बेबी को डायपर पहनाने से भी हो सकते हैं कई नुकसान, जानें क्या हैं डायपर के सुरक्षित विकल्प

बच्चों को डायपर पहनाने से उनकी स्किन को कई नुकसान हो सकते हैं। साथ ही यह पर्यावरण के लिए भी काफी हानिकारक हो सकता है। 

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: Mar 23, 2022Updated at: Mar 23, 2022
बेबी को डायपर पहनाने से भी हो सकते हैं कई नुकसान, जानें क्या हैं डायपर के सुरक्षित विकल्प

आज के समय में कई चीजें रेडिमेड हो गई है। ऐसे में छोटे बच्चों के लिए पेरेंट्स कपड़े वाले डायपर इस्तेमाल करने की जगह बाजार में मिलने वाला प्लास्टिक डायपर यूज करते हैं। दरअसल यह इस्तेमाल में आसान होता है और इसे साफ करने या फेंकना भी आपके लिए मुश्किल नहीं होता है लेकिन कई मामलों में यह आपके बच्चे के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। यह आपके बच्चे की स्किन को नुकसान पहुंचा सकता है और इसके कारण कई अन्य स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं भी हो सकती है। आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि अपनी मेहनत बचाने और आसान उपायों को ढूढ़ने के चक्कर में आप अपने बच्चे के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ न करें। साथ ही यह पर्यावरण के लिए भी काफी नुकसानदायक साबित हो सकता है। इसलिए आपको प्लास्टिक डायपर की जगह ऐसे विकल्पों की तलाश करनी चाहिए, जो आपके बच्चे के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक न हो। 

बच्चों को डायपर पहनाने के नुकसान (Side Effects of Diaper)

1. टॉक्सिटी का कारण बन सकता है

डायपर केमिकल्स और सिंथेटिक चीजों से बनाए जाते हैं। शिशु को अधिक समय तक डायपर पहनाएं रखने से उन्हें नुकसान हो सकता है। कई लोग एक दिन में आठ से दस डायपर का इस्तेमाल करते हैं। खासकर रात को बार-बार उठने और बिस्तर गीला होने से बचने के लिए आप बच्चे को रातभर डायपर पहनाकर रखते हैं। इन कारणों से बच्चे की स्किन लंबे समय तक केमिकल्स के संपर्क में रहती है और इससे बच्चे के शरीर पर नुकसान हो सकता है। इससे शरीर में टॉक्सिटी बढ़ सकती है। 

diaper-side-effects

Image Credit- Freepik

2. इंफेक्शन की संभावना

डायपर ऐसी चीजों से बने होते हैं, जो आपके बच्चे के मूत्र को अवशोषित करता है। साथ ही यह त्वचा में ऑक्सीजन के प्रवाह को भी कम कर देता है। जिससे बैक्टीरिया और अन्य कीटाणुओं के पनपने की संभावना रहती है। इससे बच्चे की स्किन को नुकसान हो सकता है और उनकी स्किन में इंफेक्शन हो सकता है। इससे बचने के लिए बच्चे का डायपर बार-बार बदलें। 

3. पर्यावरण को नुकसान

डायपर को बढ़ावा देना पर्यावरण के लिए भी हानिकारक हो सकता है। यह प्लास्टिक, सिंथेटिक फाइबर और अन्य रसायनों की मदद से बनाया जाता है और यह पर्यावरण में आसानी से नष्ट भी नहीं होता है। विघटित न होने के कारण यह खतरा पैदा कर सकता है। हालांकि कुछ कंपनियां इको-फ्रेंडली डायपर बनाने का दावा करती है। 

4. एलर्जी का कारण बन सकता है

शिशुओं की त्वचा बहुत कोमल और मुलायम होती है। डायपर में मौजूद हानिकारक सिंथेटिक फाइबर, डाई या अन्य कठोर रासायनिक उत्पादों की वजह से बच्चे की स्किन पर एलर्जी, रैशेज और खुजली की समस्या हो सकती है। कई बार तो बच्चे डायपर पहनाने के वक्त रोने लगते हैं क्योंकि यह उनके लिए आरामदायक नहीं होता है। ज्यादा देर तक डायपर पहनाने से यह बच्चे के चिड़चिड़ेपन और रोने का कारण हो सकता है। 

इसे भी पढ़ें- बच्चों को डाइपर पहनाने से पहले किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है? 

5. पॉटी ट्रेनिंग में परेशानी

कई बच्चे अधिकतर समय तक डायपर पहनने के कारण उन्हें पॉटी ट्रेनिंग में समस्या आ सकती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि शिशुओं को डायपर में पेशाब और शौच करने की आदत हो जाती है। ऐसे में उन्हें पॉटी ट्रेनिंग में परेशानी आ सकती है। 

diaper-side-effects

Image Credit- Freepik

डायपर की जगह इन चीजों का इस्तेमाल करें

1. आप प्लास्टिक डायपर की जगह कपड़े के डायपर का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे बच्चे की स्किन को नुकसान नहीं होता है। साथ ही वह इसके साथ सहज भी होते हैं। 

2. डायपर लाइन्स

आप बच्चे के लिए डायपर की जगह डायपर लाइन्स का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। इसे बच्चे को पहनाना सुविधाजनक होता है। इससे नष्ट करना भी काफी आसान होता है। 

3. इसके अलावा अगर आप अपने बच्चे को लेकर बाहर अधिक ट्रैवल करती है, तो आप ईको-फ्रेंडली डायपर का इस्तेमाल भी कर सकती है। 

4. इसके अलावा अगर आप डायपर का इस्तेमाल कर कर रही है, तो उसे बार-बार बदले और कोशिश करें कि डायपर अधिक गीला न हो, उससे पहले इसे बदल लें।

Main Image Credit- Freepik

Disclaimer