Expert

हाथों-पैरों में झनझनाहट किस विटामिन कमी से होती है? जानें इसके स्रोत

Vitamin Deficiency Cause Tingling: हाथ-पैरों में झुनझुनी या झनझनाहट पोषक तत्वों की कमी के कारण भी हो सकती है, जानें कैसे करें विटामिन की कमी दूर।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Sep 05, 2022Updated at: Sep 05, 2022
हाथों-पैरों में झनझनाहट किस विटामिन कमी से होती है? जानें इसके स्रोत

What Vitamin Deficiency Cause Tingling: हाथ-पैरों में झुनझुनी या झनझनाहट होना बहुत आम समस्या है। बहुत देर हाथ-पैर एक ही पोजीशन में रहने या दबे रहने के बाद हम में से ज्यादातर लोग हाथ-पैरों में झनझनाहट महसूस करते हैं। आमतौर पर ऐसा नींद के दौरान हाथ-पैर दब जाने, या बहुत बार पालती मारकर बैठने पर होता है। क्योंकि इस दौरान हमारे हाथ-पैरों पर भार बढ़ जाता है, जिसके कारण हमारी नसें दब जाती है और ब्लड सर्कुलेशन रुक जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं, शरीर में पोषण की कमी के कारण भी हाथ-पैरों में झनझनाहट और सुन्न होने की समस्या होती है? जी हां, आपने बिल्कुल सही पढ़ा! क्लीनिकल न्यूट्रिशनिस्ट और डायटीशियन गरिमा गोयल की मानें तो शरीर कुछ जरूरी पोषक तत्वों की कमी के कारण भी हाथ-पैर सुन्न और उनमें झनझनाहट हो सकती है।

ओनलीमायहेल्थ इस महीने "Focus Of The Month- Poshan Maah" के अंतर्गत अपने कैंपेन "कुपोषण कैसे मिटाएं" में कुपोषण को मात देने के लिए आपके साथ पोषण से जुड़ी जरूरी जानकारी साझा कर रहा है। आइए डायटीशियन गरिमा से जानते हैं नसों में दर्द किस विटामिन की कमी के कारण हाथ-पैरों में झनझनाहट होती है (hath pero me jhanjhanahat kyu hoti hai) और इसकी कमी दूर करने के लिए क्या खाएं।

What Vitamin Deficiency Causes Tingling In Hands And Feet

किस विटामिन की कमी से हाथ-पैरों में झनझनाहट होती है-  What Vitamin Deficiency Causes Tingling In Hands And Feet

डायटीशियन गरिमा के अनुसार शरीर में कुछ विटामिन की कमी से नसों को नुकसान पहुंचता है। साथ ही स्थाई नर्व डैमेज का कारण भी बन सकता है। नसों को स्वस्थ रखने में कुछ विटामिन्स बहुत अहम भूमिका निभाते हैं और नसों को डैमेज होने से बचाते हैं। जब नसों को नुकसान पहुंचता है, तो इससे उनमें ब्लड सर्कुलेशन प्रभावित होता है और खून जमने लगता है, जिससे नसों में ब्लॉकेज की समस्या भी होती है।  नर्व डैमेज और हाथ-पैरों में झनझनाहट के लिए जिम्मेदार कुछ विटामिन्स यहां नीचे दिए गए हैं.....

  • बी विटामिन: विटामिन बी1, बी6, बी12, विटामिन बी9 या फोलेट
  • विटामिन ई और एंटीऑक्सीडेंट

हाथ-पैर में झुनझुनी क्यों होती है- Tingling In Hands And Feet Causes

  • डायटीशियन गरिमा के मानें आपके आहार में उपरोक्त विटामिन पर्याप्त मात्रा में न होने और उनका अवशोषण ठीक न होने के कारण हाथ-पैरों में झुनझुनी होती है। जब आपके शरीर में विटामिन बी-12 कमी हो जाती है तो इससे हाथ-पैरों में पिन और सुइयां चुभने के जैसा अनुभव होता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि ये विटामिन नर्वस सिस्टम को हेल्दी रखने में अहम भूमिका निभाता है और नर्व फंक्शन को बेहतर बनाता है।
  • विटामिन बी -12 नसों को एक सुरक्षात्मक आवरण या परत प्रदान करता है, जिससे नसों को नुकसान से बचाने में मदद मिलती है। नसों की समस्या हाथ-पैरों में अधिक होती है, जिन्हें जिन्हें पेरिफेरल नर्व कहते हैं।  जब ये डैमेज होती है तो झुनझुनी की समस्या होती है। विटामिन बी1, बी6, बी9 और विटामिन ई जैसे एंटीऑक्सीडेंट्स भी नसों को स्वस्थ रखने में अहम भूमिका निभाते हैं।

विटामिन बी और ई की कमी दूर करने के लिए क्या खाएं?

डायटीशियन गरिमा के अनुसार शरीर में पोषण या जरूरी विटामिन की कमी हमारा खराब खानपान और जीवनशैली है। आप संतुलित और पोषक तत्वों से भरपूर आहार को दैनिक रूटीन का हिस्सा बनाकर, शरीर में पोषण की कमी को आसानी से दूर कर सकते हैं। यहां नीचे कुछ फूड्स दिए गए हैं, जिन्हें आप अपनी डाइट का हिस्सा बना सकते हैं:

  1. विटामिन बी1 की कमी को पूरा करने के लिए आप साबुत अनाज, बीन्स, दाल, नट्स और मांस आदि का सेवन कर सकते हैं।
  2. विटामिन बी 6 की कमी दूर करने के लिए आलू, नट्स, अनाज, मछली, चिकन आदि का हिस्सा बना सकते हैं, लेकिन खट्टी फल और चीजों के सेवन से बचें।
  3. विटामिन बी 9 के लिए आपको हरी पत्तेदार सब्जियों, सूरजमुखी के बीज, राजमा, बीन्स, साबुत अनाज और समुद्री भोजन का सेवन करना चाहिए।
  4. विटामिन बी12 डेयरी प्रोडक्ट्स जैसे दूध, दही, पनीर, छाछ आदि में प्रचुर मात्रा में होता है। इसके अलावा हरी-पत्तेदार सब्जियां, चिकन और मछली आदि भी इसका अच्छा स्रोत हैं।
  5. विटामिन ई की कमी नट्स, ड्राई फ्रूट्स और बीजों में अच्छी मात्रा में होता है। साथ ही हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें और खाना पकाने के लिए वेजिटेबल ऑयल प्रयोग करें।

यह भी ध्यान रखें

आमतौर पर हाथ-पैरों में झुनझुनी की समस्या कुछ मिनटों के बाद ठीक हो जाती है, लेकिन अगर यह लंबे समय तक बनी रहती है और आप अक्सर इसका सामना करते हैं, तो आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। डॉक्टर की सलाह के बिना कोई उपाय करने से बचें।

All Image Source: Freepik.com

(With Inputs: Dietitian Garima Goyal, MS, RD, CDE, Founder- Dt. Garima Diet Clinic , Ludhiana, Punjab)

Disclaimer