सिगरेट की तरह किसी दूसरे का शराब पीना आपके लिए हो सकता है जानलेवा, रहता है ये खतरा

अमेरिकी नेशनल सर्वे डाटा के एक विश्लेषण में दर्शाया गया कि करीब 21 फीसदी महिलाओं और 23 फीसदी पुरुषों को पिछले 12 महीने में किसी दूसरे व्यक्ति के शराब पीने के कारण नुकसान झेलना पड़ा है। 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Jul 04, 2019Updated at: Jul 04, 2019
सिगरेट की तरह किसी दूसरे का शराब पीना आपके लिए हो सकता है जानलेवा, रहता है ये खतरा

भारतीय मूल की एक शोधकर्ता द्वारा किए गए अध्ययन में चेतावनी दी गई है कि सेकंड हैंड स्मोकिंग की तरह समाज को शराब पीने के सेकंड हैंड प्रभावों से लड़ने की जरूरत है क्योंकि लाखों लोग दूसरे व्यक्ति के शराब पीने के कारण इसके हानिकारक प्रभावों से जूझ रहे हैं।

अमेरिकी नेशनल सर्वे डाटा के एक विश्लेषण में दर्शाया गया कि करीब 21 फीसदी महिलाओं और 23 फीसदी पुरुषों को पिछले 12 महीने में किसी दूसरे व्यक्ति के शराब पीने के कारण नुकसान झेलना पड़ा है। इस अध्ययन में अनुमानित 5.30 करोड़ लोगों को शामिल किया गया था।

अध्ययन के मुताबिक, ये नुकसान धमकी या उत्पीड़न, संपत्ति को नुकसान या फिर तोड़-फोड़ करना, शारीरिक रूप से चोट पहुंचाना, गाड़ी चलाते वक्त नुकसान या वित्तीय हानि से जुड़े हो सकते हैं। इसके अलावा पारिवारिक दिक्कतें भी हो सकती हैं।

कैलिफोर्निया के ऑकलैंड स्थित पब्लिक हेल्थ इंस्टीट्यूट की एल्कोहल रिसर्च ग्रुप की सदस्य मधाबिका बी. नायक द्वारा किए गए अध्ययन में सामने आया कि किसी दूसरे व्यक्ति के शराब पीने के कारण होने वाले सबसे आम नुकसान में धमकी या उत्पीड़न शामिल हैं। सर्वे में 16 फीसदी उत्तरदाताओं ने इस पर हामि भरी।

इसे भी पढ़ेंः दूसरों के सिगरेट पीने से भी हो सकती हैं सांस संबंधी बीमारियां , जीन में होता है परिवर्तनः स्टडी

विशिष्ट प्रकार के नुकसान लिंग के आधार पर अलग-अलग होते हैं। महिलाओं द्वारा अधिकतर वित्तिय और पारिवारिक समस्याएं दर्ज कराई जाती हैं जबकि पुरुषों द्वारा संपत्ति को नुकसान पहुंचाना, तोड़फोड़ करना, शारीरिक रूप से चोट पहुंचाना जैसी समस्याओं को दर्ज कराया जाता है।

जर्नल ऑफ स्टडीज ऑन एल्कोहल एंड ड्रग में प्रकाशित अध्ययन की लेखक ने कहा, '' पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को दूसरे व्यक्ति के शराब पीने से ज्यादा खतरा होता है चाहे शराब पीने वाला व्यक्ति उनके परिवार का हो या परिवार के बाहर का।''

इसके अलावा अतिरिक्त कारकों में उम्र और व्यक्ति का खुद शराब पीना शामिल है, जो कि बेहद महत्वपूर्ण थे। 25 वर्ष से कम आयु के लोगों को किसी और के शराब पीने से नुकसान पहुंचने का खतरा अधिक था। इसके अलावा, अध्ययन में शामिल लगभग आधे पुरुष और महिलाएं जो खुद ज्यादा शराब पीने वाले थे, उनका कहना है कि उन्हें भी किसी और के शराब पीने से नुकसान हुआ है।

इसे भी पढ़ेंः  मानसिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा है फेसबुक, डिप्रेशन और तनाव करता है कम

वे लोग जो शराब पीते हैं लेकिन ज्यादा नहीं उन्होंने बताया कि शराब से दूर रहने वाले लोगों की तुलना में उन्हें उत्पीड़न का खतरा, धमकी और गाड़ी चलाने संबंधी नुकसान दो से तीन गुना ज्यादा हुआ है।

नायक ने कहा,  ''शराब का मूल्य निर्धारण, शराब पर कर बढ़ाना , कम उपलब्धता, और विज्ञापन को प्रतिबंधित करने जैसी नियंत्रण नीतियां न केवल शराब की खपत को कम करने का सबसे प्रभावी तरीका हो सकता है बल्कि इसके शराब पीने वाले व्यक्ति द्वारा शराब के नुकसान को भी कम किया जा सकता है।''

Read more articles on Health News in Hindi

 
Disclaimer