क्या वजन घटाने में भी मददगार है सॉना बाथ या स्टीम बाथ? जानें इससे मिलने वाले फायदे

सॉना बाथ या स्टीम बाथ (गर्म पानी से नहाना) सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद हो सकता है। लेकिन क्या ये वजन घटाने में भी कारगर है?

Monika Agarwal
वज़न प्रबंधनWritten by: Monika AgarwalPublished at: May 03, 2022Updated at: May 03, 2022
क्या वजन घटाने में भी मददगार है सॉना बाथ या स्टीम बाथ? जानें इससे मिलने वाले फायदे

सॉना बाथ या स्टीम बाथ आज से नहीं सदियों से प्रचलित है  और अगर आप इससे मिलने वाले फायदों की बात करें तो इससे बहुत से फायदे मिल सकते हैं। सॉना बाथ न केवल आपके शरीर को डिटॉक्सिफाई करता है बल्कि बहुत सी बीमारियों की संभावना दूर भी करता है। आपको जान कर हैरानी हो सकती है कि सॉना या स्टीम बाथ से आप अपना वजन भी कम कर सकते हैं। यह एक ट्रेंड बन गया है जो काफी तेजी से बढ़ रहा है। पानी का तापमान 160 डिग्री फारेनहाइट (लगभग 71 सेल्सियस) से ऊपर होने से वजन कम होने में मदद मिल सकती है। एक्सपर्ट के अनुसार आपको सॉना बाथ से लगभग उतना ही फायदा मिलेगा जितना आपको मॉडरेट इंटेंसिटी वाले वर्क आउट से मिल सकता है। 

क्या सॉना बाथ वजन कम करने में सहायक है?

दुनियाभर में हुई कई रिसर्च और स्टडीज ये बताती हैं कि सॉना बाथ लेने से शरीर को कुछ फायदे मिल सकते हैं, जिनमें एक मेटाबॉलिज्म का बढ़ना भी है। मेटाबॉलिज्म बूस्ट होने और वॉटर वेट के घटने से व्यक्ति का वजन सामान्य की अपेक्षा ज्यादा कम हो सकता है। आइए जानते हैं सॉना बाथ से मिलने वाले अन्य फायदे

1. दिल का फंक्शन बढ़ता है

अधिक तापमान में नहाने के कारण आपका हार्ट रेट बढ़ जाता है। इससे आपका ब्लड सर्कुलेशन भी बढ़ता है और आपकी स्किन हेल्थ बेहतर बनती है। साथ ही आपको अच्छी नींद आने में मदद मिलती है और आपकी इम्यूनिटी बढ़ती है। यह ब्लड प्रेशर लेवल कम कर दिल की सेहत को भी बढ़िया बनाता है। अगर आप लो बीपी के मरीज हैं तो आपको इसे अवॉइड करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें- Steam Bath: स्टीम बाथ से शरीर को मिलते हैं ये 7 फायदे, लेकिन गलत तरीके से नहाने पर हो सकते हैं ये 5 नुकसान

2. वॉटर वेट कम होता है

सॉना बाथ से आपका लगभग 2-2.5  किलो वजन कम हो सकता है। अगर आप इस बाथ के साथ-साथ डाइटिंग और वर्क आउट करते हैं तो इतना वजन आप एक दिन में कम कर सकते हैं। शरीर के अंदर मौजूद अतिरिक्त पानी से आप पसीने के जरिए छुटकारा पा सकते हैं।

3. डिटॉक्सिफायर के रूप में काम करता है

नहाते समय गर्म पानी होने की वजह से आपको और ज्यादा पसीना आता है। जिस कारण आप टॉक्सिंस से राहत पाने में सफल हो सकते हैं। यह काफी हेल्दी होता है खास कर तब जब आप नियमित रूप से वर्क आउट नहीं करते। पसीने के जरिए से निकेल, मर्करी, कॉपर और जिंक जैसे हैवी मेटल्स से भी निजात मिल सकती है। इससे फैट बर्न होने की प्रक्रिया तेज हो जाती है।

sauna bath benefits in hindi

4. मांसपेशियों को करता है दुरुस्त

बहुत सारे एथलीट अपनी मसल्स की रिकवरी के लिए सॉना का सहारा लेते हैं। वर्क आउट से पहले अगर यह बाथ ले लिया जाए तो मसल्स अच्छे से फंक्शन करती हैं और इसके बाद मसल रिकवरी में भी मदद मिलती है।

5. स्ट्रेस कम करता है

सॉना एक सबसे अधिक आराम पहुंचाने वाली तकनीक है, जिसके कारण स्ट्रेस काफी कम हो सकता है। इससे शरीर में कोर्टिसोल लेवल भी कम होता है। जब आप नहाते हैं तो कॉर्टिसोल लेवल कम हो जाते है और साथ ही इंफ्लेमेशन और हानिकारक फ्री ऑक्सीजन लेवल की मात्रा भी कम हो सकती है।

इसे भी पढ़ें- गर्मियों में तरोताजा फील कराए ये 3 तरह के बाथ, स्किन की कोमलता भी रहेगी बरकरार

6. मेटाबॉलिक रेट बढ़ाता है

इससे स्ट्रेस कम होता है, इंफ्लेमेशन कम होता है और  टॉक्सिंस से छुटकारा मिलता है। जिस कारण आपका मेटाबॉलिज्म बढ़ सकता है। इससे आपको वजन कम करने में मदद मिलती है।

7. स्टैमिना बढ़ाता है

अगर आप वर्क आउट करते समय या फिर सीढ़ियां चढ़ते समय काफी जल्दी हांफने लगते हैं तो आपको अपना स्टैमिना बढ़ाने के लिए सौना का प्रयोग करना चाहिए। इससे आपकी सांस लेने की क्षमता बढ़ती है और रेस्पिरेटरी फंक्शन में भी सुधार मिलता है जिससे श्वसन सम्बन्धी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

अगर आप रोजाना सौना में नहाते हैं और साथ ही वर्क आउट करते हैं तो आप काफी वजन कम कर सकते हैं और डाइटिंग का भी थोड़ा ख्याल रखें और खाना पीना सीमित कर दें ताकि और अच्छे नतीजे मिल सकें।

Disclaimer