इस समस्या से ग्रसित लोगों को नहीं खाना चाहिए बैंगन! वरना हो सकते हैं ये नुकसान

बैंगन सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद है, लेकिन क्या आप जानते हैं अधिक बैंगन खाने से सेहत को नुकसान भी होते हैं। आइए जानते हैं क्या?

सम्‍पादकीय विभाग
स्वस्थ आहारWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Oct 30, 2020Updated at: Oct 30, 2020
इस समस्या से ग्रसित लोगों को नहीं खाना चाहिए बैंगन! वरना हो सकते हैं ये नुकसान
सब्जियों का राजा बैंगन बहुत से लोगों की फेवरेट सब्जी होती है। इसका भर्ता स्वाद में लाजवाव होता है, जो काफी लोग पसंद करते हैं। इसकी टेस्टी और चटपटी सब्जियां भी लोग बहुत ही चाव से खाते हैं। सर्दियों में इसकी पैदावर काफी ज्यादा होती है। ठंड में इसके सेवन से सेहत को भी कई लाभ होते हैं। इसमें कई ऐसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जो सर्दियों में होने वाली समस्याओं से हमें दूर रखते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि कुछ लोगों को बैंगन के सेवन से दूर रहना चाहिए? जी हां, अगर आपको नहीं पता, तो आज इस लेख से जान लीजिए। दरअसल, कुछ समस्याओं से ग्रसित लोगों को बैंगन का सेवन नहीं करना चाहिए, अगर वे बैंगन का सेवन करते हैं, तो इससे उनकी समस्याएं बढ़ सकती हैं। आइए जानते हैं किन लोगों को बैंगन से रहना चाहिए दूर-

बवासीर होने पर

अगर आपको बवासीर की शिकायत है, तो बैंगन से दूर रहें। खूनी बवासीर से ग्रसित लोगों के लिए बैंगन घातक साबित हो सकता है। अगर ऐसे लोग बैंगन का सेवन करते हैं, तो उनकी समस्या काफी ज्यादा बढ़ सकती है। 

किडनी में पथरी

बैंगन में ओक्जेलेट नामक तत्व पाया जाता है, जो किडनी में पथरी की समस्या को बढ़ा सकता है। ऐसे में जो लोग किडनी की पथरी से परेशान हैं, उन्हें बैंगन से दूर रहना चाहिए। इसके अलावा ओक्जेलेट की वजह से शरीर में कैल्शियम का सही तरीके से अवशोषण नहीं हो पाता है। इस वजह से हड्डी और दांतों में परेशानी बढ़ जाती है। 

गर्भवती महिला

बैंगन का अधिक सेवन गर्भवती महिलाओं के लिए घातक हो सकता है। खासतौर पर गर्भवती महिलाओं के लिए यह नुकसानदायक हो सकता है। गर्भवती महिलाओं को बैंगन का सेवन अधिक नहीं करना चाहिए। बैंगन की तासीर बहुत ही ज्यादा गर्म होती है। ऐसे में वे अगर अधिक बैंगन का सेवन करती हैं, तो गर्भपात होने की संभावना बढ़ जाती है।

एनीमिया की शिकायत

महिलाओं में खून की कमी आम बात है। ऐसे में अधिकतर महिलाएं एनीमिया से ग्रसित होती हैं। एनीमिया से ग्रसित महिलाओं को भी ज्यादा बैंगन नहीं खाना चाहिए। खासतौर पर पीरियड्स के समय। इसके कई कारण हो सकते हैं। बैंगन की तासीर गर्म होने के कारण ब्लीडिंग होने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है। इसके अलावा यह गर्भाशय को भी नुकसान पहुंचा सकता है।

डिप्रेशन की दवाओं के साथ

एंटी डिप्रेशन की दवा लेने वाले मरीजों को भी बैंगन का सेवन नहीं करना चाहिए। अगर वे अधिक बैंगन का सेवन करते हैं, तो इसमें मौजूद तत्व दवा से रिएक्शन करते हैं। ऐसे में मरीज पर दवा का असर काफी कम हो सकता है। 

फैट की समस्या

बैंगन में फैट की मात्रा काफी ज्यादा होती है। इसलिए कभी भी इसे अधिक तलकर ना खाएं। तलकर खाने से इसमें फैट की अधिकता और ज्यादा बढ़ सकती है। फैट आपके दिल और दिमाग को नुकसान पहुंचा सकता है। अगर आपके शरीर की चर्बी काफी ज्यादा बढ़ रही है, तो बैंगन से दूरी बना लें।

आंखों में जलन

आंखों में जलन या फिर किसी तरह की परेशानी होने पर बैंगन ना खाएं। बैंगन के सेवन से नेत्र के विकार काफी ज्यादा बढ़ जाते हैं। इसलिए अधिकतर डॉक्टर नेत्र विकार से पीड़ित मरीजों को बैंगन ना खाने की सलाह देते हैं। 

इस तरह ना करें बैंगन का सेवन

  • बैंगन को हमेशा उबालकर खाएं
  • कभी भी अधिक तला-भुना बैंगन ना खाएं।
  • बैंगन को अच्छी तरह से धोकर खाएं।
  • अगर भर्ता बना रहे हैं, तो काटकर चेक करें कि कहीं उसमें कीड़े तो नहीं।
Read More Article On Healthy Diet In Hindi

 

Disclaimer