लगातार आ रही है खांसी तो इस तरह भाप में पकाकर खाएं संतरा, एक्सपर्ट से जानें क्यों फायदेमंद है ये नुस्खा

लगातार आती खांसी को ठीक करने के लिए आप भी अपना सकते हैं ये पॉपुलर घरेलू नुस्खा। एक्सपर्ट से जानें क्यों फायदेमंद है भाप में पका संतरा।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Jan 15, 2020Updated at: Jan 14, 2021
लगातार आ रही है खांसी तो इस तरह भाप में पकाकर खाएं संतरा, एक्सपर्ट से जानें क्यों फायदेमंद है ये नुस्खा

खांसी एक ऐसी समस्या है, जो सर्दी के मौसम में बच्चों, बड़ों सभी को परेशान करती है। लगातार खांसी के कारण न सिर्फ गले में दर्द और छाती में चुभन जैसी समस्याएं होती हैं, बल्कि आपके रोजमर्रा के काम भी प्रभावित होते हैं। चूंकि लगातार खांसी कोविड का भी शुरुआती संकेत है, इसलिए कोरोना काल में लगातार आती खांसी को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। खांसी अगर ज्यादा आए या लंबे समय तक आए, तो व्यक्ति को उलझन और झुंझलाहट होने लगती है। ऐसे में अगर समस्या ज्यादा है, तो आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए और जांच करानी चाहिए। लेकिन अगर खांसी सामान्य है, तो इन्हें कुछ घरेलू उपायों से भी ठीक किया जा सकता है। खांसी ठीक करने के लिए दुनियाभर में एक पॉपुलर घरेलू नुस्खा है- भाप में पका संतरा और नमक। आज हम आपको खांसी के इसी घरेलू नुस्खे के बारे में बता रहे हैं।

खांसी में क्यों फायदेमंद है भाप में पका हुआ संतरा

लखनऊ के The Nutriwise Clinic की न्‍यूट्रि‍शन‍िस्‍ट नेहा सिन्‍हा कहती हैं कि संतरा विटामिन सी का बहुत अच्छा स्रोत है। लेकिन फल के साथ-साथ इसका छिलका कितना फायदेमंद है, इसके बारे में कम लोग जानते हैं। संतरे के छिलके में भी विटामिन सी की अच्छी मात्रा होती है। हालांकि विटामिन सी अधिक तापमान पर नष्ट हो जाता है लेकिन छिलके और फल दोनों में इसकी इतनी ज्यादा मात्रा होती है कि पकाने के बाद भी कुछ मात्रा में विटामिन सी रह जाता है। इसके अलावा संतरे के छिलके में जो रेशेदार जाली होती है, उसमें भी ढेर सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जैसे- र्यूटिन (rutin), हेस्पेरेडिन (hesperidin), डायोस्मेटिन (diosmetin), डायोस्मिन (diosmin) और क्वरसेटिन (quercetin) आदि। चूंकि खांसी आमतौर पर सामान्य इंफेक्शन्स के कारण होती है और इन इंफेक्शन्स का कारण इम्यून मैकेनिज्म का कमजोर होना होता है, इसलिए संतरा आपकी खांसी को ठीक करने में मददगार हो सकता है। विटामिन सी आपकी इम्यूनिटी बढ़ाता है और नमक में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। इसलिए भाप में पकाकर संतरा खाने से खांसी ठीक हो सकती है।

इसे भी पढ़ें: 5 खतरनाक बीमारियां, जिनकी शुरुआत होती है सामान्य खांसी से

steamed orange remedy for cough

भाप में इस तरह पकाएं संतरा

  • सबसे पहले एक कटोरी में थोड़ा पानी लें और इसमें 1 चम्मच नमक मिलाएं।
  • इस पानी में 20 मिनट के लिए एक संतरे को भिगोकर रख दें।
  • इसके बाद संतरे को निकालें और इसके ऊपर का हिस्सा 1/2 सेन्टीमीटर तक काट लें, लेकिन फेकें नहीं। ये संतरे के कैप की तरह काम करेगा।
  • अब संतरे के ऊपरी हिस्से (गूदे यानी पल्प वाले हिस्से में) में फॉर्क (कांटे) की मदद से कई छेद कर दें।
  • अब इस संतरे के ऊपरी हिस्से में जहां छेद किया है, वहां आधा चम्मच नमक डाल दें, जिससे नमक पिघलकर संतरे के अंदर आसानी से चला जाए।
  • अब संतरे के ऊपरी कटे हुए हिस्से को वापस इसके ऊपर रख दें।
  • इस संतरे को एक खाली बाउल में रखें।
  • इस बाउल को आप स्टीमर में रख सकते हैं या कुकर में पानी भरकर बीच में रख कर स्टीम कर सकते हैं।
  • 15-20 मिनट तक स्टीम में पकाए जाने के बाद इसे गर्म-गर्म ही खाएं।
  • अगर संतरा जूसी हो जाए, तो इसका रस निकाल कर पी लें और गूदे (पल्प) को खा लें।
home remedies for cough steamed oranges

संतरे के छिलके के अन्य फायदे

वैसे तो संतरे का छिलका आमतौर पर लोग नहीं खाते हैं और कच्चे छिलके का स्वाद कसैला होता है, इसलिए इसे खाया भी नहीं जा सकता है। लेकिन पकाने के बाद संतरे का छिलका खाया जा सकता है। संतरे के साथ-साथ इसके छिलके के सेवन से भी आपको भरपूर विटामिन सी मिल सकता है और ये फाइबर से भी भरपूर होता है। इसलिए इसका सेवन करने से आपका पेट स्वस्थ रहता है। नींबू की तरह संतरे को छिलके सहित आप कुछ खास डिशेज में स्वाद और सुगंध बढ़ाने के लिए भी प्रयोग कर सकते हैं। संतरे के छिलके में पेक्टिन नामक एंटीऑक्सीडेंट भी पाया जाता है, जो कोलेस्ट्रॉल को कम करता है।

इसके अलावा संतरे के छिलके को सुखाकर स्क्रब के तौर पर भी खूब इस्तेमाल किया जाता है। ये स्क्रब आपकी त्वचा के डेड स्किन सेल्स को निकालता है और त्वचा पर बेहतरीन ग्लो लाता है। इसलिए आप संतरे के छिलके का इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: रात में बढ़ जाती है खांसी तो परेशा न हों, अपनाएं ये 5 उपाय जल्द मिलेगी राहत

हालांकि यहां ध्यान देने की बात है कि खांसी एक प्रकार का संकेत है, जो जुकाम के अलावा किसी गंभीर बीमारी का भी संकेत हो सकता है। इसलिए अगर आपको लगातार 3 दिन से ज्यादा खांसी आए, तो डॉक्टर की सलाह लें और जांच कराएं।

Read More Articles on Home Remedies in Hindi

Disclaimer