Natural Antibiotics: नैचुरल एंटीबायोटिक हैं किचन में रखी ये 5 चीजें, इंफेक्शन से दिलाएंगी छुटकारा

Natural Antibiotics For Infection: किचन में मौजूद कई चीजें एंटी-बायोटिक का काम करती हैं और इंफेक्शन से छुटकारा दिला सकती हैं।

Priya Mishra
Written by: Priya MishraUpdated at: Jan 12, 2023 15:41 IST
Natural Antibiotics: नैचुरल एंटीबायोटिक हैं किचन में रखी ये 5 चीजें, इंफेक्शन से दिलाएंगी छुटकारा

Natural Antibiotics For Infection In Hindi: किसी भी तरह के इंफेक्शन को दूर करने के लिए आमतौर पर एंटी-बायोटिक दवाओं के सेवन की सलाह दी जाती है। लकिन इन दवाओं के कई साइड-इफेक्ट्स भी होते हैं। एंटीबायोटिक्स के ज्यादा सेवन या गलत उपयोग के कारण ये दवाएं कई बैक्टीरिया के खिलाफ अपना असर करना बंद कर देती हैं। इतना ही, इन दवाओं का ज्यादा सेवन करने से शरीर अंदर से कमजोर हो जाता है। कई एंटीबायोटिक दवाओं के साइड इफेक्ट से लिवर और किडनी को भी नुकसान पहुंच सकता है। ऐसे में आप इन दवाओं के प्राकृतिक विकल्पों का सहारा ले सकते हैं। जी हां, हमारे किचन में इस्तेमाल होने वाली कई ऐसी चीजें हैं, जो नैचुरल एंटीबायोटिक की तरह काम करती हैं। इन चीजों को अपने डेली रूटीन में शामिल करके आप किसी भी प्रकार के इंफेक्शन से सुरक्षित रह सकते हैं। तो चलिए, जानते हैं ये नैचुरल एंटीबायोटिक कौन सी हैं -

ये नैचुरल एंटीबायोटिक फूड्स दिला सकते हैं इंफेक्शन से छुटकारा - Natural Antibiotics For Infection In Hindi 

शहद 

शहद को एक प्राकृतिक एंटीबायोटिक माना जाता है, क्योंकि इसमें एंटीबैक्‍टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण  मजूद होते हैं। शहद का इस्तेमाल घावों को जल्दी भरने और इंफेक्शन को ठीक करने के लिए घरेलू उपचार के रूप में किया जाता है। शहद का सेवन करने से इम्यूनिटी मजबूत होती है और कई बीमारियों से बचाव होता है। इसके लिए आप रोजाना पानी या दूध के साथ एक चम्मच शहद का सेवन कर सकते हैं।

हल्दी 

हल्दी को सबसे अच्छा नैचुरल एंटीबायोटिक माना जाता है। हल्दी कई औषधीय गुणों से भरपूर होती है। हल्दी में एंटीऑक्सिडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं, जो शरीर में फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से सुरक्षा प्रदान कर सकते हैं। हल्दी में मौजूद तत्व घावों को जल्दी भरने में मदद करते हैं और दर्द व सूजन से राहत दिलाते हैं। हल्दी का नियमित सेवन करने से इम्यूनिटी मजबूत होती है और कई बीमारियों से बचाव होता है। आप चाहें तो रोजाना दूध में हल्दी डालकर पी सकते हैं या अपने भोजन में कच्ची हल्दी डाल सकते हैं। ॉ

इसे भी पढ़ें: 5 नैचुरल एंटीवायरल हर्ब्स, जो सर्दियों में रखेंगी मौसमी बीमारियों से दूर

अदरक

अदरक भी एक प्राकृतिक एंटीबायोटिक है। अदरक में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। अदरक का सेवन पाचन संबंधी समस्याओं में रामबाण माना जाता है। सर्दी और फ्लू होने पर भी अदरक का सेवन बहुत लाभकारी होता है। अदरक की चाय या काढ़ा पीने से बैक्टीरियल इंफेक्‍शन को खत्म करने में मदद मिलती है। आप चाहें तो रोजाना अदरक के एक छोटे टुकड़े का सेवन कर सकते हैं।

Ginger-As-Antibiotic

लहसुन

लहसुन का सेवन करने से सेहत को कई तरीकों से लाभ पहुंचता है। लहसुन में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो बैक्टीरियल और फंगल इंफेक्शन से लड़ने में मदद करते हैं। लहसुन में मौजूद एलियम यौगिक कई तरह के हानिकारक बैक्टीरिया को खत्म करता है। रोजाना सुबह खाली पेट दो लहसुन की कली का सेवन करने से पाचन तंत्र दुरुस्त रहता है और सर्दी-खांसी से भी राहत मिलती है।

इसे भी पढ़ें: फंगल इंफेक्शन को ठीक करने के लिए अपनाएं ये 7 घरेलू उपाय

लौंग

लौंग एक प्रभावी एंटीबायोटिक के रूप में काम करती है। लौंग न सिर्फ इंफेक्शन से लड़ने में प्रभावी है, बल्कि सूजन और दर्द को भी कम करती है। प्राचीन काल से लौंग का इस्तेमाल दांत से जुड़ी समस्याओं को दूर करने के लिए किया जा रहा है। इसे नियमित सेवन ओरल इंफेक्शन, घाव और दर्द को दूर करने में काफी मदद मिलती है।

Disclaimer