्वाद बढ़ाने के लिए आप इसमें शहद भी डाल सकते हैं।

इसे भी पढ़ें - झेन योग क्या है? जानिए इसके अंतर्गत आने वाले योगासनों को करने का तरीका और इनके फायदे

अलसी का बीज भी पीसीओडी से ग्रसित महिलाओं के लिए बेहतर माना जाता है। अलजी के बीजों को गर्म पानी में भिगोकर कुछ देर के लिए छोड़ दें। करीब 2 से 3 घंटे बाद अलसी और इसके पानी को पी जाएं। इससे पीसीओडी के लक्षणों को कम किया जा सकता है। 

Read More Articles on Yoga in Hindi

 
Disclaimer