Phlegm: कफ (बलगम) होने के 9 कारण, लक्षण और बचाव

कफ की समस्या होने पर व्यक्ति को सांस लेने में दिक्कत, खांसी या खराश जैसे समस्या पैदा हो सकती है। ऐसे में जानते हैं लक्षण, कारण और बचाव

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jun 02, 2021
Phlegm: कफ (बलगम) होने के 9 कारण, लक्षण और बचाव

बलगम यानी कफ, यह गले का छाती में जमा चिपचिपा पदार्थ होता है जो म्यूकस मेंम्ब्रेन द्वारा उत्पन्न किया जाता है। यह फेफड़े नाक में, गले में, फेफड़ों में आदि में मौजूद होता है। ऐसे में जो लोग इस से आम सर्दी जुकाम समझ लेते हैं उन्हें बता दें कि इसके पीछे कई और भी कारण हो सकते हैं। इस समस्या के दौरान व्यक्ति के शरीर में खराश, खांसी, सांस लेने में तकलीफ आदि लक्षण नजर आते हैं। आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि कफ का क्या कारण  (causes of phlegm) है? साथ ही इसके लक्षण (symptoms of phlegm) और उपचार के बारे में भी जानेंगे। पढ़ते हैं आगे...

कफ के लक्षण (symptoms of phlegm)

  • गले में खराश हो जाना
  • सीने में जकड़न महसूस करना
  • सांस लेने में तकलीफ होना
  • सांस लेने के दौरान बलगम का आना
  • सांस छोड़ने के साथ बलगम निकलना
  • सांस के दौरान घबराहट महसूस करना
  • बलगम का रंग बदलना
  • सांसों से बदबू आना (ऐसा इसलिए क्योंकि बलगम के अंदर प्रोटीन मौजूद होता है जो बैक्टीरिया को जन्म देता है।)
  • नाक रोकने की समस्या महसूस करना।
  • कभी नाक में दर्द महसूस करना।

 इसे भी पढ़ें- सीने में बलगम या कफ जमा होने पर खाएं ये 7 फूड्स, जल्द दूर होगी समस्या

जब ये समस्या गंभीर हो जाती है तो व्यक्ति की छाती में दर्द, सांस फूलना, खांसी के साथ खून आना आदि समस्याएं देखने को मिलती हैं। इसके अलावा बलगम का रंग गाढ़ा, सफेद, पीला, हरा आदि दिखाई देने लगता है।

 कफ के कारण (causes of phlegm)

  • जब व्यक्ति को जुकाम या फ्लू हो जाता है तब शरीर में कफ बनने की समस्या पैदा हो सकती है। इस दौरान का ज्यादा गाढ़ा और हरे रंग का निकलता है। 
  • कुछ खाद्य पदार्थ ऐसे होते हैं जिन्हें खाकर व्यक्ति के शरीर में बलगम पैदा होती है जैसे- पनीर, दही आदि इनके अंदर ऐसा प्रोटीन पाया जाता है जो बलगम का स्राव बढ़ाता है और पाचन क्रिया में मुश्किलें पैदा करता है।
  • काली चाय, चीनी, कैफीन आदि के कारण शरीर में बलगम पैदा हो सकती है।
  • गर्भावस्था के दौरान अक्सर महिलाओं को गले में खराश, अत्यधिक बलगम, नाक में रुकावट आदि समस्या देखी जा सकती हैं।
  • जब बलगम नाक में जमती है तो वह खांसी के साथ बाहर निकलता है यह समस्या रात में ज्यादा देखी जाती है।
  • सर्दी के कारण शरीर में कफ बनना शुरू हो जाता है।
  • फेफड़ों की बीमारी होने पर भी शरीर से कफ बनना शुरू हो सकता है।
  • किसी चीज के सेवन के कारण भी शरीर में कफ बनना शुरू हो सकता है।
  • सांस संबंधित समस्या के कारण शरीर में कफ बनना शुरू हो सकता है।

इसे भी पढ़ें- शरीर में कफ क्यों बढ़ता है? जानें इसके कारण और कफ कम करने के घरेलू नुस्खे

कफ से बचाव (treatment of phlegm)

  • ठंडी चीजों का कम सेवन करना चाहिए।
  • धूम्रपान का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • शराब का अधिक सेवन करने से बचना चाहिए।
  • रात में दही नहीं खानी चाहिए।
  • ठंडी तासीर वाली चीजों का सीमित मात्रा में सेवन करना चाहिए।
  • उन खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए, जिनके कारण शरीर में खांसी की समस्या पैदा होती है।
  • बाहर से आने पर कभी भी ठंडा पानी नहीं पीना चाहिए।
  • भरपूर मात्रा में पानी पीना चाहिए।
  • संतुलित आहार का सेवन करना चाहिए।
  • अपने आसपास किसी भी प्रकार की गंदगी नहीं रखनी चाहिए।
  • प्रदूषण से बचने के लिए मास्क का उपयोग करें।
  • हर्बल चाय के माध्यम से समस्या को रोका जा सकता है।

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि शरीर में कप बनने के पीछे कुछ आम तो कुछ गंभीर कारण हो सकते हैं। ऐसे में सबसे पहले इन कारणों को समझना जरूरी है उसके बाद बचाव को जानें।

Read More Articles on other diseases in hindi

Disclaimer