गर्मियों में कब्ज की समस्या क्यों बढ़ जाती है? जानें इसके कारण और उपाय

Constipation in Summer: कब्ज आजकल की एक सामान्य समस्या बन गई है। चलिए जानें गर्मी में कब्ज क्यों बनती है? 

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: May 12, 2022Updated at: May 12, 2022
गर्मियों में कब्ज की समस्या क्यों बढ़ जाती है? जानें इसके कारण और उपाय

आजकल अधिकतर लोग कब्ज की समस्या से परेशान रहते हैं। खराब जीवनशैली और गलत खान-पान की आदतें कब्ज के मुख्य कारण बनते हैं। कब्ज के दौरान मल त्याग में कठिनाई आती है। इस स्थिति में पेट में दर्द, पेट में मरोड़, गैस आदि भी महसूस होती है। इसके अलावा कब्ज बनने पर सख्त मल त्याग होता है। वैसे तो कब्ज की समस्या किसी को कभी भी हो सकती है, लेकिन गर्मी में पानी की कमी की वजह से अकसर लोगों को कब्ज परेशान करता है। कब्ज से बचाव के लिए शरीर को हाइड्रेट रखना जरूरी होता है, क्योंकि पानी मल को नरम बनाता है और मल त्याग की प्रक्रिया को आसान बनाता है। तो आज के इस लेख में विस्तार से जानते हैं गर्मी में कब्ज के कारण और उपाय-

गर्मी में कब्ज के कारण (COnstipation Causes in Summer)

किसी भी व्यक्ति को कब्ज तब बनती है, जब वह अनहेल्दी लाइफस्टाइल और डाइट फॉलो कर रहा होता है। कब्ज पेट से जुड़ी एक आम समस्या है, लेकिन अगर लंबे समय तक कब्ज रहता है तो इसकी वजह से व्यक्ति अनेकों गंभीर बीमारियों की चपेट में आ सकता है। जानें क्या है कब्ज के कारण-

1. डिहाइड्रेशन

गर्मी में धूप और अधिक पसीना निकलने की वजह से बॉडी डिहाइड्रेट हो जाती है। इस स्थिति में शरीर में पानी की कमी हो जाती है। यह गर्मियों में कब्ज बनने का एक मुख्य कारण होता है। दरअसल, पानी मल को नरम बनाता है, मल त्याग की प्रक्रिया को आसान बनाता है। लेकिन जब पानी की कमी होती है तो मल सख्त हो जाता है। इसकी वजह से मल त्याग करते हुए दर्द महसूस होता है। मल सख्त और कठोर निकलता है।

constipation

2. फाइबर की कमी

फाइबर एक ऐसा पोषक तत्व है, जो मल त्याग को आसान बनाने के लिए बहुत जरूरी होता है। शरीर में फाइबर की कमी होने पर खाना सही से डायजेस्ट नहीं हो पाता है, इस स्थिति में मल सख्त होने लगता है। फाइबर की कमी पूरे पाचन तंत्र को प्रभावित कर सकता है। फाइबर, भोजन को जल्दी पचाने में आंतों की मदद करता है। पाचन को बेहतर बनाए रखने के लिए प्रतिदिन लगभग 40 ग्राम फाइबर की जरूरत पड़ती है।

3. फिजिकली एक्टिव न रहना

शारीरिक रूप से सक्रिय न रहना और लंबे समय तक एक ही जगह पर बैठे रहना कब्ज के मुख्य कारणों में से एक है। गर्मियों में धूप, गर्मी की वजह से अकसर लोग घूमना पसंद नहीं करते और घर या ऑफिस में एसी की हवा में ही रहते हैं। कम फिजिकल एक्टिविटी की वजह से आंतों की गतिशीलता धीमी पड़ जाती है। इससे खाना अच्छे से डायजेस्ट नहीं हो पाता है, जो बाद में सख्त बन जाता है और कब्ज का कारण बनता है।

इसे भी पढ़ें - कब्ज होने पर डाइट में शामिल करें चिया के बीज, जानें सेवन का सही तरीका

4. तनाव में रहना

तनाव भी कब्ज का एक कारण हो सकता है। जब कोई व्यक्ति लंबे समय तक तनाव में रहता है, तो इसका असर उसके पाचन तंत्र पर भी पड़ता है। इसकी वजह से अकसर कई लोगों को कब्ज परेशान करता है। पाचन में सुधार करने के लिए खुद को हमेशा खुश रखें, नेगेटिविटी से बचें और तनाव मुक्त रहने की कोशिश करें।

5. अन्य बीमारियां

जो लोग किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहे हैं, उनमें कब्ज की समस्या अधिक देखने को मिल सकती है। चयापचय और अंत:स्त्रावी विकार जैसे हाइपोथायरायडिज्म, मधुमेह, या क्रोनिक किडनी रोग होने पर व्यक्ति कब्ज से परेशान रहता है। आंतों में रुकावट, आंत और मलाशय के संकुचित होने से भी कब्ज हो सकती है।

इसे भी पढ़ें - कब्ज होने पर दूध पीना चाहिए या नहीं? एक्सपर्ट से जानें इस बारे में

womendrink water

कब्ज से बचाव के उपाय (Constipation Prevention Tips)

  • शरीर को हाइड्रेट रखना जरूरी है। इसके लिए आप पानी खूब पिएं। अपनी डाइट में नारियल पानी, नींबू पानी, फलों का रस आदि शामिल करें।
  • शरीर में फाइबर की कमी को पूरा करने के लिए आप अपनी डाइट में अधिक मात्रा में फलों और सब्जियों को शामिल करें। सेब, नाशपाती, अमरूद आदि फाइबर से भरपूर होते हैं।
  • आपको फिजिकली एक्टिव रहना कई बीमारियों से दूर रख सकता है। इसके लिए आप सुबह जल्दी उठें, मॉर्निंग वॉक पर जाएं। इसके अलावा खाना खाने के बाद 15-20 मिनट टहलने की आदत जरूर बनाएं।
  • कब्ज से बचने के लिए तनाव मुक्त रहें। इसके लिए अपने फैमिली, फ्रेंड्स के साथ समय बिताएं। मी टाइम भी बहुत जरूरी है।

गर्मियों में खुद को हाइड्रेट जरूरी रखें, इससे आप कई तरह की समस्याओं से अपना बचाव कर सकते हैं। कब्ज बनने पर पहले अपनी जीवनशैली और डाइट में बदलाव करके देखिए, फिर भी कब्ज रहती है तो डॉक्टर से कंसल्ट जरूर करें।

Disclaimer