इनमें आहार फाइबर की एक महत्वपूर्ण मात्रा और कार्बनिक यौगिकों की एक विस्तृत श्रृंखला भी शामिल है, जिसमें फाइटोन्यूट्रिएंट्स, ज़ेक्सैंथिन, रेस्वेराट्रोल, एन्थोकायनिन, ल्यूटिन और विभिन्न पॉलीफेनोलिक यौगिक शामिल हैं। इसके कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ हैं। 

"/>

शहतूत खाने से दूर होती है खून की कमी, हृदय रोगों और डायबिटीज में भी है फायदेमंद

इनमें आहार फाइबर की एक महत्वपूर्ण मात्रा और कार्बनिक यौगिकों की एक विस्तृत श्रृंखला भी शामिल है, जिसमें फाइटोन्यूट्रिएंट्स, ज़ेक्सैंथिन, रेस्वेराट्रोल, एन्थोकायनिन, ल्यूटिन और विभिन्न पॉलीफेनोलिक यौगिक शामिल हैं।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Apr 18, 2019Updated at: Apr 18, 2019
शहतूत खाने से दूर होती है खून की कमी, हृदय रोगों और डायबिटीज में भी है फायदेमंद

शहतूत मीठे फल होते हैं। यह जामुन की तरह दिखते हैं। शहतूत के फल साल में दो बार मार्च से मई तक और फिर अक्टूबर से नवंबर के बीच फलते हैं। भारत में आमतौर पर उगने वाली किस्म को मोरस इंडिका कहा जाता है और आप ज्यादातर इन्हें देश के दक्षिणी क्षेत्र की गर्म जलवायु में पाए जाते हैं। शहतूत ऐसे पोषक तत्वों से भरा होता है जो हमारे शरीर के लिए महत्वपूर्ण होते हैं, जिनमें आयरन, राइबोफ्लेविन, विटामिन सी, विटामिन के, पोटैशियम, फॉस्फोरस और कैल्शियम शामिल हैं।

इनमें आहार फाइबर की एक महत्वपूर्ण मात्रा और कार्बनिक यौगिकों की एक विस्तृत श्रृंखला भी शामिल है, जिसमें फाइटोन्यूट्रिएंट्स, ज़ेक्सैंथिन, रेस्वेराट्रोल, एन्थोकायनिन, ल्यूटिन और विभिन्न पॉलीफेनोलिक यौगिक शामिल हैं। इसके कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ हैं। 

 

डाइजेशन सुधारे 

अधिकांश फलों और सब्जियों की तरह, शहतूत में डाइटरी फाइबर होता है, जो आपकी दैनिक आवश्यकताओं का लगभग 10% है। फाइबर हमारी आंतों से मल की सफाई करता है और पाचन में सुधार करता है। कब्ज, सूजन और ऐंठन की घटनाओं को भी कम करता है। इसके अलावा, फाइबर कोलेस्ट्रॉल के स्तर को विनियमित करने में मदद करता है और नियमित रूप से आहार में शामिल होने पर हृदय स्वास्थ्य में सुधार कर सकता है। 

ब्‍लड सर्कुलेशन को सही करता है 

शहतूत में मौजूद उच्च लौह तत्व लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ाता है जो शरीर को महत्वपूर्ण ऊतकों और अंग प्रणालियों को ऑक्सीजन के अपने वितरण को बढ़ाने में मदद करता है, इसलिए मेटाबॉलिज्‍म को बढ़ावा देने और उन प्रणालियों की कार्यक्षमता का अनुकूलन करने में मदद करता है।  

रोगों से लड़ने की शक्ति प्रदान करता है

शहतूत में मौजूद विटामिन सी किसी भी संक्रमण के खिलाफ एक महान हथियार है क्योंकि यह आपको भीतर से मजबूत बनाता है। चूंकि यह शरीर में संग्रहीत या उत्पादित नहीं है, इसलिए आपको इसे अपना आहार बनाने की आवश्यकता है। शहतूत के सेवन से शरीर को आवश्‍यकतानुसार विटामिन सी की जरूरत पूरी होती है। 

हृदय रोगों से बचाए 

शहतूत का सेवन आपके दिल के लिए फायदेमंद है। यह तंत्रिका तंत्र को मजबूत करता है और खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करता है जिससे रक्त के प्रवाह में रुकावट को रोका जा सकता है। तो, यह दिल के दौरे और स्ट्रोक के जोखिम को कम कर सकता है।

ब्‍लड शुगर को कंट्रोल करता है 

सफेद शहतूत, विशेष रूप से शरीर के रक्‍त शर्करा के स्तर पर नियंत्रित रखते हैं। सफेद शहतूत में मौजूद कुछ रसायन टाइप 2 डायबिटीज के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवा के समान हैं। 

इसे भी पढ़ें: गुर्दे की बीमारियों में रोजाना खाएं ये 5 फूड, जल्‍दी मिलेगा रोग से छुटकारा

खून की कमी दूर करे 

आयरन से भरपूर एनीमिया के इलाज के लिए शहतूत बहुत अच्छा है। यह थकान और चक्कर आना जैसे एनीमिया के लक्षणों को भी ठीक करते हैं।

Read More Articles On Healthy Diet In Hindi

Disclaimer