क्या है पैनिक डिसऑर्डर (Panic Disorder)? जानें लक्षण और बचाव

पैनिक डिसऑर्डर की समस्या कभी आम तो कभी गंभीर रूप ले सकती है। ऐसे में इसके कारण, लक्षण और बचाव को जानना जरूरी है।

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jun 02, 2021
क्या है पैनिक डिसऑर्डर (Panic Disorder)? जानें लक्षण और बचाव

कुछ लोग बड़ी हिम्मत और समझदारी के साथ मुश्किल से मुश्किल हालातों का सामना करते हैं। वहीं कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो छोटी-छोटी मुश्किलों में घबरा जाते हैं। थोड़ी घबराहट लाजमी है लेकिन छोटी-छोटी परेशानी में भी बड़ी घबराहट पैनिक डिसऑर्डर का संकेत देती है। जी हां, जब व्यक्ति छोटी मुश्किलों में असामान्य प्रक्रिया देता है तो इसका मतलब ये होता है कि वे किसी मानसिक समस्या से ग्रस्त है। आज का हमारा ये लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि पैनिक डिसऑर्डर के लक्षण क्या है? साथ ही इसके लक्षण और उपचार के बारे में भी जानेंगे। इसके लिए हमने गेटवे ऑफ हीलिंग साइकोथेरेपिस्ट डॉ. चांदनी (Dr. Chandni Tugnait, M.D (A.M.) Psychotherapist, Lifestyle Coach & Healer) से भी बात की है। पढ़ते हैं आगे... 

 

पैनिक डिसऑर्डर के लक्षण (symptoms of panic disorder)

अगर व्यक्ति पैनिक डिसऑर्डर का शिकार हो जाता है तो उसमें निम्न लक्षण नजर आ सकते हैं-

1 - छोटे-छोटे मामलों पर अत्यधिक घबराहट महसूस करना

2 - पसीना आना

3 - हाथ पैर में कंपन महसूस करना।

4 - शरीर का तापमान बदलना

5 - दिल की दर का बढ़ना

6 - सुस्ती और थकान महसूस करना

7 - आंखों का लाल होना

8 - आंखों के आगे कभी कभी अंधेरा ना

 इसे भी पढ़ें- पैनिक डिसॉर्डर का इलाज आयुर्वेद में संभव, एक्सपर्ट से जानें कैसे

पैनिक डिसऑर्डर के कारण (causes of panic disorder)

पैनिक डिसऑर्डर के पीछे कई कारण जिम्मेदार होते हैं, जो निम्न प्रकार हैं

1 - जो व्यक्ति शक, गुस्सा, घबराहट आदि का  शिकारी हो जाता है वे इस मनोवैज्ञानिक समस्या से भी ग्रस्त हो सकता है।

2 - जो लोग अधिक मात्रा में कैफीन का सेवन करते हैं वे भी इस समस्या से ग्रस्त हो जाते हैं।

3 - जो अधिक मात्रा में शराब का सेवन करते हैं उन लोगों में इसके लक्षण नजर आते हैं।

4 - ब्लड शुगर लो हो जाने पर पैनिक डिसॉडर के लक्षण नजर आ सकते हैं।  

5 - थायराइड ग्लैंड की अत्यधिक सक्रियता के कारण यह समस्या हो सकती है।

6 - दिल की समस्या हो जाने पर ये समस्या हो सकती है।

 इसे भी पढ़ेंं- Panic Attack: बच्चों में पैनिक अटैक की स्थिति को रोकने के लिए अपनाएं ये 5 तरीके, तुरंत कम होगी घबराहट

पैनिक डिसऑर्डर का उपचार (treatment of panic disorder)

1 - सबसे पहले उन परिस्थितियों को समझें, जिसके कारण व्यक्तियों को यह परेशानी होती है और उन्हें सॉल्व करने की कोशिश करें।

2 - अपने आहार संतुलित और स्वस्थ बनाएं।

3 - अपने दोस्तों और प्रिय जनों से बातचीत करते रहें।

4 - कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद लें।

5 - अपनी दिनचर्या में योगासन को जोड़ें।

6 - मेडिटेशन से समस्या दूर की जा सकती है।

7 - अगर लक्षण गंभीर है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

डॉक्टर व्यक्ति को एंटीडिप्रेसेंट दवाई देते हैं। साथ ही काउंसलिंग और कॉग्निटिव बिहेवियर थेरेपी की मदद लेते हैं। इसके अलावा एक्स्पोज़र थेरेपी बेहद मददगार साबित होती है। इसके जरिए व्यक्ति को सुरक्षित वातावरण में उन स्थितियों का सामना करवाते हैं जिनसे वे घबरा जाते हैं। ये थेरेपी परिवार वालों को भी दी जाती है।

नोट - पैनिक डिसॉर्डर की समस्या आम समस्या है लेकिन ये आगे चलकर गंभीर रूप ले सकती है। ऐसे में इस समस्या को कुछ थेरेपी और खानपान में बदलाव के माध्यम से ठीक किया जा सकता है। लेकिन सबसे पहले लक्षण और कारणों को जानना जरूरी है।

ये लेख गेटवे ऑफ हीलिंग साइकोथेरेपिस्ट डॉ. चांदनी (Dr. Chandni Tugnait, M.D (A.M.) Psychotherapist, Lifestyle Coach & Healer) से बातचीत पर आधारित है।

Read More Articles on mind and body in hindi

Disclaimer