आपकी मेंटल हेल्थ के लिए बहुत फायदेमंद है सोलो ट्रैवलिंग, कई स्किल्स में होता है सुधार

सोलो ट्रैवलिंग करने से आपकी सेहत और मेंटल हेल्थ पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है और आप स्ट्रेस फ्री का अनुभव करते हैं। 

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: Mar 26, 2022Updated at: Mar 26, 2022
आपकी मेंटल हेल्थ के लिए बहुत फायदेमंद है सोलो ट्रैवलिंग, कई स्किल्स में होता है सुधार

रोजमर्रा की जिंदगी में एक ही काम करते-करते आप बोर हो जाते हैं। फिर बोरियत और काम के प्रेशर आपके स्ट्रेस को बढ़ाने लगता है, जिससे आपको लगने लगता है कि आप अपने जीवन में कुछ अच्छा नहीं कर रहे हैं। अन्य लोगों की तरह आपके जीवन में कोई खुशी नहीं है। इसके अलावा आप अपने आपको कम आंकने लगते हैं। फिर धीरे-धीरे आप ऐसे विचार में फंसकर खुद को डिप्रेशन और तनाव जैसी बीमारियों की ओर ले जाते हैं लेकिन इस तरह की सोच से बाहर निकलने के लिए आपको कुछ समय खुद को ब्रेक देने की जरूरत होती है। इसके लिए आपको सोलो ट्रैवलिंग जरूर करना चाहिए ताकि आपको एक अलग नजरिया, कई दोस्त और नए एक्सपीरियंस मिलें। साथ ही आप अपने तनाव और स्ट्रेस को बाय कह सकें। इसके अलावा आप बहुत सारी यादें और नए सफर के फोटो भी ले सकते हैं। 

मेंटल हेल्थ के लिए सोलो ट्रैवलिंग के फायदे

1. जिंदगी को देखना का नया नजरिया

काम, पढ़ाई या किसी भी परेशानी में हम अपने आपको इतना परेशान कर लेते हैं कि हमें अपने जीवन की अच्छी चीजें और हमारे इर्द-गिर्द के अच्छे लोग हमें दिखाई नहीं देते हैं। लेकिन सोलो ट्रैवलिंग की मदद से आप एक दुनिया और लोगों को नए नजरिए से देखते हैं और कई खूबसूरत चीजों को अपने आसपास महसूस करते हैं। इससे आपको अपने रोजाना के दिनचर्या से कुछ दिनों की आजादी मिल सकती है और आप नयी ऊर्जा और सोच से भर सकते हैं। 

Solo-travelling

Image Credit- Freepik

2. स्वतंत्रता को बढ़ावा मिलता है

कई बार आप घर-परिवार के बीच स्वतंत्रता और अपने मन का काम नहीं कर पाते हैं लेकिन जब आप अकेले घूमने निकलते हैं, तो आप स्वतंत्रता का अनुभव करते हैं। आप यात्रा के दौरान अपने सारे निर्णय खुद लेते हैं। कई बार काम और पढ़ाई के कारण भी आप अपने ऊपर बोझ का अनुभव होता है। ऐसे में खुद के हिसाब से जीने के लिए और कुछ नयी आजादी के लिए आप अकेले घूमने निकल सकते हैं। इस दौरान आपका डर खत्म होता है। आपको खुद पर अधिक विश्वास होने लगता है। 

3. नए अनुभव और संस्कृतियों को जानना

घूमने के दौरान आप नए लोगों से मिलते हैं। नयी संस्कृति और वहां के त्योहारों के बारे में भी समझते हैं। यह आपको जीवन में नयी तरह से सोचने का मौका देता है और आप अपने कई तरह की उपलब्धियां और क्रिएटिविटी सीखने का अनुभव करते हैं। जब आप घूमाकर वापस आते हैं, तो आपके पास अपने परिवार और दोस्तों से बात करने के लिए बहुत कुछ होता है और आप एक निरस जिंदगी से निकलकर तरोताजा और खुशी का अनुभव करते हैं। साथ ही अळग-अलग संस्कृतियों से आपको बहुत कुछ सीखने का मौका भी मिलता है। 

इसे भी पढ़ें- जीवन में सफलता के लिए कितना जरूरी है आपका मानसिक रूप से स्वस्थ होना? एक्सपर्ट से समझें पूरी बात

4. तनाव का स्तर कम होता है

लंबे थकान भरे दिन से निकलकर दिन-रात अपनी मर्जी से चलने वाली यात्रा आपको उत्साहित करती है। यह आपके तनाव को कम करता है और आप ट्रैवल के दौरान नयी-नयी सोच और उम्मीदों के साथ आगे बढ़ते हैं। आपके अंदर कोई निराशा और किसी बात की फ्रिक नहीं होती है क्योंकि आप एक ऐसी यात्रा पर होते हैं, जहां आप बस अगले पल के बारे में सोचते हैं और उसे जीने की कोशिश करते हैं। इस दौरान आप बस समय से अपना नाश्ता, दोपहर का खाना और रात का डिनर लेना न भूलें ताकि सेहत भी अच्छी बनी रहे।

Solo-travelling

Image Credit- Freepik

5. लंबे समय तक मिलती है खुशी

कई बार आपने लोगों को देखा होगा कि वह कहीं से घूमकर आते हैं, तो कई दिनों तक उस ट्रिप या ट्रैवल के बारे में याद करके लोगों को बहुत बातें करते हैं और उनके चेहरे पर अलग तरह की खुशी होती है। साथ ही उन पलों को याद करके उनको एक नयी ऊर्जा का एहसास होता है। इस तरह आप बी बस नयी यादें बनाने के लिए निकाल पड़ें। ये यादें आपके लिए जीवनभर मूड बूस्टर का काम करती है। 

इन बातों का भी रखें ध्यान

1. आप अपनी पहचान से जुड़े सभी जरूरी पेपर की फोटोकॉपी और ऑरीजनल कॉपी अपने साथ जरूर रखें ताकि किसी तरह की परेशानी न हो। 

2. डेबिट या क्रेडिट कार्ड होने के बावजूद अपने पास कैश जरूर रखें। 

3. फोन को हमेशा चार्ज रखें और पावरबैंक को चार्ज करके रखें। 

4. छुट्टियां थोड़े अधिक दिन के लिए लें ताकि तुंरत आपको घर वापस जाने की जल्दी न हो। कम से कम आप 4-5 दिन उस जगह का मजा ले सकें। 

Main Image Credit- Freepik

Disclaimer